हिंदुत्व हिंदुओं की विरासत है, उनकी जागीर नहीं: मोहन भागवत

By: | Last Updated: Saturday, 11 October 2014 2:52 AM

नई दिल्ली: राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) प्रमुख मोहन भागवत ने आज कहा कि भारत के लोगों ने हिंदुत्व को अपनी जागीर नहीं माना है बल्कि उन्होंने इसे विश्व के लिए विरासत के तौर पर माना है. उन्होंने कहा कि देश में लोगों को इसकी जड़ों को जानने की जरूरत है.

 

भागवत ने यहां विज्ञान भवन में ‘इंसाइक्लोपीडिया ऑफ हिंदुइज्म’’ के अंतरराष्ट्रीय संस्करण के विमोचन के लिए आयोजित एक कार्यक्रम के दौरान ये बातें कहीं. उन्होंने कहा कि यह आवश्यक है कि बच्चों को उनकी जड़ों के बारे में जानकारी दी जाए जो वर्तमान में उनकी शिक्षा और शिक्षा प्रणाली से गायब है.

 

उन्होंने कहा, ‘‘हिंदू शब्द पहले नहीं था. परंपराएंे और धर्म थे पर शब्द नहीं था. उस समय इसे मानवता के रूप में जाना जाता था.’’

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: mohan bhagwat on hindutav
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
और जाने: HINDUTAV Mohan Bhagwat rss
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017