व्यापम घोटाले के आरोपी शैलेश यादव की लखनऊ में संदिग्ध मौत

By: | Last Updated: Wednesday, 25 March 2015 7:08 AM
MP Governor’s son dead under mysterious circumstances, his name had surfaced in Vyapam scam

नई दिल्ली: व्यापम घोटाले के घोटाले के आरोपी और मध्य प्रदेश के राज्यपाल राम नरेश यादव के बेटे शैलेश यादव की मौत हो गई है. शैलेश और राम नरेश का नाम आरोपियों की लिस्ट में है.

 

शैलेश यादव का शव लखनऊ में उनके घर से मिला है. कहा तो ये गया है कि ब्रेन हेमरेज से मौत हुई है लेकिन घोटाले से कनेक्शन जुड़ा होने के कारण मौत से सनसनी मच गई है. व्यापम घोटाले में शैलेश यादव पर दो केस दर्ज थे. व्यापम घोटाले में शैलेश यादव पर संविदा शिक्षक पद के 10 आवेदकों से पैसे लेकर पास कराने का आरोप है.

 

पिता और बेटे दोनों ही व्यापम घोटाले में आऱोपी हैं. व्यापम की जांच कर रही एसटीएफ उनकी तलाश कर रही थी लेकिन शैलेश हाथ नहीं आ रहे थे. राम नरेश यादव के ओएसडी धनराज यादव को भी इस मामले में गिरफ्तार किया जा चुका है.

 

क्या है व्यापम घोटाला-

मध्यप्रदेश में प्रवेश और नौकरी भर्ती के लिए आयोजित की जाने वाली परीक्षाओं में हुआ घोटाला अब तक का सबसे बड़ा घोटाला माना जाता है.  इस घोटाले में कई बड़े नाम सलाखों के पीछे पहुंच चुके हैं. 100 से ज्यादा आरोपियों की गिरफ्तारी कोशिश में जुटी है एसटीएफ. खुद हाईकोर्ट इस मामले की जांच पुलिस की स्पेशल इनवेस्टीगेशन टीम से करवा रही है और हर खुलासा चौंका रहा है.

 

  • सरकारी नौकरी में 1000 फर्जी भर्तियां

  • मेडिकल कॉलेज में 514 फर्जी भर्तियों का शक

  • भर्ती घोटाले में पूर्व मंत्री गिरफ्तार

  • पूर्व मंत्री के ओएसडी भी गिरफ्तार

  • मुख्यमंत्री का पूर्व ओएसडी जांच के घेरे में

  • 100 से ज्यादा लोगों को आरोपी बनाया गया

 

मेडिकल कॉलेजों में ही भर्ती के 514 मामले शक के घेरे में हैं. वहीं सरकारी नौकरियों में 1000 भर्ती की बात खुद शिवराज सिंह चौहान विधानसभा में मान चुके हैं. 2008 से 2010 के बीच सरकारी नौकरियों के 10 इम्तिहानों में धांधली का भी आरोप है.

 

आखिर गड़बड़ होती कैसे थी-

  • अब तक इस मामले में गिरफ्तार हुए छात्रों से हुई पूछताछ के मुताबिक ये धंधा इम्तिहान से लेकर नतीजों में हेरफेर के जरिए चल रहा था.

  • कैंडीडेट को फर्जी परीक्षार्थी के करीब बिठाया जाता था ताकि वो नकल कर सके

  • कैंडीडेट की जगह फर्जी छात्र बिठा दिए जाते थे

  • कैंडीडेट आंसरशीट खाली छोड़ देता था जिसे बाद में भरा जाता था

  • रिजल्ट के अंकों को बाद में बढ़ा दिया जाता था

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: MP Governor’s son dead under mysterious circumstances, his name had surfaced in Vyapam scam
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017