नीलामी में मोदी के सूट की बोली 1.41 करोड़ तक पहुंची

By: | Last Updated: Thursday, 19 February 2015 4:39 AM

सूरत: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के सूट की बोली लगाई जा रही है. लाखों से शुरू हुई ये बोली करोड़ों तक पहुंच चुकी है. अब बोली 1.41 करोड़ तक पहुंच गई है.

 

इससे पहले आज बोली के दूसरे दिन ग्लोबल फ्रेंड्स ग्रुप ने मोदी के सूट की बोली 1.25 करोड़ लगाई थी. ग्लोबल फ्रेंड्स ग्रुप के राजेश माहेश्वरी ने बताया, ‘हमारे ग्रुप में जितने भी फ्रेंड्स हैं सबने 50000 रूपये देने का निर्णय लिया है.’

ये मोदी का वही सूट है जो हैदराबाद हाउस में अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा से मुलाकात के वक्त मोदी ने पहना था. इस सूट ने सुर्खियां भी बटोरी और विवाद भी, लेकिन सूट की इस कहानी का दिलचस्प मोड़ ये है कि रमेश वीरानी नाम के शख्स ने सामने आकर कहा है कि मोदी को ये सूट उन्होंने गिफ्ट किया था.

 

सूरत में बोली लगने का दौर जारी है और आंकड़ा बढ़ता जा रहा है. बोली 1 करोड़ 25 लाख तक पहुंच चुकी है. यहां नीलामी के लिए एक रजिस्टर का इस्तेमाल हो रहा है. सूरत में शुरू हुई मोदी के सूट की ये नीलामी शुक्रवार की शाम तक जारी रहेगी. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के जिस सूट की कीमत 9 से 10 लाख आंकी जा रही थी उसकी बोली अब करोड़ों में लगाई जा रही है.

 

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के सूट समेत उनको तोहफे में मिली 455 चीजों की नीलामी के लिए रखी गई प्रदर्शनी का आज दूसरा दिन है. नेपाल दौरे में मिली भगवन पशुपतिनाथ की रेप्लिका के लिए अभी तक 1,11,111 की बोली लगाईं जा चुकी है. आज कुछ और खरीददार पीएम के सूट के लिए ऊंची बोली लगा सकते हैं. प्रदर्शनी सुबह 9 बजे शुरू होकर शाम 6.15 बजे ख़त्म होगी

 

सामने आया मोदी को चर्चित सूट गिफ्ट करने वाला शख्स 

 

आपको बता दें कि इस सूट की कहानी. 25 जनवरी के दिन अमेरिका के राष्ट्रपति बराक ओबामा और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी हैदराबाद हाउस के लॉन में बैठे चाय पर चर्चा कर रहे थे. चाय पर हुई इस चर्चा के बाद सुर्खियों में आया था मोदी का ये सूट. काले रंग के इस सूट पर सोने के धागे से लिखा गया था मोदी का नाम- नरेंद्र दामोदरदास मोदी.

 

भारत से लेकर लंदन तक ये सूट चर्चा में आ गया, कयास लगाए जाने लगे. सवाल पूछे जाने लगे किसने सिला. कहां सिला. कितने का कपड़ा और कितने का सूट.

इन तमाम सवालों के जवाब तो नहीं मिल पाए थे लेकिन विपक्षी पार्टियों ने हमला करने में देर नहीं की थी. ना तो राहुल गांधी चूके और ना ही केजरीवाल.

 

रमेश भाई वीरानी ने किया गिफ्ट

इस विवाद के तीन हफ्ते बाद सिर्फ सूट की नीलामी नहीं हो रही है बल्कि सूट को लेकर कुछ दिलचस्प तथ्य भी सामने आए हैं. नीलामी के दिन हीरा कारोबारी रमेश भाई वीरानी सामने आए. रमेश भाई वीरानी का दावा है कि उन्होंने अपने बेटे की शादी का न्योता देने के वक्त ये सूट प्रधानमंत्री को भेंट किया था.

 

मोदी को सूट गिफ्ट करने वाले रमेश वीरानी का कहना है, “जब मैंने बेटे की शादी तय हुई तब मैंने वाइब्रेंट समिट के वक्त शादी का न्योता देने गए. उसी वक्त मैंने ये सूट गिफ्ट दिया था. जब मैंने सूट देने गया तब मैंने नरेंद्र भाई को बोला कि सर मेरे बेटे की शादी है और आपको जरूर आना है हर बार आप मेरे घर पधारे हुए हैं और अभी दो साल पहले मेरे पिताजी गुजर गए उसके बाद हमारे परिवार में ये पहला कार्यक्रम है मेरे बड़े बेटे की शादी थी. मैंने कहा कि अब पिताजी भी नहीं है तो एक अभिभावक की तरह आपको आशीर्वाद देना है.”

रमेश वीरानी के मुताबिक मोदी ने गिफ्ट लेते वक्त ही साफ कर दिया था कि वो या तो इसे दान कर देंगे या फिर नीलाम कर देंगे.

 

रमेश वीरानी का कहना है, “वो बोले रमेश तुम जानते हो कि अभी मैं कितना व्यस्त हूं. 25-26 को मेहमान आ रहे हैं तब मैंने कहा कि ये गिफ्ट जो मैं लाया हूं इसे मेरे बेटे को आशीर्वाद की तरह आप उस दिन पहन लेना. तो वो बोले कि जो तुम दे रहे हो तुम्हें पता है कि मैं इसे या तो दान कर दूंगा या फिर नीलाम कर दूंगा. मैंने कहा कि आपको जो करना है करो. लेकिन मेरे लिए सबसे बड़ी चीज ये है कि उस दिन आप पहनोगे कि मेरे पिताजी नहीं हैं और उसके बाद अब आप ही बड़े हो. तो आपका आशीर्वाद समझकर आप पहन लेना.”

 

रमेश वीरानी के मुताबिक प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का उनके परिवार से बहुत पुराना नाता रहा है.

 

रमेश वीरानी का कहना है, “मैं गुजरात का हूं मेरे पिता आदिवासी एरिया में रहते थे और जब नरेंद्र भाई उधर से गुजरते थे तो मेरे पिता जी नरेंद्र भाई को हमेशा एक झब्बा और धोती पहनने के लिए हमेशा भेजते रहे. और एक बार मेरे पिताजी से मेरी बात भी हुई कि  आपको पता है कि नरेंद्र भाई जी कभी ये धोती कुर्ता पहनते नहीं हैं तो भी आप उसको क्यों भेजते रहते हो? लेकिन वो कहते थे कि एक प्यार है और वो मेरे को भेजना है और भेजते रहते थे.”

 

3 जुलाई 2012 को टाइम्स ऑफ इंडिया में छपी रिपोर्ट के मुताबिक मोदी पंकज विरानी के बेटे की शादी में गए थे. रिपोर्ट के मुताबिक विरानी परिवार केशुभाई पटेल के करीब माना जाता था. क्योंकि ये लोग भी सौराष्ट्र पटेल समुदाय से हैं. माना जा रहा था कि केशुभाई की बगावत के बाद सौराष्ट्र पटेल समुदाय मोदी से नाराज़ हो सकता है. मोदी का 2012 में पंकज विरानी की शादी में जाना सौराष्ट्र पटेल समुदाय को मोदी का संकेत माना जा रहा था.

 

हैदराबाद हाउस से ये सूट अब सूरत में नीलामी के लिए पहुंच चुका है लेकिन विवाद नहीं खत्म हो रहा. विपक्ष हमले करने का मौका नहीं छोड़ रहा जबकि बीजेपी साफ कह रही है कि नीलामी का पैसा तो देश के काम ही आएगा.

 

पहले चर्चा थी कि इस सूट का कपड़ा खास तरह के कपड़े बनाने वाली लंदन की कंपनी हालैंड एंड शेरी का है. जो 7 तरह के फैब्रिक से तैयार किया जाता है. इनमें मेरिनो वूल, रेशम, कॉटन और लिनेन का इस्तेमाल किया जाता है. इस कंपनी के 7 मीटर कपड़े की कीमत 2.50 लाख के करीब मानी जाती है लेकिन कीमत को लेकर रमेश विरानी कह रहे हैं कि इसे हांगकांग में रहने वाले उनके बेटे ने तैयार करवाया था, उन्हें इसकी जानकारी नहीं है.

 

रमेश विरानी का दावा है कि उन्होंने मोदी को सूट तोहफे में दिया था लेकिन जब एबीपी न्यूज ने दो दशक से मोदी के कपड़े सिल रहे जेड ब्लू से संपर्क किया तो जेड ब्लू की ओर से बताया गया कि मोदी का चर्चित सूट उन्होंने ही बनाया है.

 

एबीपी न्यूज से जेड ब्लू ने ये दावा भी किया है कि मोदी जी ने सूट का कपड़ा खुद उनकी कंपनी को दिया था. जेड ब्लू के मुताबिक नरेंद्र मोदी के कपड़ा तोहफे में मिला था जिसके बाद उन्होंने बंद गले का सूट बनाने का ऑर्डर दिया.

 

अब सूट किसने सिला ये तो साफ नहीं है हां ये जरूर साफ है कि सूट की नीलामी में जो पैसे आएंगे वो गंगा की सफाई अभियान में इस्तेमाल किए जाएंगे.

 

सामने आया मोदी को चर्चित सूट गिफ्ट करने वाला शख्स 

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: Modi suit gift
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
और जाने: BJP modi suit Narendra Modi PM Modi Suit
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017