15 साल पुराना एनसीपी-कांग्रेस गठबंधन भी टूटा

By: | Last Updated: Thursday, 25 September 2014 2:33 PM

नई दिल्ली : महाराष्ट्र में अब चारों पार्टियां अलग-अलग चुनाव लड़ेंगी. 25 साल पुराना रिश्ता महाराष्ट्र में टूट गया. सियासत में कोई रिश्ता टिकाऊ नहीं होता लेकिन बीजेपी-शिवसेना गठबंधन 25 साल चला. आज बीजेपी ने प्रेस कॉन्फ्रेंस करके इस रिश्ते को तोड़ने का ऐलान कर दिया. इसके बाद एनसीपी ने अपनी प्रेस कॉन्फ्रेस की.  एनसीपी नेता अजीत पवार ने कहा कि हम राज्यपाल से मिलकर सरकार से बाहर होने की चिट्ठी देंगे.

राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी के नेता प्रफुल्ल पटेल ने कहा कि 1999 में राष्ट्रवादी की स्थापना हुई. महाराष्ट्र में कांग्रेस और राष्ट्रवादी कांग्रेस के बीच समझौता की वजह धर्मनिरपेक्ष सरकार बनाना था. धर्मनिरपेक्ष सरकार बनाने के लिए हम यूपीए के साथ हुए.

 

पिछले 15 साल से हमारे विधायक और मंत्री कांग्रेस का साथ देकर सत्ता चलाई. एक समय ऐसा भी आया कि कांग्रेस के विधायकों की संख्या हमसे कम थीं फिर भी हमने कांग्रेस को मुख्यमंत्री पद देकर सौम्य और सभ्यता दिखाया.

 

15 साल से हमारा गठबंधन चल रहा था. एनसीपी ने हमेशा कांग्रेस का साथ दिया. हम 144 सीटें मांग रहे थे. हम कांग्रेस से आधी सीटें मांग रहे थें. कांग्रेस के 2 और एनसीपी के चार सांसद हैं. हमने यह भी कहा कि हर बार आपके मुख्यमंत्री रहते हैं इसबार कम से कम ढाई-ढाई साल मुख्यमंत्री रहे. उन्होंने 124 का प्रस्ताव दिया था. हमने कहा कि नया प्रस्ताव लाएं. किसी ने कोई औपचारिक रूप से हमसे बात नहीं की.

 

हमारी चर्चा धर्मनिरपेक्ष पार्टियों से चल रही है. जो भी होगा सबको बताया जाएगा. एनसीपी नेता अजीत पवार ने कहा कि हम चाहते हैं कि सेक्यूलर वोट एक जगह रहे. हमारे नेता हमेशा सकारात्मक भूमिका देते रहे. विलासराव देशमुख, सुशील कुमार शिंदे थे तो हमारे बीच संवाद थे. कभी कोई संवादहीनता नहीं थी.

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: ncp announced end of coalition with congress!
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
और जाने: Congress Ncp
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017