अब इतिहास बनकर रह जाएगी 135 साल पुरानी मनी ऑर्डर सेवा

By: | Last Updated: Wednesday, 1 April 2015 12:33 PM

नई दिल्ली: भारतीय डाक विभाग की ओर से पिछले 135 सालों से दी जा रही मनी ऑर्डर सेवा अब सिर्फ एक इतिहास बनकर ही रह जाएगी. एक अप्रैल यानी आज से मनी ऑर्डर सर्विस की जगह इंस्टेंट मनी ऑर्डर सेवा की शुरुआत हो रही है.

 

जी हां! विगत 135 सालों से भारतीय डाक की शान के रुप में स्थापित और आम लोंगो के बीच एक सशक्त माध्यम के रुप से कार्यरत मनी ऑर्डर सर्विस आज से सिर्फ डाक विभाग का इतिहास ही बनकर रह जाएगी.

 

एक अफ्रैल से शुरु हो रहे नए वित्तिय वर्ष 2015-2016 में मनी ऑर्डर की जगह इंस्टेंट मनी ऑर्डर सेवा की शुरुआत हो रही है. जो कई मायनों में सुरक्षित होने के साथ ही पुरानी मनी ऑर्डर सेवा की तुलना में और भी सुविधाजनक होगा.

 

आपको बता दें कि मनी ऑर्डर सर्विस के तहत कोई व्यक्ति पोस्ट ऑफिस में पैसे और कमीशन जमा कर जिन्हें वह पैसे मिलने होते थे, उनका पता दे देता था. इस पते पर सबसे निकट का पोस्ट ऑफिस डाकिया के जरिए नगद पैसे भेज देता था लेकिन इंस्टेंट मनी ऑर्डर सेवा के तहत जैसे ही पैसा भेजने कोई डाक घर जाता है तो उसे एक कोड नंबर दिया जाता है.

 

पैसे भेजने वाले व्यक्ति को उस कोड नंबर को दूसरी पार्टी को फोन करके बताना होता है. फिर वह व्यक्ति डाक घर में कोड बता कर पैसा हासिल कर सकता है.

 

दरअसल मनी ऑर्डर सर्विस के बंद होने का मुख्य कारण शहरों के साथ-साथ गांवों में भी लोगों का मोबाइल बैंकिंग से लेकर इंटरनेट बैंकिंग पर पूरी तरह से सक्रिय होना है. इससे पहले डाक विभाग ने टेलीग्राफ सेवा भी बंद कर दी थी.

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: money order_service
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
और जाने: ABP business India Post money order service
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017