आतंकी गतिविधियों के आरोप में म्यांमार से खदेड़े गए रोहिंग्या मुसलमानों के समर्थन में आतंकी मसूद अजहर

आतंकी गतिविधियों के आरोप में म्यांमार से खदेड़े गए रोहिंग्या मुसलमानों के समर्थन में आतंकी मसूद अजहर

मसूद का कहना है कि अब बर्मा का मामला है तो हममें से हर शख्स अपने को मुसलमान समझकर ये सोचे कि अब इसमें क्या करना है. बर्मा की जमीन इस्लामिक लड़ाकों के बूटों की धमक के लिए बेताब है.

By: | Updated: 19 Sep 2017 06:29 PM

file photo

नई दिल्ली: रोहिंग्या मुस्लिमों को लेकर आंतकी मसूद अजहर ने म्यांमार को धमकी दी है. मसूद अजहर दुनिया भर के मुसलमानों को रोहिंग्या मुसलमानों के समर्थन के लिए अपील कर रहा है.


मसूद का कहना है, "अब बर्मा का मामला है तो हममें से हर शख्स अपने को मुसलमान समझकर ये सोचे कि अब इसमें क्या करना है. बर्मा की जमीन इस्लामिक लड़ाकों के बूटों की धमक के लिए बेताब है.''


विराथु की लादेन से तुलना पर भी भड़का मसूद
म्यांमार में आशिन विराथू रोहिंग्या मुस्लिमों के खिलाफ चल रही मुहिम का चेहरा है, आशिन को बर्मा का बिन लादेन कहा जाता है. आशिन की लादेन से इस तुलना से भी मसूद अजहर भड़का हुआ है. उसका कहना है कि बिन लादेन एक शेर था जो मजबूरों की मदद करता था. जबकि विराथू घर में बैठकर भौंक रहा है. बिन लादेन एक निडर और बहादुर योद्धा था जो दुनिया को उसके चेहरे पर ललकारता था और जो कहता था करके दिखाता था. जबकि विराथू गरीब और निहत्थे नागरिकों पर अत्याचार कर रहा है.


पाकिस्तान में बैठा मसूद अजहर जैश ए मोहम्मद का मुखिया है. हिंदुस्तान में इसने कई आतंकी वारदातों को अंजाम दिया है, अब ये रोहिंग्या मुस्लिमों के नाम पर म्यांमार को दहलाने की साजिश रच रहा है.


आंग सांन सू की ने तोड़ी चुप्पी
रोहिंग्या मुसलमानों को लेकर आज पहली बार म्यांमार की प्रशासक आंग सांन सू की ने चुप्पी तोड़ी. सू की ने कहा, ''म्यांमार दुनिया के आकलन से नहीं डरता और हम एक स्थाई समाधान के लिए प्रतिबद्ध हैं. जिससे म्यांमार में रहने वाले सभी लोगों के लिए शांति, स्थिरता और विकास की दौड़ में हम आगे बढ़ सके.''


रोहिंग्या मुसलमानों से जुड़ी जरूरी जानकारी
रोहिंग्या मुस्लिमों की आबादी करीब 11 लाख है. 4 लाख से ज्यादा रोहिंग्या बांग्लादेश पलायन कर चुके हैं. 40 हजार रोहिंग्या मुस्लिमों ने भारत में शरण ली है. यूएन की रिपोर्ट के मुताबिक हिंसा में 1 हजार से ज्यादा लोग मारे गए हैं.

फटाफट ख़बरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर और डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App
Web Title:
Read all latest India News headlines in Hindi. Also don’t miss today’s Hindi News.

First Published:
Next Story मनमोहन के वार पर सरकार का पलटवार, राष्ट्रीय नीति के उल्लंघन के लिए माफी मांगे