यूपी निकाय चुनाव: ईवीएम मशीनों पर मायावती और अखिलेश यादव ने उठाए गंभीर सवाल । mayawati and akhilesh yadav questions on evm machines

यूपी निकाय चुनाव: ईवीएम मशीनों पर मायावती और अखिलेश यादव ने उठाए गंभीर सवाल

बसपा प्रमुख मायावती के अलावा सपा सुप्रीमो अखिलेश यादव ने भी ईवीएम पर सवाल उठाए हैं. ये पहला मौका नहीं है जब ईवीएम पर सवाल उठाए गए हों.

By: | Updated: 02 Dec 2017 03:07 PM
mayawati and akhilesh yadav questions on evm machines

नई दिल्ली: निकाय चुनावों में बीजेपी की जीत हुई है और इसके बाद ईवीएम मशीनें एक बार फिर विपक्ष के निशाने पर आ गई हैं. बसपा प्रमुख मायावती के अलावा सपा सुप्रीमो अखिलेश यादव ने भी ईवीएम पर सवाल उठाए हैं. ये पहला मौका नहीं है जब ईवीएम पर सवाल उठाए गए हों. इससे पहले भी ईवीएम मशीनों को हैक किए जाने और ईवीएम टेम्परिंग के आरोप लग चुके हैं.


maya


मायावती ने पत्रकारों से बात करते हुए कहा कि अगर बीजेपी ईमानदार है और लोकतंत्र में भरोसा रखती है तो बैलेट पेपर के जरिए चुनाव कराए. आम चुनाव 2019 में हैं. अगर बीजेपी को विश्वास है कि जनता उसके साथ है तो फिर डर क्या है. मेरी गारंटी है कि अगर बैलेट पेपर से चुनाव होगा तो बीजेपी सत्ता में नहीं लौटेगी.


akhilesh


सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने कहा,"बीजेपी कहती है कि 16 सीटों में से 14 पर वो जीत गई, 2 बसपा जीत गई और कांग्रेस-सपा गायब हो गए. हम कहते हैं कि बीजेपी द्वारा जीते गए जिन इलाकों में ईवीएम से वोट पड़े हैं वहां उसे 46 प्रतिशत वोट मिले हैं और जहां बैलेट पेपर से वोट पड़े हैं वहां 15 प्रतिशत वोट मिले हैं।"


सपा नेता आजम खान ने कहा कि अगर टेम्परिंग नहीं की है तो सेटिंग की गई है. जहां ईवीएम इस्तेमाल हुए वहां भाजपा जीती लेकिन जहां बैलेट पेपर इस्तेमाल हुए वहां जीत समाजवादी पार्टी की हुई है.


दूसरी ओर उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री ने जीत का पूरा श्रेय अपने कार्यकर्ताओं को देते हुए कहा कि पार्टी की नीतियों को जनता तक पहुंचाने के लिए सभी कार्यकर्ताओं का आभार. सभी मतदाताओं का भी आभार.

फटाफट ख़बरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर और डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App
Web Title: mayawati and akhilesh yadav questions on evm machines
Read all latest India News headlines in Hindi. Also don’t miss today’s Hindi News.

First Published:
Next Story संसद शीतकालीन सत्र: केंद्र सरकार ने 14 दिसंबर को बुलाई सर्वदलीय बैठक