खेती ऐसी हो कि देशवासियों का पेट, किसानों की जेब भरे: पीएम

By: | Last Updated: Sunday, 28 June 2015 7:42 AM

हजारीबाग: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी रविवार को झारखंड के हजारीबाग में 2100 करोड़ की लागत से बन रहे भारतीय कृषि शोध संस्थान की नींव रखी.  इस मौके पर उन्होंने कहा कि देश की आबादी बढ़ रही है और जमीन कम होती जा रही है. ऐसे में देश को दूसरी कृषि क्रांति की जरूरत है.

 

इसके साथ ही पीएम मोदी ने कहा कि पूर्वी उत्तर प्रदेश, बिहार, झारखंड, असम, ओडिशा में दूसरी कृषि क्रांति हो सकती है.

 

हजारीबाग के जन समूह से पीएम ने कहा, ”हम सदियों से सुनते आए हैं कि भारत एक कृषि प्रधान देश है, लेकिन देश के किसानों को उनके नसीब पर छोड़ दिया गया. इस संस्थान से देश भर के लोगों को फायदा होगा. अब वक्त आ गया है कि देश में बिना देर किए दूसरी कृषि क्रांति होनी चाहिए.”

 

मोदी ने कहा कि खेती ऐसी होनी चाहिए जिससे देशवासियों का पेट भरे और किसानों की जेब भरनी चाहिए.

 

मोदी ने हजारीबाग में बरही के गोरिया करमा गांव में एक हजार एकड़ भूमि पर बनने वाले भारतीय कृषि शोध संस्थान की आधारशिला चकुरा टांड़ में रखी.

 

इस अत्याधुनिक शोध संस्थान में तीन स्नातकोत्तर कोर्स होंगे जो बागवानी और वानिकी, प्राकृतिक संसाधनों के प्रबंध एवं उसका उपयोग और प्रजातीय आधार पर फसल सुधार और संरक्षण विषयों में होंगे.

 

इस संस्थान में होने वाले शोध से झारखंड और पूर्वी भारत के किसानों को खेती की नयी तकनीकों की जानकारी मिलेगी और उनकी समस्याओं का निदान किया जायेगा.

 

इस कार्यक्रम में प्रधानमंत्री के अलावा केन्द्रीय कृषि मंत्री राधा मोहन सिंह, झारखंड के मुख्यमंत्री रघुवर दास, केन्द्रीय वित्त राज्य मंत्री और हजारीबाग के सांसद जयंत सिन्हा भी उपस्थित थे.

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: Need of second times green revolution: Modi
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017