‘शरीफ’ पर भरोसा करना मोदी की बड़ी भूल है?

Nawaz Sharif calls up Narendra Modi

जैसे पृथ्वी गोल है उसी तरह भारत और पाकिस्तान के रिश्ते भी गोल हैं. आजादी के बाद जो भी प्रधानमंत्री भारत और पाकिस्तान के रिश्ते को जहां से सुधारने की शुरुआत की फिर वहीं पहुंच गये हैं. देश के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी भी पाकिस्तान से रिश्ते सुधारने की कोशिश कर रहें हैं लेकिन बात आगे नहीं बढ़ रही है बल्कि फंसती हुई दिख रही है. राजनीति में दुश्मन का दुश्मन दोस्त होता है लेकिन कूटनीतिक मे दुश्मन को दोस्त बनाने से पहले एक बार नहीं बल्कि हजार बार सोचना चाहिए.

खासकर जब दुश्मन पाकिस्तान जैसा हो तो और ही एहतियात बरतने की जरूरत है जिसने एक बार नहीं दो बार नहीं बल्कि कई बार धोखा दे चुका है. ऐसे में दिल से नहीं बल्कि दिमाग से फैसले लेने की जरूरत है. खासकर जब भारत पाकिस्तान से हाथ बढ़ाने की कोशिश करता है तब तो खासकर पाकिस्तान की तरफ से पीठ में छुरा घोंपा जाता है. जीता जागता उदाहरण है नरेन्द्र मोदी का लाहौर दौरा. मोदी पिछले ही महीने 25 दिसंबर को लाहौर का दौरा किया था और दोनों देशों के रिश्ते सुधारने की कवायद शुरू की थी. एक हफ्ते भी नहीं बीते कि पाकिस्तान के आतंकवादियों ने पठानकोट एयरबेस पर हमला कर दिया जिसमें 7 भारतीय सैनिक शहीद हुए और 6 आतंकवादी ढ़ेर हुआ.

जैसा कहा जा रहा है कि अगर भारतीय खुफिया तंत्र सक्रिय नहीं होता तो शायद और बड़ा हादसा हो सकता है. नरेन्द्र मोदी पाकिस्तान के ऐसे प्रधानमंत्री नवाज शरीफ से हाथ बढ़ाने की कोशिश की है जिनका न तो सेना पर पकड़ है न ही है आतंकवादियों पर असर है. यही नवाज शरीफ हैं जिन्होंने अटल बिहारी वाजपेयी से दोस्ती का हाथ बढ़ाने की कोशिश की तो वहां की सेना ने नवाज शरीफ की सत्ता का तख्ता पलट दिया था. यही नहीं एक चुने हुए प्रधानमंत्री को सेना ने कैद कर लिया था. सबसे बड़ा सवाल है कि आप किससे दोस्ती का हाथ बढ़ा रहें हैं? जिनके पास कहने का प्रधानमंत्री का पद है लेकिन सतही तौर पर उनकी बात न तो उनकी सेना मानती है और तो और आतंकवादियों का पाकिस्तान में समांनातर सत्ता चलती है.

वहां पर आतंकवादियों बोलाबोला है जहां चाहता है वहां पर दहशत पैदा कर देता है. चाहे वो करगिल का युद्ध हो या मुंबई 26/11 का हमला हो, चाहे 1965 का युद्ध हो और 1971 के युद्ध में मुंह की खानी पड़ी हो लेकिन पाकिस्तान कभी भी सबक सीखने को तैयार नहीं है. कहा जाता है कि पाकिस्तान आतंक की फैक्ट्री है. दाऊद इब्राहिम से लेकर कंधार विमान का अपहरणकर्ता पाकिस्तान में छुपे होने की सबूत है लेकिन पाकिस्तान इससे मानने के लिए तैयार नहीं है. अब पठानकोट पर हमला हुआ है तो नवाज शरीफ प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को फोन किया है. मोदी ने कड़े शब्दों में पठानकोट हमले के लिए जिम्मेदार लोगों और संगठनों के खिलाफ तुरंत कार्रवाई के लिए कहा है.

नवाज शरीफ ने भरोसा दिया कि उनकी सरकार आतंकियों के खिलाफ जरूरी और सख्त कदम उठाएगी लेकिन क्या नरेन्द्र मोदी को नवाज शरीफ की बात पर भरोसा करना चाहिए. क्या इसके पहले नवाज शरीफ ने करगिल युद्ध के लिए जिम्मेदार परवेज मुशर्रफ के खिलाफ क्या कार्रवाई की है. क्या वहां की सेना और आतंकवादी संगठन दहशतगर्दों पर कार्रवाई करने देगी. तो फिर नवाज शरीफ के भरोसे का क्या मतलब है. वैसे भारत ने कहा है कि पठानकोट में मारे गए 6 आतंकियों के पास पाकिस्तान का सामान मिला है और ये सबूत पाकिस्तान को दिया भी गया है . जबकि मोदी इसके पहले बोल चुके हैं कि बंदूक की गोली की गूंज में बातचीत कैसे हो सकती है. मोदी ने पीएम बनने के साथ ही अपने शपथ ग्रहण समारोह में नवाज शऱीफ को आमंत्रित किया था.

मोदी की पहल से तो यही लग रहा है कि पाकिस्तान से वो रिश्ता सुधारना चाहते हैं लेकिन दोनों देशों के रिश्तों के बीच में आतंकी और आर्मी खड़े हो जाते हैं. ये भी सही है कि नरेन्द्र मोदी अगर पाकिस्तान नहीं जाते तब भी ऐसे हमले हो सकते हैं. जाहिर है कि भारत और पाकिस्तान के बीच रिश्ते तब तक नहीं सुधर सकते हैं जब तक पाकिस्तान अपने देश में आतंकी संगठन को नेस्तनाबूद नहीं कर देते हैं. यही नहीं वहां की सेना पर भी नकेल कसने की जरूरत है. खैर मोदी पाकिस्तान से रिश्ता सुधारने की कोशिश कर रहें हैं. ये समय भी बताएगा कि वो कितने पास होते हैं और कितने फेल होते हैं. लगता तो यही है कि वो भी भारत-पाकिस्तान के रिश्ते की एक परिक्रमा के अलावा शायद ही कुछ हासिल कर पाएंगे.

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: Nawaz Sharif calls up Narendra Modi
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
और जाने: Narendra Modi Nawaz Sharif
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017