मोदी-ओबामा ने कहा- मिलकर बढ़ाएंगे बिजनेस, मोदी ने कहा- सुशासन से सभी समस्याओं का हल

By: | Last Updated: Tuesday, 27 January 2015 1:19 AM

नई दिल्ली: भारत और अमेरिका मिलकर दोनों देशों के बीच कारोबार को बढ़ाएंगे. पीएम मोदी ने कहा है कि सुशासन से सभी समस्याओं का हल निकलेगा. ओबामा ने कहा कि बाधाएं दूर करने से बिजनेस बढ़ेगा.

 

सोमवार को दिल्ली के होटल ताज में हुई भारत-अमेरिका बिजनेस समिट में दोनों देशों के प्रमुख मुख्य अतिथि थे. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भारत और अमेरिका के बड़े उद्योगपतियों के बीच कहा कि वो इंफ्रास्ट्रक्चर में निवेश बढ़ाना चाहते हैं. मोदी ने कहा कि उनकी तीन प्राथमिकताएं हैं- स्किल, स्कोप और स्पीड.

 

अमेरिकी राष्ट्रपति ने इस मौके पर कहा कि दोनों देशों के बीच वो व्यापार और बढ़ाना चाहते हैं. ओबामा ने कहा कि हम सही दिशा में जा रहे हैं

बिजनेस समिट में पीएम मोदी ने कहा कि वो खुद बड़े प्रोजेक्ट की निगरानी करेंगे. ओबामा ने कहा कि जीडीपी से ही विकास को नहीं मापा जा सकता , लोगों के जीवन में बेहतरी ही विकास है.

 

ओबामा की यात्रा के पहले दिन पीएम मोदी ने न्यूक्लियर डील में आ रही बाधाओं को दूर किया और दूसरे दिन उन्होंने उद्योग जगत से वादा किया कि अब आगे से बडी प्रोजेक्ट की निगरानी वो खुद करेंगे ताकि उद्योग जगत को व्यावहारिक दिक्कत ना हो.

 

नरेंद्र मोदी ने कहा कि सारे बड़े प्रोजेक्ट की निगरानी पीएमओ करेगा. इसके अलावा पीएम मोदी ने अमेरिकी उद्योगपतियों को भरोसा दिलाया कि उन्हें भारत में निवेश के लिए उचित माहौल उपलब्ध कराया जायेगा. पीएम मोदी ने उद्योग जगत से इंफ्रास्ट्रक्चर और पर्यटन में निवेश करने का आग्रह करते हुए कहा कि स्किल, स्कोप और स्पीड उनकी पहली तीन प्राथमिकता है. अपने कार्यकाल का जिक्र करते हुए पीएम मोदी ने कहा कि इस दौरान आर्थिक सुधारों ने नई गति पकड़ी है और आगे वो कुछ और कदम उठाएंगे जिससे भारत में निवेश करने में सहूलियत हो.

 

प्रधानमंत्री मोदी के इन एलानों का बराक ओबामा ने जमकर स्वागत किया और कहा कि अमेरिका का एक्जिम बैंक भारत में 1 बिलियन डॉलर का निवेश करनेवाला है और अमेरिकी व्यापार और निवेश एजेंसी रिनेब्यूल एनर्जी के नये प्रोजेक्ट के लिए 2 बिलियन डॉलर उपलब्ध करायेगा.

 

भारत और अमेरिका के बीच व्यापार की अपार संभावनाओं का जिक्र करते हुए ओबामा ने कहा कि दोनों देश के व्यापारिक संबध सही दिशा में बढ़ रहे हैं और अभी कई और क्षेत्र हैं जहां पर दोनों देश मिलकर काम कर सकते हैं.

 

अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा ने भारत के साथ व्यापार बढ़ाने के उपायों के तहत 4 अरब डालर के निवेश व रिण की घोषणा की.

 

भारत-अमेरिका कारोबारी सम्मेलन में उन्होंने कहा, ‘‘ अगले दो साल में हमारा आयात-निर्यात बैंक भारत को अमेरिकी निर्यात में वित्त पोषण हेतु एक अरब डालर की रिण सुविधा देने को प्रतिबद्ध होगा और अमेरिकी व्यापार एवं विकास एजेंसी भारत में अक्षय उर्जा में करीब दो अरब डालर का निवेश करने का लक्ष्य रखेगी.’’ भारत की यात्रा पर आए अमेरिकी राष्ट्रपति ने यह भी कहा कि ओवरसीज प्राइवेट इनवेस्टमेंट कारपोरेशन भारत में पिछड़े ग्रामीण एवं शहरी बाजारों में लघु व मध्यम उद्यमों को करीब एक अरब डालर की रिण सुविधा प्रदान करेगी.

 

प्रधानमंत्री मोदी अपने संबोधन में कहा कि उनकी सरकार ने कुछ ‘पुरानी ज्यादतियां’ दूर की हैं. उन्होंने कहा, ‘‘ अब हम बाकी अनिश्चितताओं को जल्द ही दूर करेंगे.’’ उन्होंने जाहिरातौर पर पिछली सरकार द्वारा लाए गए पूरानी तिथि से लागू कराधान कानून के संबंध में यह बात कही.

 

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने बैठक में कहा कि वह खुद बड़ी परियोजनाओं के क्रियान्वयन पर नजर रखेंगे और कहा कि किसी भी मुद्दे के समाधान के लिये वह उपलब्ध होंगे.

 

क्या कहा सीईओ फोरम में?

ओबामा ने कहा कि दोनों देश आर्थिक संबंधों की असली संभावनाओं का दोहन करने के लिए आगे बढ़ रहे हैं. ‘‘ हम अपने आर्थिक संबंधों की संभावनाओं का दोहन करने के लिए नयी गति, नयी उर्जा और नयी उम्मीदों के साथ शुरआत कर सकते हैं.’’ उन्होंने जोर दिया कि भारत और अमेरिका सच्चे वैश्विक साझीदार हैं. ‘‘ हम साथ साथ आगे बढ़कर साथ साथ समृद्ध हो सकते हैं और कारोबार कैसे किया जाता है, इस संबंध में नए वैश्विक नियम गढ़ सकते हैं जिससे न केवल हमारे दोनों देशों को लाभ होगा, बल्कि दुनियाभर के लोगों को लाभ होगा.’’

 

उन्होंने फोरम में आये उद्योगपतियों से कहा, ‘‘मैं हमेशा उपलब्ध हूं, मैं आपकी बात सुनूंगा.’’ प्रधानमंत्री ने कहा, ‘‘एक अच्छा सुझाव आया है कि बड़ी परियोजनाओं पर प्रधानमंत्री कार्यालय के स्तर पर नजर रखी जाये. मैं इस सुझाव से सहमत हूं. मैं बड़ी परियोजनाओं पर नजर रखने की जिम्मेदारी लेता हूं. मैं उनपर खुद नजर रखूंगा.’’ मोदी ने कहा कि वह राज्यों को भी साथ लेकर चलेंगे और उन्होंने भारत के संघीय ढांचे के महत्व के बारे में बताया.

 

उन्होंने कहा, ‘‘राज्यों के बीच भिन्नता की संभावना कम है. केन्द्र और राज्य सरकारों के बीच नजदीकी होगी और छोटी मोटी टकरावों का समाधान कर लिया जायेगा.’’ मोदी ने आईपीआर मुद्दे को काफी अहम बताया और कहा कि दुनिया भर में लोगों को इसका समाधान निकालना चाहिये. उन्होंने कहा कि भारत और अमेरिका के बीच व्यापार बढ़ाने के लिये एक संयुक्त कार्यसमूह बनाया गया है. उन्होंने यह भी कहा कि पर्यटन क्षेत्र में काफी संभावनायें हैं.

 

कृषि क्षेत्र के बारे में मोदी ने कहा ‘‘हर बूंद ज्यादा फसल.’’ उन्होंने कहा कि इस तरह की नीति को अपनाने से जलवायु परिवर्तन से जुड़े मुद्दों का भी समाधान होगा और कृषि उपज बढ़ाने में भी मदद मिलेगी.

 

ओबामा ने ढांचागत परियोजनाओं के मुद्दे पर कहा कि भारत में इन परियोजनाओं में निवेश के लिये वित्त संसाधन जुटाने और ढांचागत क्षेत्र में सुधार लाने में काफी रचि है. उन्होंने भारतीय सीईओ से कहा कि जो भी मुद्दे उन्होंने उठाये हैं, उनका :ओबामा का: प्रशासन हर मुद्दे पर लगातार गौर करेगा.

 

ओबामा ने कहा, ‘‘पिछले कुछ सालों में हमारा व्यापार करीब 60 प्रतिशत बढ़ा है जो कि रिकार्ड 100 अरब डालर के करीब है. अमेरिका को भारत को निर्यात 35 प्रतिशत बढ़ गया और भारत से निर्यात भी बढ़ा है.’’

   

इसके साथ ही अमेरिका के राष्ट्रपति बराक ओबामा ने भारत में नियामकीय और कर परिवेश में ‘निरंतरता’ और ‘सरलता’ की मांग उठायी और दोनों देशों के बीच व्यापार और व्यावसाय में उल्लेखनीय वृद्धि के लिये बौद्धिक संपदा अधिकारों से जुड़े मुद्दों के समाधान पर भी जोर दिया.

 

ओबामा ने सोमवार को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की मौजूदगी में भारत-अमेरिका सीईओ फोरम की बैठक को संबोधित करते हुये कहा कि भारत में ढांचागत क्षेत्र में सुधार की काफी गुंजाइश है. इसके अलावा सड़क नेटवर्क और ब्राडबैंड कनेक्टिविटी का विस्तार होने से देश में व्यावसायिक गतिविधियों को तेजी से बढ़ने में मदद मिलेगी.

 

ओबामा ने यहां चुनिंदा सीईओ को संबोधित करते हुये कहा, ‘‘अमेरिकी कंपनियां भारत में नियमन और कर परिवेश में निरंतरता, स्पष्टता और सरलता लाने में काफी रचि रखती हैं. यदि ऐसा होता है तो मेरा मानना है कि इससे भारत में व्यावसायिक गतिविधियों में काफी वृद्धि होगी. प्रधानमंत्री मोदी ने जिन कई सुधारों की दिशा में पहल की है यह उन्हीं के अनुरूप है.’’ ओबामा ने कहा कि मोदी ने तीव्र वृद्धि और निवेश के लिये भारत की नई रचना करने के वास्ते नई उर्जा और जोश पैदा कर दिया है.

 

अमेरिका के राष्ट्रपति ने कहा कि अमेरिकी कंपनियां भारत में बौद्धिक संपदा अधिकार जैसे मुद्दों को लेकर काफी चिंतित हैं, क्योंकि अमेरिकी अर्थव्यवस्था तेजी से एक ज्ञान आधारित अर्थव्यवस्था बनती जा रही है.

 

उन्होंने कहा कि भारत में प्रभावी बौद्धिक संपदा सुरक्षा कानून नहीं होने से कारोबार प्रभावित हो रहा है. ओबामा ने अमेरिका की फिल्म प्रोडक्शन कंपनी डिजनी के बॉलीवुड में निवेश का भी जिक्र किया और इसे उत्साहवर्ध बताया.

 

संबंधित खबरें-

पीएम मोदी और अमेरिकी राष्ट्रपति ओबामा आज रेडियो पर करेंगे ‘मन की बात’

इंडिया-यूएस बिजनेस समिट में बिजनेस की बड़ी बातें 

पाक मीडिया की सुखिर्यों में रही ओबामा की भारत यात्रा 

भारतीय परंपरा तोड़ ‘बीस्ट’ से राजपथ आए बराक ओबामा 

जलवायु परिवर्तन पर मोदी-ओबामा के बयान में कुख खास नहीं: ग्रीनपीस 

ओबामा के भारत दौरे पर चीन की तल्ख टिप्पणी 

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: modi_obama_business_summit
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
और जाने: ???? ????? ?????? ???? obama in india
First Published:

Related Stories

अमेरिका ने हिजबुल मुजाहिदीन को विदेशी आतंकी संगठन घोषित किया
अमेरिका ने हिजबुल मुजाहिदीन को विदेशी आतंकी संगठन घोषित किया

वाशिंगटन: आतंकी सैयद सलाहुद्दीन को इंटरनेशनल आतंकी घोषित करने के करीब दो महीने बाद आज अमेरिका...

RBI ने नहीं पूरी की नोटों की गिनती तो पीएम ने कैसे किया 3 लाख करोड़ वापस आने का दावा: कांग्रेस
RBI ने नहीं पूरी की नोटों की गिनती तो पीएम ने कैसे किया 3 लाख करोड़ वापस आने का...

नई दिल्ली: कांग्रेस ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के स्वाधीनता दिवस के अवसर पर राष्ट्र के नाम...

'सोनू' के तर्ज पर कपिल मिश्रा का 'पोल खोल' वीडियो, गाया- AK तुझे खुद पर भरोसा नहीं क्या...?
'सोनू' के तर्ज पर कपिल मिश्रा का 'पोल खोल' वीडियो, गाया- AK तुझे खुद पर भरोसा नहीं...

नई दिल्ली : दिल्ली सरकार में मंत्री पद से बर्खास्त किए गए कपिल मिश्रा ने सीएम अरविंद केजरीवाल...

एबीपी न्यूज पर दिनभर की बड़ी खबरें
एबीपी न्यूज पर दिनभर की बड़ी खबरें

1. रिश्तों में टकराव के लिए चीन ने पीएम नरेंद्र मोदी को जिम्मेदार ठहराया है. http://bit.ly/2vINHh4  मंगलवार को...

 'ब्लू व्हेल' गेम पर सरकार सख्त, रविशंकर प्रसाद ने कहा- इसे स्वीकार नहीं किया जा सकता
'ब्लू व्हेल' गेम पर सरकार सख्त, रविशंकर प्रसाद ने कहा- इसे स्वीकार नहीं किया...

नई दिल्ली: जानलेवा ‘ब्लू व्हेल’ गेम को लेकर केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने बुधवार को...

विपक्षी दलों के साथ शरद यादव कल करेंगे 'शक्ति प्रदर्शन'!
विपक्षी दलों के साथ शरद यादव कल करेंगे 'शक्ति प्रदर्शन'!

नई दिल्ली: जेडीयू के बागी नेता शरद यादव कल यानि गुरुवार को अपनी ताकत के प्रदर्शन के लिए सम्मेलन...

भगाए जाने के बाद बोला चीन, लद्दाख में टकराव की कोई जानकारी नहीं
भगाए जाने के बाद बोला चीन, लद्दाख में टकराव की कोई जानकारी नहीं

बीजिंग: चीन ने जम्मू-कश्मीर के लद्दाख में मंगलवार को दो बार भारतीय इलाके में घुसपैठ की कोशिश...

योगी राज में किसानों के 'अच्छे दिन'
योगी राज में किसानों के 'अच्छे दिन'

नई दिल्लीः यूपी के किसानों के लिए खुशखबरी का इंतजार खत्म हो गया है. कल सीएम योगी आदित्यनाथ 7 हज़ार...

दिल्ली में तेज रफ्तार ने ली 24 साल के हिमांशु बंसल की जान
दिल्ली में तेज रफ्तार ने ली 24 साल के हिमांशु बंसल की जान

नई दिल्ली: दिल्ली के कनॉट प्लेस इलाके में तेज रफ़्तार स्पोर्ट्स बाईक से एक्सिडेंट का बड़ा मामला...

कर्नाटक में राहुल ने लॉन्च की इंदिरा कैंटीन, ₹10 में खाना और ₹5 में नाश्ता
कर्नाटक में राहुल ने लॉन्च की इंदिरा कैंटीन, ₹10 में खाना और ₹5 में नाश्ता

बेंगलुरू: कर्नाटक में अगले साल विधानसभा के चुनाव होने हैं और इसकी तैयारी अब से शुरू हो गई है. इसी...

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017