आईबी ने जारी किया 20 उग्रवादियों के भारत में घुसने का अलर्ट

By: | Last Updated: Friday, 12 June 2015 2:24 AM
Militants Enter India to Avenge Army’s Myanmar Operation, North-East on High Alert: Report

Representational Image

नई दिल्ली: म्यांमार में ऑपरेशन के बाद उग्रवादी सेना से बदला लेने की फिराक में हैं. खुफिया अलर्ट मिला है कि म्यांमार के रास्ते में 20 से ज्यादा उग्रवादी भारत में घुस चुके हैं.

 

उग्रवादियों के निशाने पर सेना के काफिले, सुरक्षा दफ्तर और आम लोग हैं. खुफिया जानकारी के बाद गृह मंत्रालय ने सेना और उत्तर पूर्व के राज्यों मणिपुर, मिजोरम, नागालैंड और अरुणाचल प्रदेश को हाई अलर्ट पर रहने को कहा है.

 

यह कदम गृह मंत्री राजनाथ सिंह की अध्यक्षता में हुई एक उच्च स्तरीय बैठक के बाद उठाया गया है. बैठक में रक्षा मंत्री मनोहर पर्रिकर, राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल, उप सेना प्रमुख लेफ्टीनेंट जनरल फिलिप केम्पोस भी मौजूद थे. इसमें खुफिया सूचनाओं को साझा किया गया.

 

सूत्रों ने बताया कि खुफिया सूचनाओं के अनुसार एनएससीएन.के, पीएलए, उल्फा तथा नव गठित यूनाइटेड नेशनल लिबरेशन फ्रंट आफ साउथ एशिया सहित अन्य समूहों के करीब 20 उग्रवादी सेना द्वारा मंगलवार को किये गये सटीक हमले का बदला लेने के मकसद से भारत-म्यामांर की सीमा पार कर हमारे क्षेत्र में घुस आये हैं.

 

शीर्ष सुरक्षा प्रतिष्ठान ने समूचे पूर्वोत्तर क्षेत्र की सुरक्षा स्थिति तथा सेना हमले के नतीजों का जायजा लिया.

 

सूत्रों ने कहा कि सरकार ने ‘संतोष’ व्यक्त किया और जरूरत पड़ने की स्थिति में वह भविष्य में भी इसी प्रकार के हमलों का आदेश दे सकती है क्योंकि मंगलवार सुबह हुआ सैन्य अभियान सफल रहा था.

 

बहरहाल, सरकार म्यांमार के सिलसिले में शामिल संवेदनशीलता को ध्यान में रखते हुए एहतियात बरत सकती है. म्यांमार में जल्द ही चुनाव होने वाले हैं. सूत्रों ने बताया कि डोभाल जल्द ही म्यांमार जायेंगे. डोभाल उन परिस्थितियों के बारे में म्यांमार के नेतृत्व को बतायेंगे जिनके चलते भारत को उसकी भूमि से परिचालन करने वाले उग्रवादियों के खिलाफ सटीक हमले का आदेश देना पड़ा था.

 

म्यांमार की सीमा से सटे इलाकों में सेना का कॉम्बिंग ऑपरेशन शुरू हो गया है. किसी भी हमले को रोकने के लिए रणनीति बनाई जा रही है.

 

जून को ही मणिपुर के चंदेल में उद्रवादियों ने सेना के काफिले पर हमला किया था जिसमें 18 उग्रवादी मारे गए थे. इसके बाद सेना ने म्यांमार की सीमा में घुसकर हत्यारे उग्रवादियों को मारा था.

इसके बाद म्यांमार ने भारत के दावे पर ही सवाल उठा दिए. म्यांमार ने कहा कि भारतीय सेना ने हमारे यहां घुसकर ऑपरेशन नहीं किया. जो हुआ वो म्यांमार की सीमा में नहीं हुआ है.

 

इस पर प्रतिक्रिया जताते हुए पाकिस्तान ने बुधवार को कहा कि भारत को इस्लामाबाद के बारे में कोई गलतफहमी नहीं होनी चाहिए. एक आधिकारिक बयान में कहा गया कि म्यांमार की तुलना में पाकिस्तान अलग है.

 

 गुरूवार को मुशर्रफ भी सामने आए और परमाणु बम तक की बात कर दी. मुशर्रफ ने कहा, ”आर्मी में कहा गया है इसका मुंहतोड़ जवाब देना चाहिए… मेरे ख्याल में इनको मैं बताना चाहता हूं कि ना हमने.. हमारी फौज ने और पाकिस्तान ने चूड़ियां पहनी हुई हैं.. ना हम बर्मा हैं और मेरे ख्याल में इनको ये भूल गए हैं कारगिल.”

 

पाकिस्तान के इस बयान पर रक्षा मंत्री मनोहर पार्रिकर ने कल चुटकी ली. रक्षा मंत्री मनोहर पर्रिकर ने कहा कि जो लोग भारत के नये रूख से भयभीत हैं, उन्होंने प्रतिक्रिया व्यक्त करनी शुरू कर दी है.

 

यह भी पढ़ें-

म्यांमार की सीमा में कोई भी 16 किमी तक अंदर जा सकता है! 

क्या म्यांमार में भारत की कार्रवाई से डर गया है पाकिस्तान? 

म्यांमार ऑपरेशन के बाद बौखला रहे हैं डरने वाले: रक्षा मंत्री पर्रिकर 

म्यांमार ऑपरेशन: बहादुरी के प्रचार पर विरोधियों का बवाल 

म्यामांर ऑपरेशन को नहीं दिया जाएगा कोई नाम!

म्यांमार ने भारत के दावे पर उठाए सवाल, कहा-हमारी जमीन में नहीं हुआ ऑपरेशन 

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: Militants Enter India to Avenge Army’s Myanmar Operation, North-East on High Alert: Report
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
और जाने: Myanmar
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017