मायावती ने की कांशीराम को भारत रत्न देने की मांग

By: | Last Updated: Saturday, 3 January 2015 7:17 AM

नई दिल्ली: बीएसपी अध्यक्ष मायावती ने आज प्रेस कॉन्फ्रेंस करके कांशीराम को भारत रत्न  से सम्मानित करने की मांग की है. मायावती ने केंद्र की बीजेपी सरकार पर जातिवादी पार्टी होने का आरोप लगाया है.

 

मायावती ने आज लखनऊ में प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा, ‘बीजेपी की सरकार ने भी दलितों के साथ पक्षपात वाला रवैया अपनाया है. बीजेपी सरकार ने एक ही जाति के दो लोगों को भारत रत्न से सम्मानित कर दिया है. दलित से संबंधित किसी को यह सम्मान नहीं दिया है. भीम राव अंबेडकर के मान-सम्मान के बाद कांशीराम की तपस्या को ध्यान में रखकर उन्हें इस सम्मान से सम्मानित करना चाहिए था.’

 

पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी और पंडित मदन मोहन मालवीय को मिले देश के सर्वोच्च नागरिक सम्मान ‘भारत रत्न’ पर मायावती ने सवाल खड़े किए. मायावती ने कहा, “जिन दो लोगों को भारत रत्न दिया गया है वह सरकार की जातिवादी मानसिकता की सोच को दर्शाती है. अच्छा होता कि यह पुरस्कार दलित महापुरुषों को भी दिया जाता, जिन्होंने समाज के लिए अच्छा काम किया है.”

 

मायावती ने इस दौरान बसपा के संस्थापक कांशीराम और ज्योतिबा फुले का नाम लेते हुए कहा कि भारत रत्न देने में भी केंद्र सरकार ने पक्षपात पूर्ण रवैया अपनाया है.

 

उन्होंने कहा, “कई दलित महापुरुष भी इस पुरस्कार के हकदार हैं और उन्हें भी यह सम्मान दिया जाना चाहिए.”

 

मायावती ने कहा, “केंद्र की मोदी सरकार को बने हुए सात महीने हो गए हैं, लेकिन सरकार की कार्यशैली से नहीं लगता कि देश में किसी तरह का बदलाव आ रहा है. चुनाव में भाजपा ने वादा किया था कि विदेशों में जमा कालाधन देश में आएगा तो प्रत्येक व्यक्ति को 15 से 20 लाख रुपये मिल जाएंगे, लेकिन यह सब छलावा था.”

 

मायावती ने कहा कि डीजल और पेट्रोल की कीमतों में जो कमी हो रही है, वह मोदी सरकार की मेहरबानी नहीं है. उन्होंने कहा कि अंतर्राष्ट्रीय बाजार में इन उत्पादों की कीमत कम हुई है, इसलिए यहां भी दामों में कमी हुई है.

 

महंगाई के मुद्दे पर मायावती ने कहा कि महंगाई कागजों में तो कम होती दिखाई दे रही है, लेकिन इसका लाभ आम जनता को जमीनी स्तर पर मिलता दिखाई नहीं दे रहा है.

 

मायावती ने यह भी कहा कि सभी सरकारों की तरह बीजेपी के राज में भी देश की सीमाएं सुरक्षित नहीं है. केंद्र सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि किसी आयोग का नाम बदलने से देश की तकदीर नहीं बदलेगी. मायावती ने कहा कि देश में बदलाव तभी आएगा, जब सरकार गरीबों और बेरोजगारों के लिए जमीनी स्तर पर अच्छी योजनाओं को मूर्त रूप देगी और दुर्भाग्य से ऐसा होता दिखाई नहीं दे रहा है.

 

यह भी पढ़ें-

‘भारत रत्न’ अटल बिहारी वाजपेयी के बारे में 10 बड़ी बातें

जानें, ‘भारत रत्न’ महामना मदन मोहन मालवीय के बारे में 10 बड़ी बातें  

पूर्व पीएम अटल बिहारी वाजपेयी और मदन मोहन मालवीय को जन्म दिन पर भारत रत्न का तोहफा 

भारत रत्न: मालवीय, वाजपेयी को बॉलीवुड ने सराहा 

मालवीय को भारत रत्न देना एक ग़लती है: गुहा 

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: Mayawati demands Bharat Ratna Award for Kanshiram
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017