कई एनजीओ चाहते हैं कि मोदी ओबामा के साथ भोपाल गैस त्रासदी मुद्दे पर करें बात

By: | Last Updated: Sunday, 25 January 2015 12:42 PM

नई दिल्ली: वर्ष 1984 की भोपाल गैस त्रासदी के प्रभावितों के लिये काम कर रहे एनजीओ ने कहा है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा की तीन दिवसीय यात्रा के दौरान उनके सामने इस त्रासदी का मुद्दा उठाना चाहिए.

 

पांच एनजीओ ने एक संयुक्त बयान में कहा, ‘‘ओबामा की भारत यात्रा के अवसर पर प्रभावितों ने मांग की कि दोनों देशों के नेताओं को आम लोगों की जिंदगी एवं सेहत के बजाय कॉर्पोरेट हितों को सुरक्षा देना रोकना चाहिए और भोपाल त्रासदी से जुड़े मुद्दों के समापन के लिए जरूरी सुधारात्मक कदम उठाना चाहिए.’’ उल्लेखनीय है कि 1984 में 2-3 दिसंबर की दरम्यानी रात को यूनियन कार्बाइड इंडिया लिमिटेड (यूसीआईएल0 के संयंत्र से घातक मिथाइल आइसोसाइनाइट गैस रिसने से 3000 से अधिक लोग मारे गए थे और हजारों अन्य बीमार हो गये थे. यह दुनिया की सबसे भीषण औद्योगिक त्रासदियों में एक था.

 

यूसीआईएल की मूल बहुराष्ट्रीय कंपनी यूनियन कार्बाइड कारपोरेशन को बाद में डाउ केमिकल्स ने खरीद लिया था.

 

भोपाल गैस पीड़ित महिला पुरूष संघर्ष मोर्चा के नवाब खान ने कहा कि अमेरिका ने यह सुनिश्चित किया था कि ब्रिटिश पेट्रोलियम मैक्सिको की खाड़ी में तेल रिसाव के लिए 20 अरब डालर का भुगतान करे. उन्होंने कहा, ‘‘हम ओबामा से पूछना चाहेंगे कि कैसे उनकी अंतरात्मा ने उन्हें उन दो अमेरिकी कारपोरेशन का साथ देने की इजाजत दी जिन्होंने उस राशि का केवल एक छोटा सा हिस्सा ही उस घटना से दो हजार गुणा अधिक मारे गए लोगों के लिए दिया था. ’’

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: modi_obama
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
और जाने: obama in india
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017