नेताजी के लापता होने का सच सामने लाने की जिम्मेदारी ले मोदी सरकार : कैप्टन अली

By: | Last Updated: Wednesday, 13 August 2014 10:52 AM

अलीगढ़: नेताजी सुभाष चन्द्र बोस की इंडियन नेशनल आर्मी का हिस्सा रहे वयोवृद्ध कैप्टन अब्बास अली ने आज कहा कि केन्द्र की भाजपा नीत राजग सरकार अगर वाकई बोस को देश का सर्वोच्च असैन्य सम्मान ‘भारत रत्न’ देने के प्रति गम्भीर है तो उसे उनके रहस्यमय तरीके से लापता होने का सच सामने लाने की जिम्मेदारी भी लेनी चाहिये.

 

बोस को ‘भारत रत्न’ के दावेदारों में शामिल किये जाने सम्बन्धी खबरों से बहुत उत्साहित नजर नहीं आ रहे 94 वर्षीय अली ने ‘भाषा’ से बातचीत में कहा ‘‘नेताजी के अंत के कारणों और परिस्थितियों को देशवासियों के सामने लाना हमारी जिम्मेदारी है.

 

 मुझे इस बात की दिली तकलीफ है कि पिछली सरकारों ने नेताजी के निधन से जुड़े महत्वपूर्ण सुबूतों को रूस समेत कई दूसरे देशों से हासिल करने के लिये जरूरी कदम नहीं उठाये.’’ उन्होंने कहा कि अगर नरेन्द्र मोदी सरकार बोस को ‘भारत रत्न’ देने के प्रति वाकई गम्भीर है तो उसे उनके रहस्यमय तरीके से गायब होने का सच सामने लाने की जिम्मेदारी भी लेनी चाहिये.

 

नेताजी के बलिदान को न्याय मिलना ही चाहिये.

 

अली ने कहा ‘‘हमारे लिये यह बात हमेशा से तकलीफदेह रही है कि इंडियन नेशनल आर्मी में नेताजी की अगुवाई में अंग्रेेजों से लड़ने के बावजूद स्वतंत्रता मिलने के बाद हमें भारतीय सेना में शामिल नहीं किया गया. इससे भी ज्यादा दुखदायी यह है कि हमने वतन की आजादी के लिये अपना पूरा जीवन समर्पित कर दिया लेकिन हमें स्वतंत्रता सेनानी का दर्जा तक नहीं दिया गया.’’

 

 अली ने कहा ‘‘राम मनोहर लोहिया जैसे समाजवादी नेताओं ने इंडियन नेशनल आर्मी के फौजियों का मुद्दा उठाया था. तत्कालीन प्रधानमंत्री जवाहरलाल नेहरू ने हमारे योगदान को सराहा भी था लेकिन हमें न्याय दिलाने के लिये कोई ठोस कदम नहीं उठाया.

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: modi_govt_shud_take_responsibility
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017