मोदी सरकार ने महापुरूषों के नाम पर किया योजनाओं का ऐलान

By: | Last Updated: Thursday, 10 July 2014 1:21 PM
narendra_modi_pm_budget_arun_jetly

नयी दिल्ली : नरेन्द्र मोदी सरकार ने आज अपने पहले आम बजट में देश के अनेक महापुरूषों के नाम पर विभिन्न कल्याणकारी योजनाओं की शुरूआत का प्रस्ताव रखा. इनमें कई योजनाएं पार्टी के पूर्व नेताओं के नाम पर हैं.

 

यहां पढ़ें : निवेश के लिए सरकार ने क्या किया है? 

बिजली को आर्थिक विकास का महत्वूपर्ण अंग करार देते हुए वित्त मंत्री अरुण जेटली ने अपने बजट भाषण में ग्रामीण क्षेत्रों में बिजली की आपूर्ति बढ़ाने के लिए ‘दीन दयाल उपाध्याय ग्राम ज्योति योजना’ शुरू करने का प्रस्ताव किया और इसके लिए 500 करोड़ रूपए की राशि निर्धारित की.

 

बजट : ढाई लाख तक कोई टैक्स नहीं, टीवी, कंप्यूटर पार्ट्स, जूते होंगे सस्ते  

आइए जानते हैं कौन-कौन चीजें होंगीं सस्ती 

इसी तरह ग्रामीण क्षेत्रों में समेकित परियोजना आधारित आधारभूत ढांचा विकसित करने के लिए ‘श्यामा प्रसाद मुखर्जी ग्रामीण शहरी मिशन’ शुरू करने का भी वित्त मंत्री ने प्रस्ताव पेश किया. उन्होंने बताया कि इस मिशन में आर्थिक गतिविधियां और कौशल विकास भी शामिल है. इसमें विभिन्न योजना अनुदानों का इस्तेमाल करते हुए सार्वजनिक निजी भागीदारी को प्राथमिकता दी जाएगी.

 

श्यामा प्रसाद मुखर्जी और दीनदयाल उपाध्यक्ष जनसंघ के संस्थापक थे जो अब भारतीय जनता पार्टी है.

बजट 2014: मोदी सरकार के बजट की अहम बातें 

गंगा में होगा यातायात, इलाहाबाद से हल्दिया तक पानी में चलेगा जहाज 

वित्त मंत्री ने पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी के नेतृत्व वाली राजग सरकार के दौरान शुरू की गयी प्रधानमंत्री ग्रामीण सड़क योजना (पीएमजीएसवाई) का उल्लेख किया और कहा, ‘‘माननीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के ओजस्वी नेतृत्व में बेहतर और अधिक उर्जावान पीएमजीएसवाई के लिए हमारी प्रतिबद्धता व्यक्त करने का समय है. मैं 14389 करोड़ की धनराशि उपलब्ध कराने का प्रस्ताव करता हूं.’’ इसके साथ ही उन्होंने प्रधानमंत्री के नाम पर कृषि सिंचाई योजना शुरू करने का प्रस्ताव किया और इसके लिए 1000 करोड़ रूपए का प्रावधान किया.

 

उन्होंने कहा कि किसानों के जोखिम को खत्म करने के लिए सिंचाई की जरूरत है क्योंकि कृषि भूमि वष्रा और मानसून पर आधारित है. इस योजना से सिंचाई की सुविधा मिलेगी.

 

अपने बजट भाषण में जेटली ने बताया कि देश के पहले गृहमंत्री सरदार वल्लभ भाई पटेल की विशाल प्रतिमा की स्थापना के लिए गुजरात सरकार को 200 करोड़ रूपए की राशि आवंटित की गई है. सरदार पटेल को एकता का प्रतीक बताते हुए जेटली ने बताया कि यह राशि गुजरात को इस योजना में मदद के लिए निर्धारित की गई है.

 

राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के 150वें जन्म दिवस पर सरकार वर्ष 2019 में प्रत्येक घर को पूर्ण रूप से स्वच्छ रखने की योजना बना रही है.

 

वित्त मंत्री ने कहा कि सरकार अपनी सीमा के भीतर संसाधन उपलब्ध करा रही है लेकिन यह काम सभी के सहयोग के बिना संभव नहीं होगा.

 

शिक्षा के महत्व पर बल देते हुए वित्त मंत्री ने नए प्रशिक्षण संबंधी उपकरण प्रदान करने तथा अध्यापकों को अभिप्रेरित करने के लिए ‘‘पंडित मदन मोहन मालवीय नव अध्यापक प्रशिक्षण कार्यक्रम’’ शुरू करने का प्रस्ताव रखा. प्रारंभिक राशि के तौर पर वित्त मंत्री ने इस कार्यक्रम के लिए 500 करोड़ रूपए का प्रावधान करने का ऐलान किया.

 

इसके अलावा मध्य प्रदेश में मानविकी में जय प्रकाश नारायण राष्ट्रीय उत्कृष्टता केन्द्र स्थापित करने का प्रस्ताव रखा गया है.

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: narendra_modi_pm_budget_arun_jetly
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017