जमीन अधिग्रहण बिल: पीएम ने सांसदों की बैठक में कहा- पीछे हटने की जरूरत नहीं, अच्छे सुझाव आए तो बदलाव पर कर सकते हैं विचार

By: | Last Updated: Tuesday, 24 February 2015 8:39 AM

नई दिल्ली: विपक्ष और विभिन्न संगठनों की जबर्दस्त घेराबंदी के बीच प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने आज बीजेपी सांसदों से कहा कि उन्हें भूमि अधिग्रहण अध्यादेश को लेकर बचाव की मुद्रा में आने की जरूरत नहीं है बल्कि उन्हें इस मुद्दे पर विपक्ष द्वारा बनाये गए ‘मिथक’ की हवा निकालनी चाहिए.

 

सूत्रों के अनुसार, संसद के बजट सत्र के दौरान बीजेपी संसदीय दल की आज हुई पहली बैठक में मोदी ने कहा, ‘‘ भूमि अधिग्रहण अध्यादेश को लेकर बचाव में आने की जरूरत नहीं है. हम जो कानून ला रहे हैं, वह किसानों और गरीबों के हित में है. इस मुद्दे पर बनाये गए ‘मिथ’ की हवा निकालनी चाहिए.’’ उनके अनुसार, प्रधानमंत्री ने कहा कि यह महत्वपूर्ण सत्र है, इस सत्र में देश के महत्वपूर्ण विषय सामने आयेंगे और देश के विकास को नई दिशा मिल सकेगी. पार्टी के सभी सांसदों को इस सत्र में महत्वपूर्ण भूमिका निभानी है. सभी सांसदों को संसद सत्र के दौरान विभिन्न गतिविधियों एवं कार्यो में सक्रियता से हिस्सा लेना चाहिए और रचनात्मक भूमिका निभानी चाहिए.

 

सूत्रों ने बताया कि पिछले सत्र के दौरान और उसके बाद भी बीजेपी के कुछ सदस्यों द्वारा विवादास्पद बयान दिये जाने के कारण पार्टी और सरकार की किरकिरी होने के परिप्रेक्ष्य में संसदीय कार्य मंत्री वेंकैया नायडू ने बैठक में पार्टी के सभी सांसदों को चेतावनी दी कि अगर किसी ने विवादास्पद बयान या टिप्पणियां की तो उनके खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जायेगी.

 

नायडू ने पार्टी सांसदों से यह ध्यान रखने को कहा है कि उनकी बातों से कोई नकारात्मक ध्वनि नहीं निकले और कोई नकारात्मक बयान नहीं आए. इसके साथ ही पार्टी सांसदों से अनुशासन बनाये रखने को कहा गया है. उधर राज्यसभा में वित्त मंत्री अरूण जेटली ने अध्यादेश के जरिये भूमि अधिग्रहण कानून लाने का बचाव करते हुए कहा कि आजादी के बाद से 639 अध्यादेश के जरिये कानून लागू किये गए और उनमें से 80 प्रतिशत कांग्रेस के शासनकाल में हुआ.

 

एक सदस्य के इस सुझाव पर कि सरकार को इस भूमि अधिग्रहण कानून के बारे में राजनीतिक दलों के नेताओं से बात करनी चाहिए, जेटली ने इतना भर कहा कि वह उनके इस सुझाव को संबंधित मंत्री तक पहुंचा देंगे. इस बीच, केंद्रीय मंत्री राजीव प्रताप रूडी ने कहा कि भूमि अधिग्रहण विधेयक को और प्रभावकारी बनाने के लिए बीजेपी और राजग के नेता आज इस पर चर्चा करेंगे.

 

सूत्रों ने बताया कि बीजेपी संसदीय दल की बैठक के दौरान मोदी ने कहा कि विधेयक से किसानों को फायदा होगा और उनकी सरकार की ओर से इसमें संशोधन कांग्रेस शासित राज्यों एवं उनके मुख्यमंत्रियों के सुझाव के आधार पर लाए गए हैं. बीजेपी किसानों के कल्याण को प्रतिबद्ध है. भूमि अधिग्रहण अध्यादेश पर विधेयक को और प्रभावी एवं किसान हितैषी बनाने के लिए आज शाम बीजेपी समेत राजग नेताओं की बैठक होगी और इसे बेहतर बनाने के बारे में चर्चा होगी.

 

राजीव प्रताप रूडी ने कहा, ‘‘बीजेपी समेत राजग के सांसदों की बैठक होगी और इसमें इस बात पर चर्चा की जायेगी कि भूमि अधिग्रहण विधेयक को और प्रभावी कैसे बनाया जा सकता ताकि इससे किसानों और गरीबों को अधिक फायदा मिले. इस बारे में आज शाम सांसदों और संबंधित विभागों के मंत्रियों के बीच चर्चा होगी.’’ बैठक के दौरान कोयला मंत्री पीयूष गोयल और पेट्रोलियम मंत्री धर्मेन्द्र प्रधान ने कोयला ब्लाक आवंटन और प्रत्यक्ष नकद अंतरण योजना पर प्रस्तुती दी.

 

सूत्रों के अनुसार, गोयल ने बैठक के दौरान कहा कि सरकार को कोयला ब्लाकों की नीलामी से 1.2 लाख करोड़ रूपये तक फायदा हुआ है और इसमें से बड़ी राशि उन राज्यों को जायेगी जहां कोयला ब्लाक हैं. इससे राज्यों को लाभ होगा. इससे कोयला ब्लाक आवंटन पर पूर्व की संप्रग सरकार के रूख का पर्दाफाश हुआ है.

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: modi _on_land_Land Acquisition Bill
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017