मध्यप्रदेश: दिग्गी का दावा, व्यापम घोटाले में अब तक 41 आरोपियों की मौत

By: | Last Updated: Monday, 29 June 2015 3:56 AM

इंदौर : मध्य प्रदेश के व्यापम यानी मध्य प्रदेश के व्यावसायिक परीक्षा मंडल घोटाले में आरोपियों की मौत का सिलसिला जारी है. पिछले 24 घंटे में 2 आरोपियों की मौत हुई है. इंदौर जेल में कल एक आरोपी की मौत हुई है, जबकि एक आरोपी की मौत अस्पताल में हुई है.

 

कांग्रेस महासचिव दिग्विजय सिंह ने आंकड़ा दिया है कि अब तक 41 आरोपियों की मौत हो गई है. व्यापम आरोपियों की मौत को लेकर विवाद है लेकिन मध्य प्रदेश के गृह मंत्री बाबू लाल गौर का कहना है कि मौत पर किसी का बस नहीं है. राह चलते भी मौत हो जाती है.

 

व्यापम घोटाले का रहस्य दिनोंदिन गहराता जा रहा है. अस्पताल में इलाज के दौरान राजेंद्र आर्य की मौत हो गई साथ ही इस घोटाले से जुड़े एक और आरोपी नरेंद्र कैलाश सिंह तोमर (30) की शनिवार की देर रात इंदौर की जिला जेल में संदिग्ध हालत में मौत हो गई. मृतक के भाई ने नरेंद्र की मौत के पीछे साजिश की आशंका जताई है और इस घटना की सीबीआई से जांच कराने की मांग की है.

 

41वें आरोपी की मौत

 

दिग्विजय सिंह के मुताबिक यह व्यापम घोटाले के 41वें आरोपी की मौत है. जिला जेल अधीक्षक आर.सी. भाटी ने रविवार को संवाददाताओं को बताया कि मुरैना के पोरसा गांव निवासी नरेंद्र (पिता कैलाश सिंह तोमर) को 24 फरवरी को जिला जेल में लाया गया था. उसके खिलाफ व्यापम के जरिए आयोजित परीक्षा में सल्वर के रूप में किसी और के नाम पर परीक्षा देने का आरोप था.

 

शानिवार की रात लगभग 11 बजे उसकी तबीयत खराब होने की सूचना जेल अधिकारियों को मिली थी. उसे पहले जेल में ही प्राथमिक उपचार दिया गया. मगर उसकी तबीयत बिगड़ती चली गई. इसके बाद उसे एमवाई अस्पताल भेजा गया, जहां उसने दम तोड़ दिया.

 

नरेंद्र के भाई विक्रम सिंह तोमर ने संवाददाताओं से कहा कि वह 26 जून को ही अपने भाई से जेल में मिलकर आया था, वह पूरी तरह स्वस्थ था. जेल प्रशासन दिल का दौरा पड़ने से मौत होने की बात कह रहा है, जो गले नहीं उतर रही है.

 

उन्होंने कहा कि परिवार में किसी को भी दिल की बीमारी नहीं है. विक्रम ने सरकार से इस घटना की जांच सीबीआई से कराने की मांग की है.

 

व्यापमं घोटाले में पकड़े गए 40 आरोपियों की मौत हो चुकी है. नरेंद्र 41वां आरोपी है, जिसकी मौत हुई है.

 

विपक्षी कांग्रेस ने भाजपा सरकार से नरेंद्र की संदिग्ध परिस्थितियों में हुई मौत की मजिस्ट्रियल जांच की मांग की है.

 

कांग्रेस प्रवक्ता के.के. मिश्रा ने कहा कि व्यापमं घोटाला शिवराज सिंह चौहान के राज का महाघोटाला है. इस सिलसिले में 41वीं मौत होना इस बात का सूबत है कि इसकी जड़ें काफी गहरी और दूर तक फैली हुई है.

 

उन्होंने कहा, “लगता है, इस महाघोटाले में शंका की सुई जैसे-जैसे बड़े सफेदपोश लोगों की ओर घूमेगी, इससे जुड़े लोगों की संदिग्ध हालात में मौत का सिलसिला जारी रहेगा.”

 

कांग्रेस ने सरकार से मांग की है कि व्यापमं घोटाले के आरोप में जेल में बंद पूर्व शिक्षा मंत्री लक्ष्मीकांत शर्मा, खनिज माफिया सुधीर शर्मा और हाल ही में गिरफ्तार डीमेट घोटाले के मास्टर माइंड यू.सी. उपरीत की जेल में सुरक्षा बढ़ाई जाए.

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: mp vyapan scam 2 accused died in 23 hour
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
और जाने: accused died Scam Vyapam
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017