गजेंद्र खुदकुशी कर रहा था और AAP के लोग ताली बजा रहे थे: राजनाथ

By: | Last Updated: Thursday, 23 April 2015 11:08 AM

नई दिल्ली: दिल्ली में आम आदमी पार्टी की कल की रैली में एक किसान द्वारा आत्महत्या करने के मामले में गृह मंत्री राजनाथ सिंह इस पार्टी की आलोचना करते हुए कहा कि जब वह व्यक्ति ऐसा करने का प्रयास कर रहा था तो वहां एकत्र लोग ताली बजा रहे थे और नारे लगा रहे थे. विपक्ष ने हालांकि, दिल्ली पुलिस को दोषी बताते हुए कहा कि उसने इस घटना को रोकने के लिए कुछ नहीं किया.

 

लोकसभा में आज यह मामला उठने पर सिंह ने अपने जवाब में कल की घटना को ‘दुर्भाग्यपूर्ण और शर्मनाक’ करार देते हुए कहा कि आप की रैली में एकत्र लोग पेड़ पर चढे किसान की ओर देखकर ताली बजा रहे थे और नारे लगा रहे थे.

 

पुलिस ने उन्हें ऐसा न करने का अनुरोध करते हुए कहा कि उससे वह व्यक्ति और उत्तेजित हो सकता है लेकिन भीड़ ने शोर मचाना और ताली बजाना जारी रखा. इस बीच पेड़ पर चढे व्यक्ति ने जान दे दी.

 

राजनाथ सिंह ने सदस्यों की चिंताओं पर अपनी बात रखते हुए हालांकि कहा कि ऐसे मामलों में किसी भी सूरत में राजनीति नहीं करनी चाहिए. उन्होंने कहा कि दिल्ली पुलिस ने उन्हें बताया है कि उस व्यक्ति के पेड़ पर चढ़ने के बाद पुलिस ने नियंत्रण कक्ष को तुरंत जानकारी दी और ऊंची सीढ़ी वाले दमकल को बुलाया.

 

उन्होंने कहा, ‘‘ ऐसे मामलों में सामान्य तौर पर ऐसे लोगों को बातों में लगाकर रखा जाता है ताकि उनकी सोच को बदला जा सके लेकिन भीड़ तालियां बजा रही थी और नारे लगा रही थी.’’ आप के खिलाफ अपनी बात पर जोर देते हुए राजनाथ ने उस पार्टी के ही एक सांसद की टिप्पणी का उल्लेख किया जिसमें उन्होंने कहा है कि अगर वह वहां होते तब वह रैली को तत्काल रद्द करा देते.

 

उन्होंने कहा कि दिल्ली पुलिस की आपराध शाखा से समयबद्ध तरीके से मामले की जांच करने का आदेश दिया गया है. इस सिलसिले में आईपीसी की धारा 306, 186 और 34 के तहत मामला दर्ज किया गया है.

 

किसान आत्महत्या की हो सीबीआई जांच: मायावती

 

बहुजन समाज पार्टी (बसपा) प्रमुख मायावती ने दिल्ली में आम आदमी पार्टी (आप) की रैली के दौरान राजस्थान के किसान द्वारा आत्महत्या कर लिए जाने के मामले की सीबीआई जांच की मांग की. राज्यसभा में मायावती ने कहा कि यह पता लगाने की जरूरत है कि यह घटना कहीं ‘राजनीतिक लाभ’ के उद्देश्य से प्रेरित तो नहीं है.

 

उन्होंने कहा, “केंद्र सरकार को यह मामला गंभीरता से लेना चाहिए. सीबीआई इस मामले की जांच करे और यह पता लगाए कि क्या किसान को आत्महत्या करने के लिए उकसाया गया.”

 

बसपा प्रमुख ने कहा कि बेमौसम बारिश और ओलावृष्टि की वजह से रबी फसलों के घाटे के बोझ से दबे किसानों को उचित मुआवजा नहीं मिल रहा है.

 

मायावती ने सवाल उठाते हुए कहा, “इस तरह की नीतियों की क्या जरूरत है, जब यह मुआवजा जरूरतमंद तक समय पर पहुंच ही नहीं सके?” उन्होंने मुआवजा वितरण की प्रक्रिया में फेरबदल करने के लिए केंद्र सरकार से हस्तक्षेप की मांग की.

 

राजस्थान के दौसा के निवासी एक किसान ने बेमौसम बारिश में फसलों के नष्ट हो जाने के बाद बुधवार को आप पार्टी की रैली में पेड़ से लटककर आत्महत्या कर ली थी.

 

किसान आत्महत्या की जांच की जा रही: राजनाथ सिह

 

केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने गुरुवार को लोक सभा में कहा कि आम आदमी पार्टी (आप) की रैली में राजस्थान के एक किसान द्वारा आत्महत्या मामले की जांच अपराध शाखा को सौंप दी गई है. गृहमंत्री के मुताबिक दिल्ली पुलिस को इस मामले में समयबद्ध तरीके से रिपोर्ट देने को कहा गया है.

 

इस मुद्दे पर संक्षिप्त चर्चा के बाद राजनाथ सिंह ने लोकसभा में कहा, “मैं पूरी सरकार की ओर से किसान की मौत पर शोक व्यक्त करता हूं.” सिंह ने कहा कि वह उन नेताओं की प्रशंसा करते है, जिन्होंने कहा कि इस मुद्दे पर राजनीति नहीं करनी चाहिए. इस बात का विश्लेषण होना चाहिए कि पिछले कुछ सालों में किसानों की दशा क्यों बिगड़ी?

 

उन्होंने कहा कि दिल्ली पुलिस द्वारा दी गई सूचना के मुताबिक, गजेंद्र सिह एक झाड़ू के साथ पेड़ पर चढ़ा और खुद को फांसी लगा ली. पुलिस ने पेड़ पर चढ़ने के लिए अग्निशमन दल को बुलाया. गृहमंत्री ने कहा कि वहां मौजूद लोगों से तालियां नहीं बजाने और उसे नहीं उकसाने के लिए भी कहा गया.

 

गजेंद्र सिंह ने बुधवार को जंतर मंतर पर एक पेड़ से लटककर फांसी लगा ली थी. वह राजस्थान के दौसा का रहने वाला था. उसे राम मनोहर अस्पताल में भर्ती कराया गया, जहां चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया.

 

मृत किसान के परिवार को 10 लाख रुपये देगी आप

 

दिल्ली की सत्ताधारी आम आदमी पार्टी (आप) ने गुरुवार को घोषणा की कि वह बुधवार को राजधानी में पार्टी की रैली में खुदकुशी करने वाले किसान के परिवार को 10 लाख रुपये मुआवजे के तौर पर देगी.

 

आम आदमी पार्टी के नेता संजय सिंह ने घोषणा करते हुए कहा कि गजेंद्र द्वारा खुद को पेड़ से फंदा लगाकर खुदकुशी करने के बाद उनकी पार्टी ने उसे बचाने का प्रयास किया लेकिन वह में असफल रही.

 

उन्होंने कहा कि इस घटना के लिए दिल्ली पुलिस काफी हद तक जिम्मेदार है क्योंकि बुधवार को जब यह घटनाक्रम हुआ उस समय आप नेताओं ने पुलिस से हस्तक्षेप की लगातार अपील की लेकिन उन्होंने कोई सहायता नहीं की.

 

संजय सिंह ने संवाददताओं से कहा, “कल के घटनाक्रम का सच क्या है वह आपके कैमरे में रिकॉर्ड है. जिस तरह से पुलिस ने कार्रवाई की वह असंवेदनशील और अपर्याप्त थी.”

 

आप नेता ने केंद्र सरकार पर आरोप लगाया कि उसने किसान की मौत पर आप के खिलाफ झूठा मामला दर्ज कराया है. गौरतलब है कि बुधवार को भूमि अधिग्रहण के खिलाफ दिल्ली के जंतर-मंतर पर आप की रैली के दौरान गजेंद्र नाम के एक किसान ने पेड़ से फांसी लगाकर खुदकुशी कर ली थी.

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: New Delhi_farmer_suicide_AAP rally_Jantar Mantar_Home Minister_Rajnath Singh_BSP supremo_Mayawati
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017