मोदी मंत्रिमंडल का पहला विस्तार आज

By: | Last Updated: Sunday, 9 November 2014 2:09 AM
modi_cabinet_extension

नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज को अपने मंत्रिमंडल का पहला विस्तार करने वाले हैं. सूत्रों के मुताबिक 22 नए मंत्री शपथ ले सकते हैं. शपथ ग्रहण समारोह दोपहर 1.30 बजे होगा. शपथ लेने से पहले मोदी सभी संभावित मंत्री पीएम निवास पहुंचेंगे और सुबह 9.30 बजे चाय के दौरान इन नेताओं से चर्चा करेंगे. कुछ मंत्रियों पर काम के दबाव को कम करने के लिए मंत्रिमंडल में नए चेहरों को शामिल किया जाएगा. त्रिस्तरीय मंत्रिमंडल का पहला विस्तार तथा फेरबदल राष्ट्रपति भवन स्थित दरबार हॉल में रविवार दोपहर 1.30 बजे होगा.

 

सूत्रों का कहना है कि मंत्रिमंडल में 16 नए चेहरे शामिल है.लोकसभा चुनाव में बीजेपी को ऐतिहासिक जीत दिलाकर प्रधानमंत्री पद पर आसीन हुए मोदी अपने मंत्रिमंडल का पहला विस्तार तथा फेरबदल करने जा रहे हैं.

 

गोवा के मुख्यमंत्री मनोहर पर्रिकर ने शनिवार को इस्तीफा दे दिया और उन्हें मोदी सरकार में रक्षा मंत्री बनाए जाने की अटकलें हैं. बीजेपी सूत्रों ने कहा कि पर्रिकर को उत्तर प्रदेश से राज्यसभा भेजा जा सकता है.

 

24 नवंबर को संसद का शीतकालीन सत्र शुरू हो रहा है और उससे पहले मंत्रिमंडल के विस्तार तथा फेरबदल किया जा रहा है, ताकि नए मंत्रियों को मंत्रालय के कामकाज से वाकिफ होने का समय मिल सके.

 

तेलंगाना से बंगारू दत्तात्रेय तथा आंध्र प्रदेश से सुजाना चौधरी को मंत्री पद नवाजा जा सकता है. दत्तात्रेय सिकंदराबाद से सांसद हैं तथा बीजेपी के उपाध्यक्ष हैं, वहीं चौधरी तेलुगू देशम पार्टी (टीडीपी) से राज्यसभा सांसद हैं.

 

पार्टी के सूत्रों ने कहा कि मोदी ने शनिवार सुबह दोनों से टेलीफोन पर बातचीत की और उन्हें रविवार सुबह दिल्ली में उपस्थित रहने के लिए कहा. दत्तात्रेय तेलंगाना से एकमात्र बीजेपी सांसद हैं, जबकि चौधरी कारोबारी हैं और मुख्यमंत्री एन.चंद्रबाबू नायडू के खास माने जाते हैं.

 

नए मंत्री राजस्थान, उत्तराखंड, दिल्ली, उत्तर प्रदेश और बिहार से हो सकते हैं. इसके अलावा, हरियाणा से भी नए मंत्री हो सकते हैं.

 

मंत्रिपद के लिए जिन नामों की चर्चा है उनमें जे.पी.नड्डा (हिमाचल प्रदेश), जयंत सिन्हा (झारखंड), राम कृपाल यादव व गिरिराज सिंह (बिहार), विजय सांपला (पंजाब), मुख्तार अब्बास नकवी व निरंजन ज्योति (उत्तर प्रदेश), सांवर लाल जाट (राजस्थान) तथा बीरेंद्र सिंह (हरियाणा) हैं.

 

पूर्व केंद्रीय मंत्री सुरेश प्रभु, ओलंपिक पदक विजेता राजवर्धन सिंह राठौर तथा गायक बाबुल सुप्रियो भी मंत्रिपद की दौड़ में शामिल हैं. अटल बिहारी वाजपेयी के नेतृत्व वाली राजग सरकार में अपने काम से सबको प्रभावित कर चुके सुरेश प्रभु के बारे में माना जा रहा है कि उन्हें रेल मंत्रालय की कमान सौंपी जा सकती है.

 

शिव सेना के एक नेता ने पहचान जाहिर न करने की शर्त पर कहा, “हमारे पास बेहद अनुभवी तथा योग्य सांसद हैं, जिन्हें उत्साहित किए जाने की जरूरत है. पार्टी इस बारे में स्पष्ट नहीं है कि शिवसेना के कोटे से सुरेश प्रभु को मंत्रिमंडल में कैसे शामिल किया जाएगा. हम अब भी इस पर चर्चा कर रहे हैं और जल्द ही फैसला ले लिया जाएगा.”

 

मोदी सरकार में कुल 22 कैबिनेट मंत्री तथा 22 राज्य मंत्री हैं, जिनमें से कुछ स्वतंत्र प्रभार वाले मंत्री हैं. कई मंत्री एक से ज्याद मंत्रालयों की जिम्मेदारी संभाल रहे हैं. वर्तमान में छह लोग एक से अधिक मंत्रालयों का कार्यभार संभाल रहे हैं. दोपहर डेढ़ बजे सत्रह बीजेपी सांसदों समेत बीस नए मंत्री शपथ ले सकते हैं.

 

चूंकि मोदी ने पहले ही कह रखा है कि उनकी सरकार का मंत्र न्यूनतम सरकार, अधिकतम शासन है, इसलिए मंत्रिमंडल के बड़ा होने की संभावना न के बराबर है.

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: modi_cabinet_extension
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017