उसूल और कुर्सी में किसी एक को चुनना हो तो उसूल चुनूंगी: महबूबा मुफ्ती

mehbooba mufti reaction on government formation

जम्मू कश्मीर: जम्मू कश्मीर में सरकार बनाने को लेकर सस्पेंस गहरा रहा है. पीडीपी अध्यक्ष मेहबूबा मुफ़्ती ने शुक्रवार को अपनी पार्टी के वरिष्ठ नेताओं को यह साफ़ किया कि अगर उन्हें पार्टी के उसूलो या कुर्सी में से कोई एक चुनना पड़े तो वो उसूल ही चुनेगी.

इस बयान से जम्मू कश्मीर में सरकार बनाने को लेकर लग रही अटकलों पर फिलहाल विराम लगा गया. पिछले तीन दिनों से जम्मू में लगतार अपने पार्टी कार्यकर्ताओं और नेताओं से मुलाकात कर रहीं मेहबूबा मुफ़्ती आज अपने भाई तस्सदुक मुफ़्ती के साथ पहली बार यहां अपने पार्टी मुख्यालय पहुंची.

पार्टी कार्यकर्ताओं को सम्बोधित करते हुए मेहबूबा मुफ़्ती ने यह साफ़ किया कि उनके दिवंगत पिता और पूर्व मुख्यमंत्री मुफ़्ती मोहम्मद सईद के आदर्श, उसूल और राजनीतिक दृष्टि के साथ साथ पीडीपी और पीडीपी कार्यकर्ता उनकी विरासत है.

महबूबा ने कहा, “मेरे पिता के 55 साल के राजनीतिक जीवन में उन्होंने अधिकांश समय विपक्ष में गुज़ारा और वो हमेशा से ही विपक्ष को ज़रूरी समझते थे. मेरे पिता ने विपक्ष में रहकर जितना नाम कमाया और राजनीतिक ऊंचाइयां को छुआ उतना शायद ही कोई नेता विपक्ष में रहकर कर सकता है”

अपने पिता के देहांत को एक बड़ा नुक्सान बताते हुए मेहबूबा ने कहा, ”उनकी मौत के बाद अब यह समय उनकी परीक्षा का है. जम्मू कश्मीर में सरकार बनने के लिए हमें कुछ आश्वाशन चाहिये और सरकार हमेशा साख पे बनती है.”

बीजेपी और पीडीपी के बीच किसी पैसे (पैकेज) की लड़ाई को लेकर उठ रही खबरों पर विराम लगते हुए हुए उन्होंने कहा “पैसे का चक्कर नहीं है, यह सही नहीं है. पैसा कब आया और कितना आया यह भी मामला नहीं है. जम्मू कश्मीर में एक माहोल बनाने की के लिए और आगे बढ़ने के लिए कुछ आश्वाशनों की ज़रुरत है”.

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: mehbooba mufti reaction on government formation
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017