15 मार्च को लखनऊ में होगा नया मीडिया जनसंचारकों का जुटान

By: | Last Updated: Thursday, 12 March 2015 5:25 PM
new media

लखनऊ: विश्व संवाद केंद्र, जियामऊ हजरतगंज, लखनऊ स्थित “लखनऊ जनसंचार एवं पत्रकारिता संस्थान” के श्री अधीस स्मृति सभागार में 15 मार्च, 2015,  दिन रविवार को मध्यान्ह 12 बजे से एक राष्ट्रीय विमर्श का आयोजन किया जा रहा है. इस राष्ट्रीय विमर्श का आयोजन “नया मीडिया मंच” और “जर्नलिस्ट, मीडिया एंड राइटर्स फ़ोरम” की ओर से आयोजित किया जा रहा है. ‘नया मीडिया के पत्रकारीय सरोकार’ और ‘वैकल्पिक पत्रकारिता और संभावनाओं का भविष्य’ विषयक दो सत्रों का आयोजन किया जाएगा.

 

उक्त राष्ट्रीय विमर्श में उत्तर प्रदेश सहित देश के कई हिस्सों से मूर्धन्य और प्रख्यात जनसंचारकों और श्रेष्ठ मीडियाकर्मियों, प्राध्यापकों और वक्ताओं को आमंत्रित किया गया है. विमर्श के ‘नया मीडिया के पत्रकारीय सरोकार’ विषयक प्रथम विशेषज्ञ सत्र में जिन प्रमुख रूप से, मानवाधिकार आयोग उत्तर प्रदेश के पूर्व सचिव रहे संतोष द्विवेदी, लखनऊ विश्वविद्यालय राजनीति विज्ञान विभाग के अध्यक्ष प्रो. राकेश कुमार मिश्र, वरिष्ठ आईपीएस अधिकारी और आईजी नागरिक सुरक्षा अमिताभ ठाकुर, लखनऊ जनसंचार एवं पत्रकारिता विभाग के निदेशक और उत्तर प्रदेश सेवा के प्रशासनिक अधिकारी रहे अशोक कुमार सिन्हा, ईटीवी उत्तर प्रदेश के संपादक ब्रजेश मिश्र, लंदन प्रवासी लोकप्रिय ब्लॉगर और लेखिका और स्वतंत्र पत्रकार श्रीमती शिखा वार्ष्णेय, विज्ञान पत्रकारिता विभाग लखनऊ विश्वविद्यालय में अतिथि प्रवक्ता और डेक्कन हेराल्ड के विशेष संवाददाता संजय पाण्डेय, आईबीएन-7 के राज्य ब्यूरो प्रमुख वरिष्ठ पत्रकार शलभ मणि त्रिपाठी हैं.

 

राष्ट्रीय विमर्श के ‘वैकल्पिक पत्रकारिता और संभावनाओं का भविष्य’ विषयक द्वितीय खुले सत्र में प्रमुख रूप से आईआरएएस अष्टानन्द पाठक, माखनलाल चतुर्वेदी राष्ट्रीय पत्रकारिता विश्वविद्यालय के प्राध्यापक डॉ. सौरभ मालवीय, लखनऊ विश्वविद्यालय पत्रकारिता विभाग के समन्वयक प्रो. मुकुल श्रीवास्तव, संजीव सिन्हा नया मीडिया मंच के राष्ट्रीय संयोजक डॉ. धीरेन्द्र नाथ मिश्र और इलाहाबाद से आमंत्रित सोशल मीडिया एक्टिविस्ट रनीश जैन हैं.

 

विमर्श के दौरान ही “जर्नलिस्ट, मीडिया एंड राइटर्स फ़ोरम” की ओर से कीर्ति शेष वरिष्ठ पत्रकार, मूर्धन्य संपादक और साहित्यकार सत्यनारायण शुक्ल की पुण्य स्मृति में हिन्दी पत्रकारिता और सामाजिक सरोकार के प्रति समर्पित रचनाधर्मिता हेतु “प्रथम श्रम साधना सम्मान-2015” भी प्रदान किया जा रहा है. वर्ष 2015 का सम्मान लोकप्रिय ब्लॉगर, लेखिका और पत्रकार श्रीमती शिखा वार्ष्णेय को प्रदान किया जा रहा है.

 

इस विमर्श के दौरान राजधानी लखनऊ में कार्यरत दर्जनों पत्रकार, जन संचारक, अधिवक्ता, प्राध्यापक, सामाजिक कार्यकर्ताओं के साथ ही लखनऊ में संचालित विभिन्न पत्रकारिता संस्थानों लखनऊ विश्वविद्यालय, विज्ञान पत्रकारिता विभाग लखनऊ विश्वविद्यालय, डॉ. भीमराव अम्बेडकर केन्द्रीय विश्वविद्यालय, ख्वाजा मुइनुद्दीन चिश्ती अरबी-फ़ारसी विश्वविद्यालय, एमिटी विश्वविद्यालय, बीबीडी विश्वविद्यालय, लखनऊ जनसंचार एवं पत्रकारिता संस्थान, शिया महाविद्यालय, फीमिट्स इन्स्टीटयूट, एजाज़ रिज़वी कालेज आफ़ मॉस कम्यूनिकेशन, जहागीराबाद पत्रकारिता संस्थान सहित अन्य संस्थानों में अध्ययनरत तकरीबन 200 विद्यार्थीगण भी प्रतिभागिता कर रहे हैं. सभी प्रतिभागियों को आयोजन समिति की ओर से सहभागिता प्रमाण पत्र प्रदान भी किये जायेंगे. राष्ट्रीय विमर्श का संयोजन अतुल मोहन सिंह, सह संयोजन ओमशंकर पाण्डेय द्वारा किया जा रहा है. उक्त जानकारी विमर्श आयोजन समिति के संरक्षक शलभ मणि त्रिपाठी द्वारा प्रदान की गई.

 

 

 

 

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: new media
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017