वायुसेना का सी-130 NDRF दल के साथ नेपाल रवाना

By: | Last Updated: Saturday, 25 April 2015 6:30 PM

नई दिल्ली: नेपाल में आए भीषण भूकंप से जूझ रहे लोगों की मदद के लिए भारतीय वायुसेना का एक सी-130 जे सुपर हरक्यूलस विमान राष्ट्रीय आपदा प्रतिक्रिया बल (एनडीआरएफ) के एक दल और राहत सामग्री के साथ शनिवार को हिंडन एयरबेस से नेपाल के लिए रवाना हो गया.

 

आधिकारिक सूत्रों ने कहा कि भारतीय वायुसेना के विमान सी-130 ने उत्तर प्रदेश के हिंडन एयरबेस से उड़ान भरी.  एनडीआरएफ के दल तथा राहत सामग्री को उतारने के बाद विमान पोखरा में सड़क व संचार व्यवस्था में आई बाधा का हवाई जायजा लेगा.

 

इस बीच, खबर आई है कि माउंट एवरेस्ट आधार शिविर में भारतीय सेना का पर्वतारोही दल सुरक्षित है. भारतीय वायु सेना का आईएल-76 विमान शाम छह बजे बठिंडा एयरबेस से एनडीआरएफ के जवानों को लेकर रवाना हुआ.

 

एक सी-17 ग्लोबमास्टर-3 विमान दिन में बाद में हिंडन से एक मोबाइल चिकित्सा दल, एनडीआरएफ के दलों तथा विशेष उपकरणों के साथ काठमांडू रवाना होगा. रविवार से काठमांडू में पांच हेलिकॉप्टर, जबकि अन्य पांच हेलिकॉप्टर पोखरा में तैनात होंगे, जो राहत व बचाव कार्य में सहायता करेंगे.

 

मोदी का भूकंप प्रभावित इलाकों में तत्काल राहत भेजने का निर्देश

 

भीषण भूकंप से जूझ रहे नेपाल व भारत के विभिन्न हिस्सों को फौरी राहत प्रदान करने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शनिवार को तत्काल चिकित्सकीय सहायता सहित राहत सामग्री व बचाव दलों को वहां भेजने का निर्देश दिया. भूकंप के मद्देनजर एक उच्चस्तरीय बैठक की अध्यक्षता करते हुए मोदी ने नेपाल में फंसे पर्यटकों को बाहर निकालने के लिए पुख्ता व्यवस्था करने का भी निर्देश दिया.

 

भूकंप आने के तुरंत बाद मोदी ने नेपाल के राष्ट्रपति राम बरन यादव व विदेश दौरे पर गए प्रधानमंत्री सुशील कुमार कोईराला से बातचीत की और इस त्रासदी से निपटने के लिए हर संभव मदद का आश्वासन दिया.

 

मोदी ने देश के प्रभावित राज्यों- बिहार, उत्तर प्रदेश व सिक्किम, पश्चिम बंगाल व मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्रियों से भी बातचीत की.

 

इस बैठक में केंद्रीय मंत्री अरुण जेटली व राजनाथ सिंह तथा राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल भी मौजूद थे. मोदी ने कहा कि राष्ट्रीय आपदा प्रतिक्रिया बल (एनडीआरएफ) के पहले जत्थे के शाम तक काठमांडू पहुंचने की संभावना है.

 

प्रधानमंत्री कार्यालय द्वारा जारी एक बयान के मुताबिक, “प्रधानमंत्री ने चिकित्सकीय दलों सहित राहत व बचाव दलों को तत्काल नेपाल तथा भारत के प्रभावित राज्यों में भेजने का निर्देश दिया. साथ ही उन्होंने नेपाल में फंसे पर्यटकों को बाहर निकालने के लिए पुख्ता व्यवस्था करने का भी निर्देश दिया.”

 

नेपाल में फंसे भारतीयों तक पहुंचने की कोशिश जारी

 

सरकार ने शनिवार को कहा कि नेपाल में फंसे भारतीयों तक पहुंचने की कोशिश की जा रही है. यहां आए भयानक भूकंप में 700 लोगों की मौत हो चुकी है. विदेश सचिव एस. जयशंकर ने मीडिया से कहा, “काठमांडू में और काठमांडू से बाहर ढेर सारे ऐसे भारतीय हैं, जो मुश्किल में हैं.”

 

जयशंकर ने कहा, “काठमांडू में बिजली नहीं है, इसलिए हमें अपनी सीमाएं पता है. दूतावास वहां भारतीयों के साथ ही नेपाली लोगों की भी मदद करने की कोशिश करेगा.”

 

यह पूछे जाने पर कि नेपाल में फंसे भारतीयों की संख्या के बारे में उन्हें जानकारी है, जयशंकर ने कहा, “नहीं, अभी तक तो नहीं जानकारी है. भारत के लोग जब विदेश यात्रा करते हैं तो वे भारतीय दूतावास को सूचित नहीं करते, खासतौर से नेपाल जाने पर, जहां लोग अक्सर जाते रहते हैं.”

 

विदेश सचिव ने कहा कि चूंकि वाणिज्यिक उड़ानें बंद हैं, लिहाजा हमें लोगों को वापस लाने के रास्ते निकालने होंगे. पांच हेलीकॉप्टर राहत कार्य के लिए पोखरा में तैनात होंगे.

 

उन्होंने कहा, “जैसा कि आपको पता है नेपाल में भारी तबाही हुई है. हम हालात का मुकाबला कर रहे हैं. हमारा दूतावास नेपाल सरकाार के संपर्क में है और हम भी दिल्ली स्थित नेपाली दूतावास के संपर्क में हैं.”

 

उन्होंने यह भी बताया कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने नेपाल के प्रधानमंत्री और राष्ट्रपति दोनों से बात की है. जयशंकर ने कहा, “प्रधानमंत्री ने संकेत दिया है कि भारत अपनी पूरी क्षमता के साथ इस कठिन बेला में नेपाल की हरसंभव मदद करेगा.”

 

जयशंकर ने कहा, “हम बचाव कार्य शुरू कर चुके हैं. पहला विमान जल्द ही पहुंचने वाला है. इसमें राष्ट्रीय आपदा प्रतिक्रिया बल के 40 सदस्य और उनके उपकरण भी हैं. दिन में बाद में हमारे पास दो और विमान होंगे. वे हिंडन से उड़ान भरेंगे.”

 

जयशंकर ने बताया कि एक विमान सचल अस्पताल के रूप में होगा, और दूसरे में एनडीआरएफ के तीन अन्य दल होंगे. तीसरा विमान बठिंडा से उड़ान भरने वाला है.उन्होंने कहा, “दिन की समाप्ति तक हमें उम्मीद है कि काठमांडू में चार विमान मौजूद होंगे.”

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: NDRF_NEPAL
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
और जाने: airforce Earthquake India NDRF Nepal
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017