मीडिया से झड़प के मुद्दे पर कांग्रेस ने वड्रा का बचाव किया

By: | Last Updated: Sunday, 2 November 2014 3:25 PM

नई दिल्ली: कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी के दामाद रॉबर्ट वड्रा ने अपने भूमि सौदों के बारे में एक संवाददाता के सवालों को लेकर हुई नोंकझोंक को लेकर आज खुद को विवादों में घिरा पाया और कांग्रेस जहां उनके बचाव में उतर आई वहीं भाजपा ने ‘अनुचित बर्ताव’ को लेकर उन पर प्रहार किया.

अतीत में वड्रा को निजी नागरिक बताने वाली कांग्रेस ने उनका बचाव करते हुए कहा कि बार..बार किसी व्यक्ति के पीछे पड़ना उचित नहीं है और मीडिया को सलाह दी कि निजी समारोहों में सवालों की अप्रिय तरीके से बौछार करने से बचा जाना चाहिए, जैसा कि वड्रा के साथ किया गया.

 

कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सिंह सुरजेवाला ने कहा, ‘‘भारतीय संविधान और हमारे स्थापित लोकाचार सभी लोगों को निजता का अधिकार, व्यक्तिगत स्वतंत्रता और आजादी देते हैं और ऐसा तब और भी ज्यादा होता है जब कोई व्यक्ति ना तो सार्वजनिक जीवन में है और ना ही किसी सार्वजनिक पद पर है.’’ उन्होंने कहा, ‘‘यह स्पष्ट है कि पूरा प्रकरण स्पष्ट कारणों के लिए राजनीतिक एजंेडे के रूप में चलाया जा रहा है जिसे निष्पक्ष या उचित नहीं माना जा सकता है.’’

 

सुरजेवाला ने कहा कि ऐसे किसी मुद्दे पर बार बार किसी व्यक्ति के पीछे पड़ना उचित नहीं है जिस मुद्दे को चुनाव आयोग जैसे संवैधानिक निकाय ने और उच्च न्यायालयों तथा अंतत: उच्चतम न्यायालय ने भी निर्णायक रूप से खारिज कर दिया है.

 

 कांग्रेस द्वारा जारी बयान में प्रवक्ता ने कहा, ‘‘मैं भाजपा के नेताओं और मीडिया के दोस्तों को याद दिलाना चाहता हूं कि मौजूदा प्रधानमंत्री (और तत्कालीन मुख्यमंत्री) नरेंद्र मोदी ने किस तरह जानेमाने पत्रकार करण थापर के साथ पहले से तय इंटरव्यू को छोड़ दिया था और माइक हटा दिया था जिन्होंने उनसे गुजरात दंगों के बारे में सवाल पूछ लिये थे.’’

 

वाड्रा कल एक पांच सितारा होटल की जिम में हरियाणा में अपने विवादास्पद जमीन सौदों के बारे में पूछे गये एक संवाददाता के सवाल पर नाराज हो गये और खबरों के मुताबिक उन्होंने संवाददाता के माइक को गिरा दिया था.

 

भाजपा प्रवक्ता संबित पात्रा ने कहा कि यह वड्रा की हताशा है जिसकी परिणति अनुचित बर्ताव में हुई.

 

पात्रा ने कहा, ‘‘वड्रा उनमें से हैं जिन्होंने भारत को राजनीतिक रूप से एक अस्थिर देश और हम भारतीयों को ‘मैंगो पीपुल’ कहा था लेकिन वक्त आ गया है कि हम उन्हें महसूस कराएं कि भारत एक अस्थिर देश नहीं रहा, जिसपर कांग्रेस के प्रथम परिवार का शासन था.’’

 

कांग्रेस द्वारा वड्रा का बचाव किए जाने को हास्यास्पद करार देते हुए भाजपा नेता शाहनवाज हुसैन ने कहा कि वह कोई ‘निजी नागरिक’ नहीं हैं. दरअसल, कांग्रेस महासचिव दिग्विजय सिंह उन्हें बचाने के लिए इस शब्द का इस्तेमाल किया करते हैं और उन्होंने बगैर महत्व वाली घटना पर बहुत ध्यान दिए जाने को लेकर मीडिया की भर्त्सना की.

 

हुसैन ने कहा, ‘‘वड्रा कोई निजी नागरिक नहीं हैं. यदि वह कोई निजी व्यक्ति होते तो उन्हें हरियाणा में विशेषाधिकार नहीं मिला होता, न ही हवाईअड्डों पर उन्हें विशेषाधिकार मिलता.’’ सिंह ने ट्वीट किया, ‘‘एक निजी नागरिक का अनावश्यक रूप से क्यों पीछा किया जा रहा है.’’

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: media-robert-vadra
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
और जाने: ABP Congress media Robert Vadra Sonia Gandhi
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017