बिहार समेत देश में भूकंप से अब तक 66 लोगों की मौत, लोगों में दहशत बरकरार

By: | Last Updated: Monday, 27 April 2015 3:21 AM
nepal_earthquake

नई दिल्ली: नेपाल के भूकंप ने भारत तक अपना असर छोड़ा, बिहार, यूपी और पश्चिम बंगाल जैसे राज्यों में 66 लोगों ने भूकंप की इस तबाही में अपनी जान गंवा दी. भूकंप ने लोगों को इस कदर दहशत से भर दिया है कि सैकड़ों लोग अब घरों की बजाय खुले आसमान के नीचे रात गुजार रहे हैं.

 

बिहार में भूकंप ने लोगों को किस कदर दहशत से भर दिया है. भूकंप कहीं फिर से बड़ी आफत ना ले आए, लिहाजा खुले आसमान के नीचे करीब दो से तीन हजार लोगों ने रात गुजारी.

 

रात तो रात दिन में भी लोग खौफ में दिख रहे हैं. मोतिहारी में रविवार को सैकड़ों लोग मैदान में जमा हो गए.

 

नेपाल में शनिवार को आए 7.9 तीव्रता के भूकंप ने राजधानी पटना समेत बिहार के पूर्वी चंपारण, पश्चिमी चंपारण, कटिहार, सीतामढ़ी, दरभंगा, शिवहर, सुपौल, अररिया, मोतीहारी, सारण और सहरसा में भी तबाही मचाई थी. भूकंप से हुई मौतों की बात करें तो अकेले बिहार में 51 लोगों की जान जा चुकी है जबकि 170 से ज्यादा लोग घायल हुए हैं.

 

बिहार में भूकंप को लेकर दहशत पसरी हुई है. दूसरी तरफ सीएम नीतीश कुमार अलग अलग विभागों के अधिकारियों के साथ लगातार बैठक कर रहे हैं और बचाव और राहत के कामों का जायजा ले रहे हैं. सरकार से दी गई जानकारी के मुताबिक एनडीआरएफ की 4 टीमें भूकंप से सबसे ज्यादा प्रभावित बिहार के गोपालगंज, मोतिहारी, सुपौल और दरभंगा जिलों में तैनात हैं और दिन रात मदद में जुटी हैं.

 

देश के आंकड़ों की बात करें तो बिहार को मिलाकर अब तक कुल 62 लोगों की मौत भूकंप की वजह से हुई है और कुल 259 लोग घायल हुए हैं. भूकंप में 56 इमारतें पूरी तरह तबाह हो चुकी हैं जबकि 248 घरों को किसी ना किसी रूप से नुकसान पहुंचा है.

 

सरकार के मुताबिक रविवार को और 4 टन खाना और इतनी ही दवाएं बिहार, यूपी और पश्चिम बंगाल के भूकंप प्रभावित हिस्सों में रवाना की गई हैं.. पानी की बोतलें, स्ट्रेचर और जरूरत की दूसरी चीजें भी भेजी गई हैं.

 

देश में भूकंप से जिन लोगों की जान गई है. उनके परिजनों को राष्ट्रीय आपदा राहत कोष से मिलने वाली मुआवजे की राशि बढ़ा दी गई है. परिवार को अब 2.5 लाख की बजाय 4 लाख रुपये मुआवजा मिलेगा. पीएम राहत कोष से और 2 लाख रुपये अलग से दिए जाएंगे जबकि गंभीर रूप से घायलों को 50 हजार रुपये का मुआवजा देने का एलान किया गय़ा है.

 

नेपाल और देश में भूकंप के हालात पर केंद्र सरकार लगातार नजरें जमाए हुए है. रविवार को भी पीएम नरेंद्र मोदी ने अपने मंत्रियों, अफसरों और मौसम विभाग के वैज्ञानिकों के साथ बैठक की.

 

इस बीच रविवार रात 9 बजकर 26 मिनट पर असम के नौगांव में भूकंप के हल्के झटके महसूस किए गए.. जिसकी तीव्रता रिक्टर स्केल पर 3.2 आंकी गई.. दिल्ली और एनसीआर तक ये झटके महसूस किए गए.

 

भूकंप के झटके रह रहकर आ रहे हैं और इसकी वजह से लोगों की नींद उड़ी हुई है. बीती रात की ये तस्वीरें नोएडा की हैं. जहां सैकड़ों लोगों ने दहशत के चलते घरों की बजाय पार्क और सड़कों पर रात गुजारी.

 

संबंधित खबरें-

दुनिया से नेपाल पहुंच रही मदद, 2,500 हुई मृतकों की संख्या 

राष्ट्रीय आपदा घोषित करे सरकार: लालू 

भूकंप आए तो क्या करें, क्या न करें! 

बिहार: भूकंप के मद्देनजर दो दिन स्कूल बंद 

नेपाल में फंसे सैंकड़ो सैलानी 

नेपाल भूकंप: ताजा झटकों के कारण बीच रास्ते से लौटा विमान 

सरकार ने बढ़ाया भूकंप पीड़ितों का मुआवजा  

भूकंप की भविष्यवाणी संभव नहीं: मौसम विभाग 

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: nepal_earthquake
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017