साहित्य में भारतीयता की अवधारणा विषय पर संगोष्ठी

By: | Last Updated: Tuesday, 12 January 2016 10:26 PM
meet on hindi Literature

नई दिल्ली. प्रगति मैदान में आयोजित विश्व पुस्तक मेला के अवसर पर राष्ट्रीय पुस्तक न्यास (NBT) के सौजन्य से ‘साहित्य में भारतीयता की अवधारणा विषय पर संगोष्ठी का आयोजन किया गया. संगोष्ठी में सूर्यास्त्र द्वारा प्रकाशित शाहज़ाद फ़िरदौस के शोध उपन्यास ‘व्यास’ के हिंदी संस्करण का लोकार्पण भी किया गया.

कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुए केन्द्रिय विश्वविद्यालय हिमाचल प्रदेश के कुलपति कुलदीप चंद अग्निहोत्री ने कहा कि भारतीयता अंदर से निकलती है ओर हमें एहसास कराती है कि हम खुद को कितना भी बदल ले, बेशक नागरिकता बदल लें , दूसरे देश में चले जाये किन्तु जब भारत मे कुछ हो उससे हमारा भी सरोकार रहे, यह भारतीयता है. इस बात को साहित्य में समावेश करना चाहिये. उन्होंने इस बात को अपने एक मित्र का संदर्भ भी बताया और यह बताने की कोशिश की कि भारतीय कहीं भी रहें लेकिन उनके चेतन में जो समाहित हो चुका है उसे उनके अंतरमन से हटाया नहीं जा सकता है. आज साहित्य मे भी इस बात की जरुरत है कि भारतीयता के भाव को साहित्य रचते समय उसमे समाहित किया जाय. बिना भारतीयता का समावेश किये कोई भारतीय साहित्य कैसे लिखा जा सकता है?

मुख्य वक्ता के रूप में बोलते हुए वरिष्ठ साहित्यकार व दिल्ली विश्वविधालय के रिटायर्ड प्राफेसर डॉ सुंदर लाल कथूरिया ने कहा कि मुख्य वक्ता के रूप में संगोष्ठी को सम्बोधित करते हुए वरिष्ठ साहित्यकार व दिल्ली विश्वविधालय के रिटायर्ड प्राफेसर डॉ सुंदर लाल कथूरिया ने कहा कि पहले भारतीय दर्शन में लोगों की आकांक्षा धर्म, अर्थ काम और मोक्ष की होती थी. अंतत: लोग मोक्ष को प्राप्त करना चाहते थे, परन्तु समाज तब कर्म प्रधान होता था . परन्तु आज समाज जो है अर्थ और काम के पीछे भाग रहा है और धर्म, कर्म और मोक्ष कहीं पीछे छूट रहा है. वर्तमान के जो साहित्यकार हैं वो भारतीय दर्शन में जाति-पाती व नारी विमर्श के नाम पर दुष्प्रचार करते हैं जबकि सच्चाई ये है कि भारतीय दर्शन में ज्ञान सर्वोपरि रहा और कबीर, जायसी, रसखान, रहीम आदि कवि इसी समाज में प्रतिष्ठित हुए. मनुस्मृति में भी नारी सम्मान की बात सर्वाधिक है.
कार्यक्रम में वक्ता के तौर पर बोलते हुए दूरदर्शन में अतिरिक्त महानिदेशक रंजन मुखर्जी ने कहा कि भारतीय प्रतीकों को व्यवहारिकता में लाने की जरुरत है, जैसे रामायण एवं महाभारत आदि महाकाव्यों की कथाओं व चरित्रों को सार्वजनिक स्थलों में प्रतीक रूप में प्रदर्शित करने की जरुरत है जिससे नई पीढ़ी अपने इतिहास से जुड़ सके. मुखर्जी ने लोकार्पित उपन्यास ‘व्यास’ पर बोलते हुए कहा कि शाहज़ाद फ़िरदौस जो कि ‘व्यास’ नामक कृति के लेखक है उन्होने एक असाधारण काम किया है. इन्होंने महाभारत के रचयिता और वेद संकलनकर्ता के जीवन को बारह साल की कड़ी मेहनत करके एक शोध उपन्यास का रूप दिया है. आज समाज को ऐसे फ़िरदौस की जरुरत है जो हमारे भारतीय प्रतीकों एवं महापुरुषों को नई पीढ़ी से रूबरू करा सके. आज भारतीय साहित्य में भारतीयता पर और अधिक शोध करने की आवश्यकता है. अगर हम अपने धार्मिक ग्रन्थों को शोध विषय के रूप में रखेंगे तो न सिर्फ देश की तरक्की होगी बल्कि भारतीयता भी सामने आयेगी.

कार्यक्रम में वक्ता के रूप में बोलते हुए सुप्रसिद्ध आलोचक अनंत विजय ने कहा कि शुरू से ही हिन्दी साहित्य को दोयम दर्जे का माना गया है. इसे खत्म करने का प्रयास 1921 में ही शुरू हो गया था जब इसकी भारतीय साहित्य की तुलना बौद्ध दर्शन से करके इसे कम आंकने का प्रयास किया गया. निराला जी का कार्यक्रम था और उनकी कृतियां जिनके लिये वो जाने जाते थे वह प्रकाश में नही आयी.

कार्यक्रम में वक्ता के रूप में बोलते हुए सुप्रसिद्ध आलोचक अनंत विजय ने कहा कि शुरू से ही हिन्दी साहित्य को दोयम दर्जे का माना गया है. इसे खत्म करने का प्रयास 1921 में ही शुरू हो गया था जब इसकी भारतीय साहित्य की तुलना बौद्ध दर्शन से करके इसे कम आंकने का प्रयास किया गया.

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: meet on hindi Literature
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Related Stories

बाढ़ का कहर: बिहार में 98 तो असम में अबतक 133 लोगों की मौत, यूपी के 15 जिले भी चपेट में
बाढ़ का कहर: बिहार में 98 तो असम में अबतक 133 लोगों की मौत, यूपी के 15 जिले भी चपेट...

नई दिल्ली: बिहार, असम और पश्चिम बंगाल में बाढ़ ने जनजीवन पर बुरी तरह असर डाला है. बिहार में बाढ़...

यूपी के 7000 से ज्यादा किसानों को मिला कर्जमाफी का प्रमाणपत्र
यूपी के 7000 से ज्यादा किसानों को मिला कर्जमाफी का प्रमाणपत्र

लखनऊ: उत्तर प्रदेश में गुरुवार को 7574 किसानों को कर्जमाफी का प्रमाणपत्र दिया गया. इसके बाद 5...

सेना की ताकत बढ़ाएंगे छह अपाचे लड़ाकू हेलीकॉप्टर, सरकार ने दी खरीदने की मंजूरी
सेना की ताकत बढ़ाएंगे छह अपाचे लड़ाकू हेलीकॉप्टर, सरकार ने दी खरीदने की...

नई दिल्ली: रक्षा मंत्रालय ने गुरुवार को एक बड़ा फैसला लिया. मंत्रालय ने भारतीय सेना के लिए...

क्या है अमेरिकी राजदूत के हिंदू धर्म परिवर्तन कराने का वायरल सच?
क्या है अमेरिकी राजदूत के हिंदू धर्म परिवर्तन कराने का वायरल सच?

नई दिल्लीः सोशल मीडिया पर पिछले कुछ दिनों से एक विदेशी महिला की चर्चा चल रही है.  वायरल वीडियों...

भागलपुर घोटाला: सीएम नीतीश कुमार ने दिए CBI जांच के आदेश
भागलपुर घोटाला: सीएम नीतीश कुमार ने दिए CBI जांच के आदेश

पटना/भागलपुर: बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने भागलपुर जिला में सरकारी खाते से पैसे की अवैध...

हिजबुल मुजाहिदीन को विदेशी आतंकी संगठन करार देना अमेरिका का नाजायज कदम: पाकिस्तान
हिजबुल मुजाहिदीन को विदेशी आतंकी संगठन करार देना अमेरिका का नाजायज कदम:...

इस्लामाबाद: आतंकी सैयद सलाहुद्दीन को इंटरनेशनल आतंकी घोषित करने के बाद अमेरिका ने कश्मीर में...

डोकलाम के बाद उत्तराखंड के बाराहोती बॉर्डर पर चीन की अकड़, चरवाहों के टेंट फाड़े
डोकलाम के बाद उत्तराखंड के बाराहोती बॉर्डर पर चीन की अकड़, चरवाहों के टेंट...

नई दिल्ली: डोकलाम विवाद पर भारत और चीन के बीच तनातनी जगजाहिर है. इस बीच उत्तराखंड के बाराहोती...

एबीपी न्यूज पर दिनभर की बड़ी खबरें
एबीपी न्यूज पर दिनभर की बड़ी खबरें

1. बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने मिशन 2019 की तैयारियां शुरू कर दी हैं और आज इसको लेकर...

20 महीने पहले ही 2019 के लिए अमित शाह ने रचा 'चक्रव्यूह', 360+ सीटें जीतने का लक्ष्य
20 महीने पहले ही 2019 के लिए अमित शाह ने रचा 'चक्रव्यूह', 360+ सीटें जीतने का लक्ष्य

नई दिल्ली: मिशन-2019 को लेकर बीजेपी में अभी से बैठकों का दौर शुरू हो गया है. बीजेपी के राष्ट्रीय...

अगर लाउडस्पीकर पर बैन लगना है तो सभी धार्मिक जगहों पर लगे: सीएम योगी
अगर लाउडस्पीकर पर बैन लगना है तो सभी धार्मिक जगहों पर लगे: सीएम योगी

लखनऊ: कांवड़ यात्रा के दौरान संगीत के शोर को लेकर हुई शिकायतों पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ...

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017