मंगल के आंकड़े दिलचस्प, इसपर और काम करने की आवश्यकता: इसरो

By: | Last Updated: Tuesday, 6 October 2015 2:45 AM
Mars data interesting, more work needed on it: ISRO

चेन्नई: मार्स ऑर्बिटर मिशन (एमओएम) ने दिलचस्प आंकड़ा तैयार किया है लेकिन पुष्टि के उद्देश्य से इन सूचनाओं पर और काम करने की आवश्यकता है. यह बात इसरो के एक शीर्ष अधिकारी ने कही.

 

इसरो अध्यक्ष ए एस किरण कुमार ने कहा, ‘‘हमें मार्स ऑर्बिटर मिशन :एमओएम: से दिलचस्प आंकड़े मिले हैं लेकिन इसका और विश्लेषण करने की आवश्यकता है. इसकी शोध के द्वारा पुष्टि किए जाने की आवश्यकता है.’’

 

यह पूछे जाने पर कि क्या एमओएम के आंकड़ों से कुछ वाकई उत्साहजनक मिलने की उम्मीद की जा सकती है तो उन्होंने कहा, ‘‘सिर्फ आंकड़े हमें वो बता सकते हैं.’’

 

उन्होंने कहा, ‘‘आंकड़ों को शोध उत्पाद में तब्दील करने के लिए काफी अतिरिक्त कार्य करने की आवश्यकता है.’’

 

उन्होंने कहा, ‘‘मिसाल के तौर पर, जो भी (आंकड़ा) हाल में नासा से आया. 2011 में उन्होंने अपना पहला पर्चा लिखा लेकिन उनकी पुष्टि अब हुई है.’’

 

इसरो ने भारत के वैज्ञानिक समुदाय के लिए एमओएम के आंकड़ों का इस्तेमाल करने के लिए ‘अवसर की घोषणा (एओ)’ को 10 अक्तूबर तक बढ़ा दिया है.

 

एओ एमओएम के पांच पेलोड, मार्स कलर कैमरा (एमसीसी), थर्मल इन्फ्रा रेड इमेजिंग स्पेक्टोमीटर (टीआईएस), मीथेन सेंसर फॉर मार्स (एमएसएम), लिमन अल्फा फोटोमीटर (एलएपी) और मार्स एक्सोफेरिक न्यूट्रल कंपोजिशन एनालाइजर (एमईएनसीए) के आंकड़ों का इस्तेमाल करने के लिए है.

 

मंगल पर पानी की मौजूदगी की संभावना के बारे में कुमार ने कहा, ‘‘पानी के संबंध में हमारे उपकरणों में मार्स स्पेक्ट्रोमीटर के अलावा किसी और में उतनी गुंजाइश नहीं है जो वहां है.’’

 

उन्होंने कहा, ‘‘हम न्यूनतम तकरीबन 300 किलोमीटर की उंचाई पर उड़ रहे हैं जो अब भी काफी दूर है. अभियान के अंत में हम उपग्रह को मंगल की सतह या उसके बेहद करीब ले जाएंगे. हम कुछ अलग पा सकते हैं अन्यथा जिस तरह के उपकरणों का इस्तेमाल कर रहे हैं वो अमेरिकियों ने जो कदम उठाए हैं उसकी तुलना में अन्वेषण के लिए काफी शुरूआती कदम है.’’

 

एमओएम की कक्षा में मौजूदगी के एक साल पूरा होने का जश्न मनाते हुए इसरो ने हाल में एक मार्स एटलस जारी किया. एमओएम को पांच नवंबर 2013 को श्रीहरिकोटा (आंध्र प्रदेश) से प्रक्षेपित किया गया था.

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: Mars data interesting, more work needed on it: ISRO
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
और जाने: isro Mars
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017