नीतीश मतलब बिहार नहीं: बीजेपी

By: | Last Updated: Wednesday, 5 August 2015 2:05 PM
nda leaders reply on nitish kumar’s letter

नई दिल्ली: नीतीश कुमार की चिट्ठी के जवाब में एनडीए ने बिहार के लोगों के नाम खुली चिट्ठी जारी की. चिट्ठी में लिखा कि नीतीश का मतलब बिहार नहीं.

 

बिहार के सीएम नीतीश कुमार ने पीएम मोदी को चिट्ठी लिखकर डीएनए वाले बयान पर एतराज जताया तो एनडीए ने भी एक चिट्ठी निकाल दी. ये चिट्ठी राम विलास पासवान, उपेंद्र कुशवाहा, जीतन राम मांझी, सुशील मोदी और सी पी ठाकुर के नाम से लिखी गई है.

 

यहां पढ़िए पूरी चिट्ठी

सब कुछ दांव पर लगाया बारी-बारी, अब बिहार की बारी!

एक पत्र बिहार की जनता के नाम

 

बिहार के प्रिय बहनों और भाईयों,

 

आज सुबह जारी हुआ बिहार के मुख्यमंत्री का पत्र बहुत निराशाजनक है. हम सोच रहे थे कि ये पत्र बिहार की प्रगति को लेकर होगा. बिहार की उन्नति को लेकर होगा. लेकिन हम गलत सोच रहे थे. इस पत्र के बारे में ‘खोदा पहाड़ और निकली चुहिया’ भी नहीं कहा जा सकता, क्योंकि इसमें बिहार और बिहारवासियों की उन्नति के बारे में एक शब्द नहीं है.

 

हमें पीड़ा इस बात की है कि जिस बिहार के पास देश का ग्रोथ इंजन बनने की क्षमता है, उस बिहार की आवाज को एक आदमी की आवाज, एक मुख्यमंत्री और उसके हठ की आवाज बनाने की साफ, निंदनीय और सोची समझी साजिश की गई है. बिहार में लोगों को हांक कर अपने इशारों पर चलाने की कोशिश कभी कामयाब नहीं हुई है. हम विनम्रता पूर्वक कहना चाहते हैं कि- ‘Bihar is not Nitish Kumar and Nitish Kumar is not Bihar. मैं ही बिहार हूं, यह नीतीश का भ्रम है.’ बिहार के मुख्यमंत्री का पत्र बताता है कि एक व्यक्ति अपने हठ और सत्तालोलुपता के लिए किस हद तक जा सकता है.

 

साफ है कि मुख्यमंत्री का ये कदम बिहार के लोकाचार के अनुरूप नहीं है. बिहार तो लोकतंत्र, सहिष्णुता, संवाद और दूरदर्शी नेतृत्व की भूमि है. बिहार से ही भगवान बुद्ध ने शांति और सहिष्णुता का संदेश दिया. ये बिहार ही है जिसका इतिहास लोकतांत्रिक परंपराओं से संमृद्ध है और ये बिहार ही है जो सिकंदर जैसे आक्रांताओं का मानमर्दन करने की क्षमता रखता है. गरीबों, वंचित, शोषित और महादलितों का अपमान बिहार की संस्कृति नहीं है, लेकिन श्री नीतीश कुमार को ऐसा करने में ही आनंद आता है.

 

इससे पता चलता है कि श्री नीतीश कुमार के सलाहकार एक बार फिर फेल साबित हुए हैं. लेकिन, इसमें अचरज की बात नहीं, क्योंकि इससे पहले भी वो अपने आसपास रहने वाले चाटुकारों की मंडली के बहकावे में आकर मानने लगे थे कि वो भारत के प्रधानमंत्री बन सकते हैं. इस कारण उन्होंने भाजपा के साथ अपना गठबंधन भी तोड़ दिया. उसके बाद इतिहास साक्षी है कि क्या हुआ.

 

हालांकि श्री नीतीश कुमार से इतनी तो अपेक्षा की ही जा सकती है कि उनमें शब्दों और मुद्दों की समझ होगी. प्रधानमंत्री ने 26 जुलाई को मुजफ्फरपुर के अपने भाषण में श्री नीतीश कुमार जी की राजनीतिक यात्रा के बारे में एकदम सटीक और प्रासंगिक टिप्पणी की, जिसे हमारी (और अन्य कई लोगों की भी) राय में छल, कपट और एहसानफरामोशी के रूप में व्यक्त किया जा सकता है.

 

प्रधानमंत्री का बयान श्री नीतीश कुमार (न कि बिहार) के राजनीति डीएनए के बारे में था (न ही उनके या बिहार के डीएनए के बारे में, जैसा कि उन्होंने उसे शरारतपूर्वक प्रचारित किया). श्री नीतीश कुमार, प्रधानमंत्री को लिखने से पहले आप कृपया अपने राजनीतिक लाभ के लिए प्रधानमंत्री के शब्दों को तोड़ने-मरोड़ने और बिहार को नीचा दिखाने के लिए बिहार की जनता से माफी मांगिए.

 

हम बिहार के लोगों को बताना चाहते हैं कि एनडीए की सरकार आने के बाद बीते एक साल में बिहार की प्रगति में उल्लेखनीय वृद्धि हुए है. बात चाहें मंत्रालयों में प्रतिनिधित्व की हो, संसाधनों के आवंटन की हो या विकास परियोजनाओं के पूरा होने की हो, बिहार हमेशा प्राथमिकता पर रहा है. जिन लोगों ने कहा कि प्रधानमंत्री इन 14 महीनों में कभी बिहार नहीं आए, उनसे हमारा कहना है कि क्या उन्होंने कभी उस समय निराशा जताई जब पिछले प्रधानमंत्री को उनके दस वर्षों के कार्यकाल में एक बार किए गए हवाई सर्वे को छोड़ कभी बिहार आने का मौका नहीं मिला.

 

श्री नीतीश कुमार के राजनीति की ABCD है- Arrogance, Betrayal, Conspiracy and Deceit.  कोई आश्चर्य नहीं कि श्री लालू प्रसाद यादव ने उनके बारे में कहा, “ऐसा कोई सगा नहीं, जिसको नीतीश ने ठगा नहीं.” प्रिय लालू जी से बेहतर उन्हें कौन जानता है. और क्या ऐसा कहने के लिए उन्होंने कभी उन्हें खुली चिट्ठी लिखी है.

 

बिहार के मुख्यमंत्री ने जेपी और लोहिया का उद्धरण भी दिया है, लेकिन हमें ये सोचकर भी कंपकपी आती है कि जेपी और लोहिया जी इस नई दोस्ती, और जिन्हें वो सपोर्ट कर रहे हैं (पहले चुपचाप और अब खुलकर), उनके बारे में क्या कहते. आखिर वो आजाद भारत की अब तक की सबसे भ्रष्ट सरकार यूपीए 2 का समर्थन करने के पाप से कैसे मुक्त हो सकते हैं. 

 

जब श्री नीतीश कुमार ने भाजपा के साथ गठबंधन तोड़ा तो आप जानते हैं कि सबसे बड़ा नुकसान क्या हुआ- बिहार के विकास और बिहार के लोगों की आकांक्षाओं पर कुठाराघात. आपने विकास की उम्मीद के साथ एनडीए को वोट दिया था. और ये उम्मीद एक व्यक्ति के हठ और महत्वाकांक्षा के आगे बिखर गई. गठबंधन टूटने के बाद श्री नीतीश कुमार के दोनों कार्यकाल ने ‘सुशासन बाबू’ के मिथक का सच सामने ला दिया दिया है.

 

इसके अलावा, हमें खुशी इस बात की है कि बिहार के मुख्यमंत्री को एक नया काम मिल गया है- श्री नरेंद्र मोदी को पत्र लिखने का काम. उन्होंने इसके लिए एक स्पेशल बेवसाइट भी बनाई है. हमें विश्वास है कि ये पहला पत्र है और बाकी आने वाले हैं, क्योंकि नवंबर 2015 के बाद उनके पास पत्र लिखने के लिए खूब समय होगा. खास बात ये है कि अब हम उन्हें उन माध्यमों के जरिए पत्र पोस्ट करते हुए देख रहे हैं, जिन्हें वो पहले तुच्छ मानकर खारिज कर देते थे.

DNA वाला बयान वापस लेंगे मोदी?

 

पीएम को नीतीश का खुला पत्र, DNA वाले बयान पर मोदी मांगे माफी

बिहार के बहनों और भाईयों, अब निर्णय आपको करना है. क्या हम उन्हें चाहते हैं जो असली मुद्दों से हमें भटकाना चाहते हैं या हम एक ऐसी टीम चाहते हैं जो अपना प्रत्येक क्षण बिहार की प्रगति के लिए लगाए और बिहार को भारत का सर्वाधिक विकसित राज्य बनाए.

 

बिहार में विकास और सुशासन की चाहत है, न कि घिसी-पिटी राजनीति, अहंकार की लड़ाई और ‘जंगल राज’ की.

 

सदा आपके

 

राम विलास पासवान, जीतन राम मांझी, उपेंद्र कुशवाहा, सुशील मोदी, डॉक्टर सीपी ठाकुर

 

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: nda leaders reply on nitish kumar’s letter
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
और जाने: Nitish Kumar
First Published:

Related Stories

एबीपी न्यूज़ की खबर का असर, गायों की मौत के मामले में बीजेपी नेता गिरफ्तार!
एबीपी न्यूज़ की खबर का असर, गायों की मौत के मामले में बीजेपी नेता गिरफ्तार!

रायपुर: एबीपी न्यूज की खबर का असर हुआ है. छत्तीसगढ़ में गोशाला चलाने वाले बीजेपी नेता हरीश...

जानिए क्या है फिजिक्स के प्रोफेसर की बाइक में बम का सच
जानिए क्या है फिजिक्स के प्रोफेसर की बाइक में बम का सच

नई दिल्लीः आजकल सोशल मीडिया पर एक टीचर की वायरल तस्वीर के जरिए दावा किया जा रहा है कि वो अपनी...

19 अगस्त को गोरखपुर में होंगे राहुल गांधी, खुद के लिए नहीं लेंगे एंबुलेंस और पुलिस
19 अगस्त को गोरखपुर में होंगे राहुल गांधी, खुद के लिए नहीं लेंगे एंबुलेंस और...

लखनऊ: कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी 19 अगस्त को यूपी के गोरखपुर जिले के दौरे पर रहेंगे. राहुल...

नेपाल से बातचीत के जरिए ही निकल सकता है बाढ़ का स्थायी समाधान: सीएम योगी
नेपाल से बातचीत के जरिए ही निकल सकता है बाढ़ का स्थायी समाधान: सीएम योगी

सिद्धार्थनगर/बलरामपुर/गोरखपुर: उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शुक्रवार को...

पीएम मोदी ने की नेपाल के प्रधानमंत्री से बात, बाढ़ से निपटने में मदद की पेशकश की
पीएम मोदी ने की नेपाल के प्रधानमंत्री से बात, बाढ़ से निपटने में मदद की पेशकश...

नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने शुक्रवार को नेपाल के अपने समकक्ष शेर बहादुर देउबा से...

एबीपी न्यूज पर दिनभर की बड़ी खबरें
एबीपी न्यूज पर दिनभर की बड़ी खबरें

1. डोकलाम विवाद के बीच पीएम नरेंद्र मोदी का चीन जाना तय हो गया है. ब्रिक्स देशों के सम्मेलन के लिए...

सरकार के रवैये से नाराज यूपी के शिक्षामित्रों ने फिर शुरू किया आंदोलन
सरकार के रवैये से नाराज यूपी के शिक्षामित्रों ने फिर शुरू किया आंदोलन

मथुरा: यूपी के शिक्षामित्र फिर से आंदोलन के रास्ते पर चल पड़े हैं. सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद...

बाढ़ से रेलवे की चाल को लगा 'ग्रहण', सात दिनों में करीब 150 करोड़ का नुकसान
बाढ़ से रेलवे की चाल को लगा 'ग्रहण', सात दिनों में करीब 150 करोड़ का नुकसान

नई दिल्ली: असम, पश्चिम बंगाल, बिहार और उत्तर प्रदेश में आई बाढ़ की वजह से भारतीय रेल को पिछले सात...

डोकलाम विवाद पर विदेश मंत्रालय ने कहा- समाधान के लिए चीन के साथ करते रहेंगे बातचीत
डोकलाम विवाद पर विदेश मंत्रालय ने कहा- समाधान के लिए चीन के साथ करते रहेंगे...

नई दिल्ली: बॉर्डर पर चीन से तनातनी और नेपाल में आई बाढ़ को लेकर शुक्रवार को विदेश मंत्रालय ने...

15 अगस्त को राष्ट्रगान नहीं गाने वाले मदरसों के खिलाफ होगी कार्रवाई, यूपी सरकार ने मंगवाए वीडियो
15 अगस्त को राष्ट्रगान नहीं गाने वाले मदरसों के खिलाफ होगी कार्रवाई, यूपी...

लखनऊ: स्वतंत्रता दिवस के मौके पर योगी सरकार ने राज्य के सभी मदरसों में राष्ट्रगान गाए जाने का...

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017