मनरेगा के 10 साल: तारीख के साथ मोदी सरकार के तेवर भी बदल गये?

By: | Last Updated: Tuesday, 2 February 2016 9:30 PM
MNREGA implementation

नई दिल्ली: आज गरीबों को रोजगार का हक देने वाली मनरेगा योजना के दस साल पूरे हो गए. दिल्ली में मोदी सरकार ने जश्न मनाया तो कांग्रेस उपाध्यक्ष आंध्र प्रदेश के अनंतपुर पहुंचे जहां दस साल पहले योजना की शुरुआत की गई थी. दस साल बाद मोदी सरकार मनरेगा को मजबूत बनाने में जुटी है लेकिन इस बहाने कांग्रेस और बीजेपी आमने सामने है. ये वही योजना है जिसे पीएम मोदी ने पिछले साल कांग्रेस की विफलताओं का स्मारक बता दिया था.

27 फरवरी 2015 पीएम मोदी ने कहा था कि मनरेगा कांग्रेस की विफलताओं का स्मारक है. 2 फरवरी 2016 को तारीख बदली.. तेवर बदले.. मोदी सरकार का नजरिया भी बदला.. एक साल पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जिस मनरेगा को कांग्रेस की विफलताओं का स्मारक बता रहे थे अब मोदी सरकार उसी के दस साल पूरे होने का जश्न मना रही है.

वित्त मंत्री दिल्ली में तो मनरेगा शुरू करने वाला कांग्रेस नेतृत्व आंध्र प्रदेश के अनंतपुर में मौजूद था जहां दस साल पहले यूपीए सरकार में तत्कालीन पीएम मनमोहन सिंह और सोनिया गांधी ने मनरेगा योजना को हरी झंडी दिखाई थी.

चुनावी रैलियों में भी राहुल ने मनरेगा का खूब ढोल पीटा था. यूपीए सरकार गई, मोदी सरकार आई. पहले चर्चा थी कि मनरेगा योजना बंद हो जाएगी लेकिन दस साल बाद भी मनरेगा मजबूती से बना हुआ है क्योंकि यूपीए के लिए रुख बदलने वाली ये योजना मोदी सरकार भी बंद नहीं कर पा रही है.

मनरेगा के दस साल

मनरेगा योजना देश के गांवों में रहने वाले लाखों गरीबों को रोजगार की सुरक्षा देने के मकसद से शुरू की गई थी. दस साल में इस योजना पर तीन लाख करोड रुपये से ज्यादा खर्च हो चुके हैं. जिनमें पिछले पांच सालों में 2 लाख करोड़ रुपये खर्च हुए हैं. कुल रकम का 71 फीसदी मजदूरों के वेतन में खर्च किया जाता है. सरकार का दावा है कि पिछड़े वर्ग के मजदूरों में 17 से 20 फीसदी की बढ़ोतरी हुई है.

मनरेगा यानी महात्मा गांधी राष्ट्रीय रोजगार गारंटी योजना के तहत सालाना 100 दिन के रोजगार की गारंटी दी जाती है. 8 घंटे की मजदूरी करने के लिए हर मजदूर को कम से कम 100 रुपए मजदूरी देने का प्रावधान रखा गया. अभी न्यूनतम मजदूरी बिहार में 163 रुपये है. जबकि केरल में सबसे ज्यादा 500 रुपये है.

देश के कई राज्यों से मनरेगा में घोटाले और धांधली के मामले भी सामने आते रहे हैं लेकिन एनडीए सरकार का दावा है कि मनरेगा अपने बेहतरीन दौर में है.

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: MNREGA implementation
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017