1800 करोड़ बचे हैं, पर केजरीवाल सरकार नहीं दे रही है सफाई कर्मचारियों के वेतन

By: | Last Updated: Tuesday, 31 March 2015 5:58 AM
mcd_employes_salary

नई दिल्ली: दिल्ली में एमसीडी के हजारों कर्मचारी वेतन नहीं मिलने के कारण आंदोलन कर रहे हैं. तीन जोन के सफाई कर्मचारियों ने विरोध जताऩे के लिए दिल्ली की सड़कों पर कूड़ा फैला रखा है. इस मामले में राष्ट्रीय जनजाति आयोग ने एमसीडी के तीनों चेयरमैन और दिल्ली के मुख्य सचिव से जवाब तलब किया है. अगर वेतन नहीं दिया गया तो एफआईआर दर्ज की जाएगी.

 

केंद्र से 600 करोड़ मिलने थे लेकिन पैसे नहीं मिले इसलिए वेतन नहीं दे सकते. दैनिक जागरण की रिपोर्ट के मुताबिक सरकार के पास 1800 करोड़ रुपये बचे हुए हैं. आज तक ये रकम खर्च नहीं कर पाई सरकार. सरकार चाहती तो एमसीडी कर्मचारियों को वेतन दे सकती थी.

 

लेकिन डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया का कहना है कि सरकार 4500 करोड़ के घाटे में है.

 

दिल्ली में एमसीडी के 12  जोन हैं जिसमें नॉर्थ और ईस्ट जोन के कुछ कर्मचारियों की तनख्वाह या तो आधी मिली है या पूरी लेकिन ये लोग भी हड़ताल पर हैं क्योंकि इनके साथी कर्मचारियों को तनख्वाह नहीं मिली है.

MCD कर्मचारियों को वेतन क्यों नहीं? 

नार्थ एमएसडी का बजट- 4427.87 करोड़ का बजट, सैलेरी का हिस्सा- 2100 करोड़ सालाना

साऊथ एमसीडी का बज- – 3770 करोड, 2040 करोड़ सैलेरी का हिस्सा  सालाना

ईस्ट का बजट-2265 करोड़, 1200 करोड़  सैलेरी का हिस्सा सालाना

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: mcd_employes_salary
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017