SPECIAL REPORT: ये बंदर जान पर भारी हैं

By: | Last Updated: Thursday, 20 August 2015 3:51 PM
monkeys terror

नई दिल्ली: नोएडा, फरीदाबाद और गाजियाबाद समेत एनसीआर के कई हिस्सों में बंदरों ने आतंक मचा रखा है. ये आतंक सिर्फ गली मोहल्ले तक नहीं घर की बालकनी से लेकर छत तक और कई बार तो घर के अंदर तक होता है. बंदर हमला करते हैं. हाथ से सामान तक छीन ले जाते हैं. कई बार तो ये हमला इतना खतरनाक होता है कि सिर पर बत्तीस टांके लगने की नौबत आ जाती है.

 

इंसान को लहुलुहान कर देने वाले ये खूनी बंदर हैं. घर की छत पर बंदर, बालकनी में भी बंदर, गेट के बाहर बंदर मानों ये सड़क बंदरों की ही सल्तनत है जहां वो घूमने निकले हए हैं. दहशत का आलम ये है कि छत से लेकर बालकनी तक इनका राज चलता है. ना आप छत पर कपड़े सुखाने जा सकते हैं और ना ही अपने कूलर में पानी भर सकते हैं. बंदरों के खौफ की वजह से लोग अपने ही घर में कैद होकर रह गए हैं.

 

बंदरों के आतंक की ये कहानी गाजियाबाद, नोएडा, फरीदाबाद और गुड़गांव की है एनसीआर के तमाम हिस्सों में बंदरराज चल रहा है. दहशत का आलम ये है कि बंदरों के आतंक के सामने हथियार डाल दो और अगर आपने इन्हें अपने ही घर से इन्हें भगाने की कोशिश की तो ये कोशिश आपकी जान पर भारी पड़ सकती हैं.

 

गाजियाबाद में रहने वाली 46 साल की कविता का बंदरों ने बुरा हाल कर दिया. उनका कुसूर सिर्फ इतना था कि मंगलवार रात 8 बजे वो अपने ही घर से बंदर के एक बच्चे को बाहर निकालने की कोशिश कर रही थीं कि तभी 30 से 40 बंदरों की फौज ने कविता पर हमला कर दिया. कमला के बाल तक उखाड़ दिए.

 

कविता की आवाज सुनकर घर वाले और पड़ोसियों ने उन्हें बचाया. चोट इतनी गहरी है कि कविता के सिर पर 32 टांके लगे हैं. ये अकेले कविता की कहानी नहीं है गाजियाबाद के कई इलाकों और खासकर विजयनगर में बंदरों ने आफत मचा रखी है. घर से निकलने में डर लगता है हाथ में खाने-पीने का सामान तब तो भगवान ही मालिक है. 

 

गुड़गांव के पॉश इलाकों में भी बंदरों ने आतंक मचा रखा है दहशत कुछ ऐसी है कि इन बच्चों के घर से बाहर निकलने पर भी आफत हो गई है. खून से सने फर्श की ये तस्वीरे गुड़गांव के सेक्टर 4 की हैं जहां कुछ दिन पहले शाम के वक्त बंदरों के झुंड ने हमला कर दिया. उस वक्त घर में तीन छोटे बच्चे और उनकी मां थी.

 

बच्चों की चीख सुनकर पड़ोस में रहने वाले 60 साल के बुजुर्ग विनोद ने बंदरों को भगाने की कोशिश की लेकिन उनकी दोनों टांगों को बंदरों ने नोच खाया. विनोद को अस्पताल में भर्ती करना पड़ा.  जब बंदरों ने हमला किया तो महिला ने पति को फोन किया पति ने 100 नंबर पर फोन करने को कहा लेकिन फोन करने पर जवाब मिला कि ” हम यहा लोगो को बंदरों से बचाने के लिए बैठे है क्या .”

 

गुड़गांव नगर निगम को फोन लगाया तो उन्होंने भी जिला उपायुक्त के पर्सनल असिस्टेंट का नंबर थमा दिया. उन्होंने भी मदद नहीं की सलाह दी कि – ” अभी तो बंदरों से अपने आप निपटो हम यहा सेंचुरी थोड़े ही खोलकर बैठे है जो बंदरों को पकड़कर वहा छोड़ आयेंगे , कल आ जाना कोई हल निकालेंगे ”

 

गुड़गांव में तो पुलिस ने लोगों की मदद नहीं की लेकिन नोएडा में तो पुलिसवाले ही बंदरों के खौफ में जी रहे हैं  नोएडा के सेक्टर 14 A की हैं जहां पुलिसवाले भी बंदरों के आतंक से परेशान हैं. बंदरों की फौज ने यहां डेरा जमा रखा है. बंदरों को घरों से दूर रखने के लिए लोग यहां सड़क किनारे गेहूं और गुड़ रख देते हैं. देखिए बंदर कैसे खाना खाने के बाद इन्हीं पुलिसवालों के घर के नल से अपनी प्यास भी बुझा रहे हैं. इलाके के रेहड़ी और फलवालों के तो ये बंदर सबसे बड़े दुश्मन बन चुके हैं.

 

नोएडा के सेक्टर 12 में तो बंदरों ने अपने आने का समय भी तय कर दिया है सुबह आठ से दस और शाम को चार से छह बजे के बीच. जब-जब बंदरों की फौज आती है तो घर हो या फिर छत पर रखी पानी की टंकी–हर तरफ बंदर तोड़फोड़ मचा देते हैं.

 

फरीदाबाद के नेहरू ग्राउंड इलाके में बंदर घर के अंदर घुसकर फ्रिज खोलकर सामान ले जाते हैं. शीशे तोड़ देते हैं और बची कुसी कसर लोगों पर हमला करके पूरी कर देते हैं. यहां तो लोग दरवाजा खोलने से भी डरते हैं क्योंकि कई बार बंदर इस तरह से दस्तक देते हैं जैसे कोई इंसान खटखटा रहा हो.

 

दावा है कि फरीदाबाद नगर निगम बंदरों पर काबू पाने की कोशिश कर रहा है टीम बनाई गई है.. अलग से फंड का प्रस्ताव सरकार को भेजा जा रहा है लेकिन फिलहाल कुछ होता दिखाई नहीं दे रहा

 

जो कभी बंदरों के आतंक से मचने वाली दहशत के गवाह नहीं बने उनके लिए अंदाजा लगाना मुश्किल है कि इनके खौफ में जीना कितना डरावना होता है. शायद इसीलिए लोगों पर हो रहे हमलों के बावजूद भी कई इलाकों में प्रशासन ने अपनी आंखें बंद कर रखी हैं.

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: monkeys terror
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Related Stories

बिहार: सृजन घोटाले में बड़ा खुलासा, सामाजिक कार्यकर्ता का दावा- ‘नीतीश को सब पता था’
बिहार: सृजन घोटाले में बड़ा खुलासा, सामाजिक कार्यकर्ता का दावा- ‘नीतीश को सब...

पटना:  बिहार में सबसे बड़ा घोटाला करने वाले सृजन एनजीओ में मोटा पैसा गैरकानूनी तरीके से सरकारी...

यूपी: वाराणसी में लगे PM मोदी के लापता होने के पोस्टर, देर रात पुलिस ने हटवाए
यूपी: वाराणसी में लगे PM मोदी के लापता होने के पोस्टर, देर रात पुलिस ने हटवाए

वाराणसी: उत्तर प्रदेश में वाराणसी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का संसदीय क्षेत्र है. यहां पर कुछ...

एबीपी न्यूज़ की खबर का असर, गायों की मौत के मामले में बीजेपी नेता गिरफ्तार!
एबीपी न्यूज़ की खबर का असर, गायों की मौत के मामले में बीजेपी नेता गिरफ्तार!

रायपुर: एबीपी न्यूज की खबर का असर हुआ है. छत्तीसगढ़ में गोशाला चलाने वाले बीजेपी नेता हरीश...

जानिए क्या है फिजिक्स के प्रोफेसर की बाइक में बम का सच
जानिए क्या है फिजिक्स के प्रोफेसर की बाइक में बम का सच

नई दिल्लीः आजकल सोशल मीडिया पर एक टीचर की वायरल तस्वीर के जरिए दावा किया जा रहा है कि वो अपनी...

19 अगस्त को गोरखपुर में होंगे राहुल गांधी, खुद के लिए नहीं लेंगे एंबुलेंस और पुलिस
19 अगस्त को गोरखपुर में होंगे राहुल गांधी, खुद के लिए नहीं लेंगे एंबुलेंस और...

लखनऊ: कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी 19 अगस्त को यूपी के गोरखपुर जिले के दौरे पर रहेंगे. राहुल...

नेपाल से बातचीत के जरिए ही निकल सकता है बाढ़ का स्थायी समाधान: सीएम योगी
नेपाल से बातचीत के जरिए ही निकल सकता है बाढ़ का स्थायी समाधान: सीएम योगी

सिद्धार्थनगर/बलरामपुर/गोरखपुर: उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शुक्रवार को...

पीएम मोदी ने की नेपाल के प्रधानमंत्री से बात, बाढ़ से निपटने में मदद की पेशकश की
पीएम मोदी ने की नेपाल के प्रधानमंत्री से बात, बाढ़ से निपटने में मदद की पेशकश...

नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने शुक्रवार को नेपाल के अपने समकक्ष शेर बहादुर देउबा से...

एबीपी न्यूज पर दिनभर की बड़ी खबरें
एबीपी न्यूज पर दिनभर की बड़ी खबरें

1. डोकलाम विवाद के बीच पीएम नरेंद्र मोदी का चीन जाना तय हो गया है. ब्रिक्स देशों के सम्मेलन के लिए...

सरकार के रवैये से नाराज यूपी के शिक्षामित्रों ने फिर शुरू किया आंदोलन
सरकार के रवैये से नाराज यूपी के शिक्षामित्रों ने फिर शुरू किया आंदोलन

मथुरा: यूपी के शिक्षामित्र फिर से आंदोलन के रास्ते पर चल पड़े हैं. सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद...

बाढ़ से रेलवे की चाल को लगा 'ग्रहण', सात दिनों में करीब 150 करोड़ का नुकसान
बाढ़ से रेलवे की चाल को लगा 'ग्रहण', सात दिनों में करीब 150 करोड़ का नुकसान

नई दिल्ली: असम, पश्चिम बंगाल, बिहार और उत्तर प्रदेश में आई बाढ़ की वजह से भारतीय रेल को पिछले सात...

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017