4470 एनजीओ के FCRA लाइसेंस रद्द, सुप्रीम कोर्ट बार काउंसिल और सिसोदिया की संस्था का नाम

By: | Last Updated: Wednesday, 10 June 2015 2:23 AM

नई दिल्ली: संदिग्ध गैर सरकारी संगठनों के खिलाफ कार्रवाई को आगे बढ़ाते हुए सरकार ने मंगलवार को 4470 ऐसे संस्थानों के लाइसेंसों को रद्द कर दिया जिससे अब वे विदेशी धन प्राप्त नहीं कर सकेंगे. हैरानी की बात यह है कि ऐसे संस्थानों में शीर्ष विश्वविद्यालय , सुप्रीम कोर्ट बार ऐसोसिएशन और एस्कोर्ट हार्ट इंस्टीट्यूट जैसे संस्थान भी शामिल हैं.

 

विदेशी योगदान नियमन अधिनियम (एफसीआरए) के तहत केंद्रीय गृह मंत्रालय ने इनकी गतिविधियों की जांच के बाद इनके पंजीकरण को रद्द करने का फैसला किया गया. इन संस्थानों ने कथित रूप से अपना वाषिर्क रिटर्न नहीं भरा था तथा इनकी गतिविधियों में कुछ अन्य अनियमितताएं भी थीं.

 

गृह मंत्रालय के विदेशी प्रभाग ने इन सभी संगठनों के एफसीआरए लाइसेंस रद्द करने से पूर्व इन्हें अपना जवाब देने के लिए पर्याप्त समय दिया था.

 

जिन प्रमुख संगठनों के एफसीआरए लाइसेंसों को रद्द किया गया है उनमें पंजाब विश्वविद्यालय , चंडीगढ़, गुजरात नेशनल लॉ यूनिवर्सिटी, गार्गी कालेज , दिल्ली, लेडी इर्विन कालेज दिल्ली, विक्रम साराभाई फाउंडेशन और दिल्ली के उप मुख्यमंत्री मनीष सिसौदिया द्वारा स्थापित कबीर संगठन शामिल हैं.

 

कार्रवाई के पिछले चरण में एफसीआरए का कथित उल्लंघन करने को लेकर करीब नौ हजार एनजीओ के लाइसेंसों को बीते अप्रैल में रद्द किया गया था.

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: ngo_license_cancelled
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017