गिरफ्तारी से पहले मेहदी ने कहा- पुलिस मुझे मारने की कोशिश कर सकती है

By: | Last Updated: Saturday, 13 December 2014 6:48 AM
Mehdi says, ‘Police might try to kill me’

नई दिल्ली: ISIS का ट्विटर हैंडल चलाने और इस आतंकवादी संगठन के लिए
ऑनलाइन भर्ती कराने के आरोपी मेहदी मसरूर बिस्वास को आज सुबह बेंगलुरू से पुलिस ने गिरफ्तार किया है. गिरफ्तारी से पहले मेहदी ने ब्रिटेन के चैनल 4 को इंटरव्यू दिया है. यह वही चैनल है जिसने मेहदी पर ISIS का ट्विटर हैंडल (@shamiwitness) चलाने और इस संस्था के लिए ऑनलाइन भर्ती कराने का आरोप लगाया है.

 

इंटरव्यू में मेहदी मसरूर बिस्वास ने कहा है-

 

  • मुझे डर है कि पुलिस जब गिरफ्तार करने आएगी तो वो मुझे मारने की कोशिश कर सकती है.
     

  • पुलिस ऐसा करते वक्त कहेगी कि मैंने उस पर हमला करने की कोशिश की.
     

  • मैं साफ करना चाहता हूं कि मैं गिरफ्तारी से डरता नहीं हूं. मेरे पास कोई हथियार नहीं है.
     

  • मैंने कुछ भी गलत काम नहीं किया. मैंने किसी को नुकसान नहीं पहुंचाया है. मैंने देश का कोई कानून नहीं तोड़ा है.
     

  • मैंने देश के खिलाफ युद्ध या हिंसा जैसी कोई गतिविधी नहीं की है. मैंने भारत के सहयोगी देशों के खिलाफ भी कोई अपराध नहीं किया है.
     

  • मुझे ISIS के बारे में उतनी ही जानकारी है जो पब्लिक ट्विट्स के जरिए दूसरे लोगों को हासिल हैं.
     

  • मुझे लग रहा है ये सब क्षणिक तौर पर हो रहा है. घंटे दो घंटे में सब साफ हो जाएगा. 
     

  • पहली बार कोई ऐसा मुसलमान है जो अंग्रेजी में दक्ष है और अपनी बात अंग्रेजी में लोगों तक पहुंचा रहा है, इससे इस्लाम के दुश्मन पस्त हैं. इसलिए मुझ पर यह आरोप लगा है.

 

आपको बात दें कि यह चैनल 4 को दिया गया मेहदी का दूसरा इंटरव्यू है. इससे पहले दिए गए इंटरव्यू में मेहदी ने कहा था कि वह आईएसआईएस से सहानुभूति रखता है. पहले इंटरव्यू में मेंहदी का कहना है कि वो खुद ISIS में शामिल हो जाता पर उसका परिवार उस पर निर्भर है और इस वजह से वो ऐसा नहीं कर सकता है. उसने बताया, “अगर मेरे पास सबकुछ छोड़कर आई-एस से जुड़ने का विकल्प होता तो मैं जुड़ सकता था…मेरे परिवार को मेरी ज़रूरत है.”

हालांकि आज इंडियन एक्सप्रेस में छपे एक इंटरव्यू में मेहदी ने कहा है कि उसने कोई गलत काम नहीं किया है. मेहदी ने कहा है कि कुछ समय के लिए उसका जीमेल अकाउंट हैक कर लिया गया था और ट्विट किया गया था. मेहदी और उसके घरवालों का कहना है कि वह निर्दोष है और उसे एक रणनीति के तहत उसे फंसाया जा रहा है.

 

इससे संबंधित खबरें पढ़ें-

कौन है मेहदी मसरूर बिस्वास? 

बेंगलुरु पुलिस ने ISIS कनेक्शन के आरोपी मेहदी को हिरासत में लिया 

बेंगलुरू से हैंडल हो रहा था ISIS का ट्विटर एकाउंट, जांच में जुटा NIA 

ISIS के ट्विटर अकाउंट को हैंडल करता है भारतीय शख्स!