मनोज एनकाउंटर केस: कहीं वसूली का रैकेट तो नहीं था?

By: | Last Updated: Tuesday, 19 May 2015 2:18 PM
manoj_encounter_case

नई दिल्ली: मनोज वशिष्ठ एनकाउंटर मामले मे आज मनोज के परिवार ने दिल्ली के पुलिस कमिश्नर से मुलाकात की. परिवार ने कल पोस्टमार्टम के बाद शव को लेने से मना कर दिया था. परिवार ने कुछ मांगे रखी थी.

 

मनोज के भाई अनिल, और उनकी पत्नी प्रियंका और उनके दोनो बच्चों ने पुलिस कमिश्नर बीएस बस्सी से मुलाकात की. दिल्ली पुलिस के पीआरओ राजन भगत का कहना है कि दिल्ली पुलिस ने परिवार की बातों को गौर से सुना और मांगो पर विचार किया.

 

मनोज के इंकाउंटर के वक्त जो भी अफसर घटनास्थल पर मौजूद थे उन सभी का ट्रासफर किया जाएगा ताकि जांच पर असर ना पड़े और निष्पक्ष जांच हो सके. साथ ही परिवार का आरोप है कि 29 अप्रैल को  स्पेशल सेल के अफसरों नें मनोज से 60 हजार रुपए की उगाही की थी. उसकी भी  विजिलेंस प्रोब की जाएगी और मनोज की पत्नी प्रियंका वशिष्ठ  और उनके बच्चों को सुरक्षा दी जाएगी.

 

मनोज के भाई अनिल का कहना है कि पुलिस कमिश्नर ने उनका साथ देने के लिए भरोसा दिलाया है और पूरी मदद करने का विश्वास दिया है. इसलिए वो अब अंतिम संस्कार करने के लिए तैयार हैं लेकिन जो भी मांग नहीं मानी गई तो वो फिर से प्रोटेस्ट करेंगें.

 

यह भी पढ़ें:-

मनोज एनकाउंटर केस: कहीं वसूली का रैकेट तो नहीं था?

मनोज एनकाउंटर: आरोपी पुलिसवालों का तबादला, विजिलेंस जांच के आदेश

एनकाउनटर का सच क्या है?

मनोज वशिष्ठ एनकाउंटर केस: परिवार का दावा- राजनाथ ने किया एसआईटी जांच का वादा

दिल्ली में एनकाउंटर या मर्डर? पत्नी का आरोप, ‘मनोज को पकड़कर गोली मारी गई’

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: manoj_encounter_case
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017