राज ठाकरे ने ऑटो परमिट पर बोला झूठ!

By: | Last Updated: Friday, 11 March 2016 7:07 PM
MNS chief Raj Thackeray calls off autorickshaw agitation

नई दिल्ली: मुंबई में बीती रात एक ऑटो रिक्शा को आग के हवाले कर दिया गया. इसे एमएनएस अध्यक्ष राज ठाकरे के उस बयान से जोड़कर देख जा रहा है जिसमें उन्होंने गैर मराठियों के नए परमिट वाले आटोरिक्शा को जलाने की बात कही थी. मुंबई में गैर मराठियों के ऑटो जलाने की अपील करने वाले राज ठाकरे समर्थकों से आंदोलन रोकने को कहा है.

परसों ही एमएनएस अध्यक्ष राज ठाकरे ने गैर मराठियों के खिलाफ जहर उगला था. 36 घंटे भी नहीं बीते की मुंबई के अंधेरी में आरटीओ दफ्तर के बाहर खड़े ऑटो रिक्शा को आग के हवाले कर दिया गया.

पुलिस के मुताबिक ऑटोरिक्शा का मालिक इसे यहां सही सलामत छोड़कर गया था लेकिन जब वो लौटा तो ये खाक हो चुका था.

माना जा रहा है कि महाराष्ट्र नव निर्माण सेना के अध्यक्ष राज ठाकरे ने गैर मराठियों के खिलाफ जो नफरत फैलाने वाला बयान दिया था ये उसी का नतीजा हो सकता है. राज ठाकरे ने नए परमिट वाले गैर मराठियों के ऑटो में आग लगाने की बात कही थी.

ऑटो के पास ही एमएनएस का झंडा भी मिला है. इसी के आधार पर शक जताया जा रहा है कि आटो को आग लगाने का काम एमएनएस के कार्यकर्ताओं ने किया होगा लेकिन पुलिस इस बात से साफ इंकार कर रही है.

ऑटो को आग किसने लगाई है ये जानने के लिए पुलिस तफ्तीश में लगी है लेकिन राज ठाकरे के भड़काऊ बयान से ऑटो रिक्शा चलाने वाले गैर मराठियों के मन में खौफ तो बैठ ही गया है.

राज ठाकरे का आरोप है कि महाराष्ट्र में बांटे गए 70 हजार ऑटो परमिट में से ज्यादातर गैर मराठियों को दिए गए हैं.

यही वजह है कि राज ठाकरे ने इसे मारठियों के खिलाफ साजिश करार दिया है. लेकिन ये पूरा सच नहीं है. राज ठाकरे जिस 70 हजार ऑटो परमिट का जिक्र अपने बयान में कर रहे हैं दरअसल अभी उतने ऑटो परमिट बांटे ही नहीं गए है.

ABP न्यूज ने राज ठाकरे के बयान के बाद पड़ताल की तो पता चला कि 70 हजार नहीं बल्कि मुंबई समेत महाराष्ट्र के 6 जिलों में कुल 42 हजार 798 लोग ही ऑटो परमिट की लॉटरी जीत पाए हैं.

और आपको जानकर हैरानी होगी कि अभी इन लोगों को ऑटो का परमिट मिला ही नहीं है क्योंकि आरटीओ के पास सारे दस्तावेज जमा कराने हैं, जिसके बाद उन्हें अंतिम ऑटो परमिट दिया जाएगा.

लेकिन राज ठाकरे ने गैर मराठियों के खिलाफ भड़काऊ बयान देकर अगले साल होने वाले महानगरपालिका यानि बीएमसी चुनाव के लिए वोटों के ध्रुवीकरण की कोशिश शुरू कर दी. राज ठाकरे की चुनावी बिसात कितनी कामयाब होती है ये तो नहीं पता लेकिन मुंबई में दूसरे राज्यों से आए लोग खौफ के साये में जी रहे हैं.

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: MNS chief Raj Thackeray calls off autorickshaw agitation
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017