नेपाल को नरेंद्र मोदी ने दिया ये संदेश

By: | Last Updated: Tuesday, 25 November 2014 11:36 AM

नई दिल्ली : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने नेपाल की राजधानी काठमांडू में दिए भाषण में कहा कि उनकी सरकार खुले दिल से नेपाल की मदद करेगी. मोदी ने नेपाल के नेताओं से ये अपील भी कि वह मतभेद भुलाकर आपसी सहमति से जल्द से जल्द संविधान को अंतिम रूप दें. मोदी ने ये बातें काठमांडू में ट्रॉमा सेंटर के उदघाटन के मौके पर आयोजित कार्यक्रम में कहीं.

 

मोदी ने कहा कि मुझे खुशी है कि भारत-नेपाल परियोजनाएं आखिरकार रफ्तार पकड़ रही हैं.  प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने काठमांडो के बीर अस्पताल में भारत द्वारा बनाए गए ट्रॉमा सेंटर का उद्घाटन किया.

 

मोदी ने कहा, ‘‘ हमने द्विपक्षीय, उप-क्षेत्रीय और क्षेत्रीय आधार पर इस संबंध में कई पहलें की हैं तथा और पहल जारी रखेंगे. हमें उम्मीद है कि खास कर आपसी संपर्क बढ़ाने के लिए विभिन्न पहलों की दिशा में इस सम्मेलन से ठोस नतीजे निकलेंगे जिन पर लंबे समय से चर्चा हो रही है.’’

 

उन्होंने कहा, ‘‘ पिछले चार महीने में यह मेरी दूसरी नेपाल यात्रा है जिससे स्पष्ट है कि हम नेपाल के साथ अपने अनूठे और विशेष संबंध को कितना महत्व देते हैं. मेरी अगस्त 2014 की यात्रा के दौरान लिए गए फैसलों के कार्यान्वयन में उल्लेखनीय प्रगति हुई है. मुझे उम्मीद है कि प्रधानमंत्री सुशील कोइराला और अन्य नेपाली नेताओं के साथ हम अपने संबंधों में प्रगति की समीक्षा करेंगे.’’ प्रधानमंत्री मोदी के उच्च स्तरीय शिष्टमंडल में विदेश मंत्री सुषमा स्वराज, राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजित डोभाल, विदेश सचिव सुजाता सिंह और विभिन्न मंत्रालयों के कई वरिष्ठ अधिकारी शामिल हैं.

 

मोदी प्रधानमंत्री बनने के बाद से मजबूत दक्षेस की बात करते रहे हैं. विभिन्न देशों के शीर्ष राजनयिकों में इस बात को लेकर उत्सुकता है कि मोदी इस आठ देशों के इसमंच को एक क्षेत्रीय शक्ति का केंद्र बनाने के लिए क्या प्रस्ताव करते हैं. सम्मेलन की विषय-वस्तु है ‘शांति और संपन्नता के लिए व्यापक क्षेत्रीय एकीकरण’ और कई सदस्य देशों के राजनयिकों ने कहा कि ऐसी उम्मीद है कि सम्मेलन कुछ क्षेत्रों में बड़ी उपलब्धियां हासिल करेगा.

 

उम्मीद है कि सदस्य देशों के नेता शिक्षा, स्वास्थ्य, उर्जा सुरक्षा और गरीबी उन्मूलन के क्षेत्र में सहयोग बढ़ाने पर भी विचार करेंगे.

 

राजनयिकों ने कहा कि सदस्य देशों के बीच व्यापार की मुक्त व्यवस्था सुनिश्चित करने के लिए व्यापार के राह की बाधाएं दूर करने के संबंध में विस्तृत चर्चा होगी.

 

नेपाल के कार्यवाहक विदेश सचिव शंकर दास बैरागी ने कहा कि दक्षिण एशियाई मुक्त व्यापार क्षेत्र :साफ्टा: समझौते को पूरी तरह और प्रभावी तौर पर लागू करने के लिए कड़ी प्रतिबद्धता और निर्णायक पहल की जरूरत है.

 

नेपाल सरकार ने सम्मेलन के दौरान राजधानी में 25,000 से अधिक सशस्त्र कमांडो की तैनाती के साथ सुरक्षा के व्यापक इंतजाम किए हैं. काठमांडो को सदस्य देशों के नेताओं के स्वागत के लिए सुसज्जित किया गया है.

 

मुख्य सड़कों पर बांग्लादेश, भूटान, भारत, मालदीव, नेपाल, पाकिस्तान, श्रीलंका और अफगानिस्तान के नेताओं की तस्वीर वाली तख्तियां और पोस्टर लगाए गए हैं.

 

शिखर बैठक से पहले सदस्य देशों के विदेश सचिवों की दो दिन की बैठक कल समाप्त हुई. इसमें सम्मेलन के एजेंडा को अंतिम स्वरूप दिया. ऐसी आशंकाएं रही हैं कि भारत-पाकिस्तान का द्विपक्षीय संबंध इस सम्मेलन पर हावी हो सकता है.

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: modi in nepal
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
और जाने: Nepal PM Modi
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017