लोग कहते हैं मैं हाइप करता हूं, मैं कहता हूं कि हाइप करने से ठीक काम करती है सरकार: मोदी

By: | Last Updated: Sunday, 11 January 2015 9:30 AM

गांधीनगर/नई दिल्ली: वैश्विक निवेशकों को आकषिर्त करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने स्थिर कर व्यवस्था तथा भरोसेमंद, पारदर्शी और निष्पक्ष नीतिगत वातावरण तैयार कर भारत को कारोबार करने की दृष्टि ‘‘सबसे आसान’’ स्थान बनाने का आज यहां वादा किया. इसके साथ ही पीएम ने कहा कि लोग कहते हैं कि मैं हाइप करता हूं, तो मैं कहता हूं कि मैं कहता हूं कि हाइप करने से सरकार काम ठीक करती है.

 

देश में आर्थिक वृद्धि तेज करने एवं रोजगार सृजन को गति देने के लिये विनिर्माण क्षेत्र को मजबूत बनाने के अपने अभियान आगे बढ़ाते हुए उन्होंने कहा कि परियोजनाओं की मंजूरी के लिये केंद्र एवं राज्य दोनों स्तरों पर एकल खिड़की मंजूरी व्यवस्था स्थापित की जा रही है.

 

मोदी ने कहा कि उनकी सरकार के गठन के बाद सात महीने के थोड़े समय में ही ‘निराशा और अनिश्चितता’ का वातावरण दूर हो गया है. उन्होंने कहा, ‘‘पहले दिन से सरकार अर्थव्यवस्था को गति देने के लिये सक्रियता से काम कर रही है. मेरी सरकार भरोसेमंद, पारदर्शी और निष्पक्ष नीतिगत माहौल तैयार करने को लेकर प्रतिबद्ध है.’’ पिछले साल मई में सम्पन्न हुए आम चुनाव में भाजपा को मिली बड़ी जीत के बाद मई में सत्ता संभालने वाले मोदी ने कहा कि सरकार ‘ नीति निर्देशित राजकाज’ देने के लिए काम कर रही है.

 

उन्होंने कहा, ‘‘भारत में कारोबार में आसानी की मुख्य चिंता है और यह हमारी भी चिंता है. मैं आपको आश्वस्त करता हूं कि हम इन मुद्दों पर गंभीरता से काम कर रहे हैं. हम इसे पहले की तुलना में या दूसरे की तुलना में आसान नहीं बल्कि सबसे आसान बनाना चाहते हैं.’’

 

अर्थव्यवस्था में जान फूंकने की कोशिश कर रहा हूं: मोदी

 

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि उनकी सरकार हताशा और अनिश्चितता मिटाकर देश की अर्थव्यवस्था में जान फूंकने की कोशिश कर रही है. मोदी ने सातवें वाइब्रैंट गुजरात सम्मेलन में यहां कहा, “सात महीने की छोटी अवधि में हम हताशा और अनिश्चितता का माहौल बदलने में कामयाब हुए हैं.”

 

उन्होंने कहा, “पहले दिन से ही मेरी सरकार अर्थव्यवस्था में जान फूंकने की कोशिश कर रही है.”

 

मोदी ने सम्मेलन में कहा कि भारत को लेकर जबरदस्त कुतूहल जगा है और दुनिया भर के देश हमारे साथ काम करने के लिए आगे आ रहे हैं. उन्होंने कहा कि आज भारत अवसर की भूमि हो गया है.

 

मोदी ने कहा, “हम समस्या से जिस प्रकार निपटते रहे हैं, उसे बदलने की जरूरत है. मंदी को हमेशा कारोबार और उद्योग के प्रसंग में देखा जाता रहा है.”

 

उन्होंने कहा, “क्या हमने कभी सोचा है कि मंदी प्रति व्यक्ति आय कम रहने का परिणाम है.”

 

प्रधानमंत्री ने कहा, “क्या हमने कभी इसके निदान के लिए आम आदमी की रोजगारपरकता, आय और क्रय शक्ति बढ़ाने के लिए सोचा है?”

 

उन्होंने कहा कि सरकार देश की आर्थिक और सामाजिक परिस्थिति में बदलाव और सुधार के लिए प्रतिबद्ध है, जिसमें जीवन स्तर भी शामिल है.

 

उन्होंने कहा, “हम देश में सहयोगी संघवाद को बढ़ावा देना चाहते हैं. इसके साथ ही हम विभिन्न राज्यों के बीच प्रतियोगिता भी चाहते हैं.”

 

मोदी ने कहा, “मैं इसे संघवाद का नया रूप यानी, सहयोगी और प्रतिस्पर्धी संघवाद कहता हूं.”

 

देश के विकास का हिस्सा बनें: मोदी

 

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को दुनिया भर के देशों, कारोबारियों और निवेशकों को भारतीय विकास गाथा का हिस्सा बनने के लिए आमंत्रित किया. यहां महात्मा मंदिर में सातवें वाइब्रेंट गुजरात वैश्विक निवेश सम्मेलन में मोदी ने कहा कि उनकी सरकार देश में निवेश के लिए विश्वास का माहौल बनाने की कोशिश कर रही है.

 

मोदी के साथ सम्मेलन के मंच पर संयुक्त राष्ट्र के महासचिव बान की-मून, अमेरिका के विदेश मंत्री जॉन केरी और विश्व बैंक के अध्यक्ष जिम योंग किम तथा कई देशों के मंत्री और कई वैश्विक कंपनियों के मुख्य कार्यकार अधिकारी भी उपस्थित थे.

 

मोदी ने कहा, “भारत के प्रति सहयोग का माहौल बना है.”

 

उन्होंने कहा, “मेरी सरकार ऐसा नीतिगत माहौल बनाने के लिए प्रतिबद्ध है, जिसके बारे में भरोसे से कुछ कहा जा सके, जो पारदर्शी हो और जो न्यायोचित हो.”

 

जीवन के लिए दुनिया बेहतर बने: मोदी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को कहा कि हम सभी चाहते हैं कि यह धरती जीवन के लिए एक बेहतर स्थान बने.

 

वाइब्रैंट गुजरात समिट को संबोधित करते हुए कहा मोदी ने कहा, “यह आयोजन धरती का शायद सबसे बड़ा आयोजन है, जहां नए उद्यमियों को विश्व बैंक के अध्यक्ष से मिलने का अवसर है. और जहां युवा किसान खाद्य सुरक्षा जैसे मुद्दों पर संयुक्त राष्ट्र महासचिव के दृष्टिकोण सुन सकते हैं.”

 

मोदी ने अपनी अधिकांश बातें अंग्रेजी में कही. उन्होंने कहा, “हम यहां एक परिवार के रूप में हैं, न केवल स्थान के संदर्भ में, बल्कि इसलिए कि हम मानते हैं कि किसी के सपने किसी की दिशा पर निर्भर होते हैं.”

 

मोदी ने कहा, “अंतिम लक्ष्य सभी का कल्याण है.. हम सभी मानते हैं कि यह धरती जीवन के लिए एक बेहतर स्थान बने.”

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: modi_in_vibrant_gujarat
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017