मंत्री के बेटे ने रैगिंग के बाद की थी खुदकुशी की कोशिश

By: | Last Updated: Saturday, 23 August 2014 2:02 PM
minister son_bihar cm_rangging

नई दिल्ली : ग्वालियर के सिंधिया स्कूल में कथित रैगिंग के बाद छात्र की हालत गंभीर बनी हुई है. इस बीच ग्वालियर के डीएम ने स्कूल के खिलाफ जांच के आदेश दिए.

 

ग्वालियर के सिंधिया स्कूल में छात्र के साथ हुई कथित रैगिंग की जांच के लिए प्रशासन ने एक टीम बना दी है. साथ ही पुलिस स्कूल हॉस्टल जाकर पूछताछ करेगी. बिहार सरकार में मंत्री का 8वीं में पढ़ने वाला बेटा हॉस्टल में बेहोशी की हालत में मिला था. छात्र की गंभीर हालत देखते हुए उसे दिल्ली के अपोलो हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया है.

 

संदिग्ध रैगिंग के बाद बिहार के मंत्री के पुत्र की हालत गंभीर 

बताया जा रहा है स्कूल के सीनियर पीड़ित की रैंगिंग करते थे. छात्र ने इसकी जानकारी अपनी मां को भी दी थी. परिवार ने हत्या की कोशिश का आरोप लगाया है. बिहार के सहकारिता मंत्री जय कुमार सिंह का कहना है कि उनका पुत्र संदिग्ध रैगिंग के बाद दिल्ली के एक अस्पताल में जीवन और मौत के बीच झूल रहा है.

सिंह ने कहा कि उनका पुत्र आदर्श ग्वालियर के सिंधिया स्कूल का छात्र है. उन्होंने बताया कि स्कूल के अधिकारियों ने उनसे कहा कि उनके पुत्र ने बुधवार की रात आत्महत्या का प्रयास किया और उसकी हालत गंभीर है.

 

 

मांझी ने मंत्री के बेटे की रैगिंग के विषय पर मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री से बातचीत की

 

बिहार के मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी ने ग्वालियर के एक प्रतिष्ठित विद्यालय में राज्य के सहकारिता मंत्री जय कुमार सिंह के बेटे की रैगिंग के संदिग्ध मामले को लेकर आज मध्यप्रदेश के अपने समकक्ष शिवराज सिंह चौहान से बातचीत की. यह लड़का मौत से संघर्ष कर रहा है.

 

मुख्यमंत्री कार्यालय के अधिकारियों ने बताया कि मांझी ने चौहान से ग्वालियर के सिंधिया विद्यालय की इस घटना की जांच कराने तथा अपराधियों को दंडित करने की अपील की.

 

जय कुमार सिंह का पुत्र आदर्श कुमार सिंह दिल्ली के अपोलो अस्पताल में बेहोश है.

 

सिंह के एक रिश्तेदार ने प्रेस ट्रस्ट को बताया कि आदर्श पर इलाज का असर हो रहा है लेकिन अबतक उसे होश नहीं आया है. उसे बृहस्पतिवार को अस्पताल में लाया गया था.

 

मंत्री ने दावा किया कि ग्वालियर के सिंधिया विद्यालय में संभवत: उनके बेटी की रैगिंग की गयी जहां वह कक्षा नौवीं में पढ़ रहा था.

 

सिंह के कल कहा था कि विद्यालय प्रशासन ने उन्हें बताया कि उनके बेटे ने बुधवार की रात को आत्महत्या की कोशिश की थी और उसकी हालत नाजुक है.

 

सिंह ने दावा किया कि लेकिन यह संभव नहीं है और उसकी यह दशा वरिष्ठ छात्रों द्वारा रैगिंग किए जाने के चलते हुई.

 

मंत्री ने कहा कि लड़के ने अतीत में अपनी मां से शिकायत की थी कि वरिष्ठ छात्र उसकी रैगिंग करते हैं. लेकिन हमें कभी नहीं लगा कि मामला इतना गंभीर है.

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: minister son_bihar cm_rangging
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
और जाने: minister Son
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017