भूकंप: अब महामारी से दहशत में लोग, काठमांडू छोड़ने के लिए 25 हजार लोगों की लाइन लगी

By: | Last Updated: Wednesday, 29 April 2015 5:55 AM
Nepal

नई दिल्ली:  नेपाल में आए विनाशकारी भूकंप के बाद राजधानी काठमांडू में अब जनजीवन धीरे-धीरे सामान्य हो रहा है. लेकिन इसी बीच काठमांडू में महामारी फैलने की खबर के बाद लोग दहशत में आ गए हैं.

 

भूकंप से मची तबाही के बाद काठमांडू से तीन लाख लोग शहर से निकल चुके हैं. हजारों लोग निकलने की कोशिश कर रहे हैं. सरकार मुफ्त में लोगों को बस दे रही है लेकिन भीड़ इतनी ज्यादा है कि बसें कम पड़ रही है.

 

रास्ते पर लगभग 25, 000 लोगों की लाइन लगी है. यहां पर जिन लोगों नंबर नहीं लगा रहा वे सरकार के खिलाफ नारे लगाकर गुस्सा निकाल रहे हैं. ये लोग महामारी के डर से काठमांडू छोड़ रहे हैं.

 

काठमांडू छोड़ने के लिए लगी लंबी लाइन
 

अब महामारी फैलने से दहशत में लोग

कुछ अस्पतालों में डायरिया फैलने की खबर है. काठमांडू के निकट पाटन के मुख्य चिकित्सालय में तैनात बासुदेव पांडेय ने बताया कि कई अस्पतालों में चिकित्सा संबंधित कचरा भी भारी मात्र में इकट्ठा हो गया है. उन्होंने बताया कि कई लोगों ने निकटवर्ती गांव ललितपुर में भी डायरिया फैलने की खबर दी है.

 

बिजली का संकट अभी भी जारी है, जिससे अनेक एटीएम बंद पड़े हैं. काठमांडू की सड़कों पर कुछ-एक वाहन देखे गए. भोजन एवं दैनिक उपयोग की अनेक वस्तुओं की भारी कमी हो गई है, जिससे लोगों में राहत कार्यो की धीमी दर को लेकर गुस्सा फैल रहा है.

 

लोग सुबह से ही लाइन में लगे हैं. सरकार ने लोगों को घाटी से निकालकर सुरक्षित जगहों पर पहुंचाने के लिए कई संगठनों के साथ मिलकर 500 निशुल्क बसों की व्यवस्था की है.

 

वहां लाइन में लगे एक शख्स ने एबीपी न्यज़ से बातचीत में बताया, “नेपाल सरकार ने कहा है कि 500 बसें मुफ्त हैं. लेकिन हम लोग सुबह तीन बजे से लाइन में लगे हैं. लोगों की तबियत खराब हो रही है. नेपाल सरकार ने हमें धोखा दिया है.”

 

वहां मौजूद एक महिला ने कहा, “हम लोग पांच घंटे से यहां खड़े हैं. इन्होंने बोल तो दिया था कि 500 बसें मिलेंगी लेकिन यहां पर बसों की कमी है. अभी बोल रहे हैं बस नहीं है. अब तक 200 बसें भी नहीं गई हैं.”

 

मरने वालों की संख्या 5000 के पार

आपको  बता दें कि नेपाल भूकंप में मरने वालों का आंकड़ा पांच हजार को पार कर गया है.  नेपाल के प्रधानमंत्री सुशील कोईराला ने 10 हजार लोगों के मरने की आशंका जताई है. देश में आए भयानक भूकंप के बाद राष्ट्र के नाम संदेश में पीएम कोइराला ने कहा कि लोग धीरज न खोएं, हर व्यक्ति तक मदद पहुंचाने की कोशिश की जा रही है.

 

आपदा के चार दिनों बाद बिजली आपूर्ति फिर से शुरू हो गई है और संचार व्यवस्था भी दुरुस्त की जा चुकी है, लेकिन जरूरत की दूसरी चीजें जैसे पीने का पानी, डिब्बाबंद खाना और दूध अब भी बाजारों में उपलब्ध नहीं है.

 

हजारों लोग अब भी काठमांडू छोड़ने के लिए प्रयासरत हैं, क्योंकि क्षेत्र में और भी भूकंप आने की आशंका जताई गई है. नेपाल के अलग-अलग हिस्सों से आजीविका कमाने के लिए काठमांडू में आकर रहने वाले हजारों लोग राजधानी छोड़कर जा रहे हैं. लोगों को डर है कि काठमांडू में फिर से बड़ा भूकंप आ सकता है.

 

राहत एवं बचाव कार्य जारी

इस दौरान नेपाली सेना एवं अन्य देशों से आए राहत एवं बचावकर्मी लगातार मलबे के ढेर में दबे जिंदा बचे लोगों की खोज में लगे हुए हैं. अंतर्राष्ट्रीय समुदाय की ओर से लगातार मिल रही मदद के बीच धीरे-धीरे स्पष्ट होता जा रहा है कि यह त्रासदी नेपाल में 1934 में आए विनाशकारी भूकंप की त्रासदी से भी बड़ी होने वाली है. 1934 में आए भूकंप में नेपाल में 8,000 से अधिक लोगों की मौत हुई थी.

संयुक्त राष्ट्र ने कहा कि भूकंप से 39 जिलों के 80 लाख लोग प्रभावित हुए हैं, जिनमें से 20 लाख लोग 11 सबसे अधिक प्रभावित जिलों के हैं. संयुक्त राष्ट्र ने कहा कि पीड़ितों की तत्काल प्राथमिकता भोजन, पानी, आवास व दवाएं हैं और 14 लाख लोगों को भोजन की तत्काल जरूरत है.

 

भूकंप में हजारों की संख्या में घर या तो ध्वस्त हो गए हैं या इतने क्षतिग्रस्त हो गए हैं कि रहने लायक नहीं रह गए हैं. हजारों पुरुषों, महिलाओं और बच्चों को लगातार तीसरी रात ठिठुरती ढंड में खुले आसमान के नीचे गुजारनी पड़ी.

 

भूकंप में 50,000 गर्भवती महिलाएं प्रभावित

संयुक्त राष्ट्र जनसंख्या कोष (यूएनएफपीए)के शुरुआती अनुमान के मुताबिक, 50,000 गर्भवती महिलाएं भूकंप प्रभावितों नेपाल में बच निकलने वालों में हो सकती हैं, जहां 4,347 लोगों की जान भूकंप ने लील ली है. नेपाल में शनिवार को आए 7.9 तीव्रता के भूकंप के कुछ दिन बाद भी मृतकों की संख्या में वृद्धि हो रही है. आपदा में प्रभावित हुई गर्भवती महिलाओं को स्वास्थ्य सेवा, सुरक्षित प्रसव सेवा, पोस्ट मार्टम सेवा की जरूरत है.

 

अमेरिका ने भारत की प्रशंसा की

अमेरिका ने अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर संकट प्रबंधन द्वारा वैश्विक नेतृत्व के लिए भारत की मंगलवार को प्रशंसा की. भारत में अमेरिकी राजदूत रिचर्ड वर्मा ने कहा, “भारत ने हाल के कुछ सप्ताहों में पहले यमन और फिर नेपाल में अपने वैश्विक नेतृत्व को दर्शाया है. हम इसके लिए आभारी, प्रभावित और प्रेरित हैं.”

 

शनिवार को आए भूकंप के बाद से अब तक नेपाल में भूकंप के हल्की तीव्रता वाले 600 झटके महसूस किए गए, जिससे लोगों में दहशत का माहौल है. हालांकि मंगलवार के बाद से भूकंप के और झटके महसूस नहीं किए गए हैं.

 

25 अप्रैल को नेपाल में तेज भूकंप आया था, जिससे राजधानी काठमांडू सहित पूरा नेपाल बुरी तरह प्रभावित हुआ. भूकंप की तीव्रता रिक्टर पैमाने पर 7.9 आंकी गई थी. यहां तक कि नेपाल के आस-पास के क्षेत्रों भारत, पाकिस्तान, बांग्लादेश और तिब्बत में भी भूकंप के झटके महसूस किए गए और कुछ जगहों पर जान-माल की हानि भी हुई.

 

संबंधित ख़बरें-

झारखंड: मुख्यमंत्री और सभी मंत्री देंगे भूकंप पीड़ितों को एक माह का वेतन

भूकंप पीड़ितों की हरसंभव मदद करें: अमिताभ

MTS ने बढ़ाई रियायती कॉल दर की मियाद

INFORMATION: भूकंप से कैसे बचा पशुपतिनाथ मंदिर?

महज 2.5 रूपये रोज में भूकंप समेत सभी आपदाओं से बच जाएगा आपका घर

‘राहुल की वजह से आया भूकंप’ पर कांग्रेस का मोदी, अमित पर अटैक

भूकंप के बाद भारत का हिस्सा नेपाल की ओर खिसका

एबीपी न्यूज पर दिनभर की बड़ी खबरें

भूकंप से 3 मीटर दक्षिण खिसक गया है काठमांडू शहर: वैज्ञानिक

बारिश ने नेपाल, बिहार के लोगों की मुश्किल बढ़ाई, रेस्क्यू का काम प्रभावित 

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: Nepal
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Related Stories

एबीपी न्यूज़ की खबर का असर, गायों की मौत के मामले में बीजेपी नेता गिरफ्तार!
एबीपी न्यूज़ की खबर का असर, गायों की मौत के मामले में बीजेपी नेता गिरफ्तार!

रायपुर: एबीपी न्यूज की खबर का असर हुआ है. छत्तीसगढ़ में गोशाला चलाने वाले बीजेपी नेता हरीश...

जानिए क्या है फिजिक्स के प्रोफेसर की बाइक में बम का सच
जानिए क्या है फिजिक्स के प्रोफेसर की बाइक में बम का सच

नई दिल्लीः आजकल सोशल मीडिया पर एक टीचर की वायरल तस्वीर के जरिए दावा किया जा रहा है कि वो अपनी...

19 अगस्त को गोरखपुर में होंगे राहुल गांधी, खुद के लिए नहीं लेंगे एंबुलेंस और पुलिस
19 अगस्त को गोरखपुर में होंगे राहुल गांधी, खुद के लिए नहीं लेंगे एंबुलेंस और...

लखनऊ: कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी 19 अगस्त को यूपी के गोरखपुर जिले के दौरे पर रहेंगे. राहुल...

नेपाल से बातचीत के जरिए ही निकल सकता है बाढ़ का स्थायी समाधान: सीएम योगी
नेपाल से बातचीत के जरिए ही निकल सकता है बाढ़ का स्थायी समाधान: सीएम योगी

सिद्धार्थनगर/बलरामपुर/गोरखपुर: उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शुक्रवार को...

पीएम मोदी ने की नेपाल के प्रधानमंत्री से बात, बाढ़ से निपटने में मदद की पेशकश की
पीएम मोदी ने की नेपाल के प्रधानमंत्री से बात, बाढ़ से निपटने में मदद की पेशकश...

नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने शुक्रवार को नेपाल के अपने समकक्ष शेर बहादुर देउबा से...

एबीपी न्यूज पर दिनभर की बड़ी खबरें
एबीपी न्यूज पर दिनभर की बड़ी खबरें

1. डोकलाम विवाद के बीच पीएम नरेंद्र मोदी का चीन जाना तय हो गया है. ब्रिक्स देशों के सम्मेलन के लिए...

सरकार के रवैये से नाराज यूपी के शिक्षामित्रों ने फिर शुरू किया आंदोलन
सरकार के रवैये से नाराज यूपी के शिक्षामित्रों ने फिर शुरू किया आंदोलन

मथुरा: यूपी के शिक्षामित्र फिर से आंदोलन के रास्ते पर चल पड़े हैं. सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद...

बाढ़ से रेलवे की चाल को लगा 'ग्रहण', सात दिनों में करीब 150 करोड़ का नुकसान
बाढ़ से रेलवे की चाल को लगा 'ग्रहण', सात दिनों में करीब 150 करोड़ का नुकसान

नई दिल्ली: असम, पश्चिम बंगाल, बिहार और उत्तर प्रदेश में आई बाढ़ की वजह से भारतीय रेल को पिछले सात...

डोकलाम विवाद पर विदेश मंत्रालय ने कहा- समाधान के लिए चीन के साथ करते रहेंगे बातचीत
डोकलाम विवाद पर विदेश मंत्रालय ने कहा- समाधान के लिए चीन के साथ करते रहेंगे...

नई दिल्ली: बॉर्डर पर चीन से तनातनी और नेपाल में आई बाढ़ को लेकर शुक्रवार को विदेश मंत्रालय ने...

15 अगस्त को राष्ट्रगान नहीं गाने वाले मदरसों के खिलाफ होगी कार्रवाई, यूपी सरकार ने मंगवाए वीडियो
15 अगस्त को राष्ट्रगान नहीं गाने वाले मदरसों के खिलाफ होगी कार्रवाई, यूपी...

लखनऊ: स्वतंत्रता दिवस के मौके पर योगी सरकार ने राज्य के सभी मदरसों में राष्ट्रगान गाए जाने का...

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017