मुझे बीजेपी का आदमी होने पर गर्व है: पहलाज निहलानी

By: | Last Updated: Tuesday, 20 January 2015 4:39 PM

मुम्बई/नई दिल्ली: सेंसर बोर्ड के कई सदस्यों के बीजेपी से जुड़े होने पर उठ रहे सवालों के बीच इसके नये प्रमुख और फिल्म निर्माता पहलाज निहलानी ने आज कहा कि ‘‘बीजेपी का व्यक्ति’’ होने पर उन्हें गर्व है और प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को उन्होंने अपना ‘‘एक्शन हीरो’’ बताया.

 

बीजेपी के प्रचार ‘हर हर मोदी, घर घर मोदी’ का वीडियो तैयार करने वाले निहलानी ने कहा कि किसी भी विवाद से बचने के लिए वह ‘‘बेहतर तरीके’’ से काम करेंगे.

 

केंद्रीय फिल्म प्रमाणन बोर्ड (सीबीएफसी0 के नये अध्यक्ष नामित होने वाले निहलानी के बयान ऐसे समय में आए हैं जब सरकार ने नियुक्तियों का यह कहते हुए बचाव किया कि इसके पीछे ‘‘हर तरह के लोगों’’ को शामिल करने का विचार था.

 

निहलानी ने एनडीटीवी से कहा, ‘‘मुझे यह कहते हुए गर्व है कि मैं बीजेपी का आदमी हूं. मैं बीजेपी में विश्वास करता हूं. नरेन्द्र मोदी देश की आवाज हैं.. वह मेरे एक्शन हीरो हैं. वह भविष्यदृष्टा व्यक्ति हैं .’’ निहलानी ने कहा कि वह सेंसर बोर्ड के दिशानिर्देशों का कड़ाई से पालन करेंगे.

 

उन्होंने कहा, ‘‘फिल्म उद्योग में अपने लंबे अनुभव में मैंने देखा है कि केवल अच्छे सामाजिक संदेश वाली स्वस्थ फिल्में ही हिट होती हैं. सीबीएफसी के अध्यक्ष के नाते बोर्ड के लिए तय दिशानिर्देशों का कड़ाई से पालन कराने का मैं प्रयास करूंगा .’’ उन्होंने कहा, ‘‘मैं बोर्ड और उद्योग के बीच संतुलन बनाने का भी प्रयास करूंगा .’’ पहलाज (65) ने अपने कॅरियर में ‘‘आंखें’’, ‘‘‘तलाश : द हंट बिगिन्स..’’ और ‘‘शोला और शबनम’’ जैसी फिल्में बनाई हैं .

सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय के तहत स्वायतशासी बोर्ड से पिछले हफ्ते इसकी अध्यक्ष लीला सैमसन और नौ सदस्यों ने सरकारी हस्तक्षेप के आरोप लगाते हुए इस्तीफा दे दिया था .

 

बहरहाल पहलाज ने विवाद पैदा करने के लिए सैमसन को जिम्मेदार ठहराया .

 

पहलाज ने कहा, ‘‘अपने पूरे कार्यकाल के दौरान वह शायद ही कार्यालय आईं और बोर्ड के कामकाज में सुधार के लिए कोई पहल नहीं की.’’ उन्होंने कहा कि जब उनका कार्यकाल खत्म होने को आया तो उन्होंने ‘‘अनावश्यक’’ विवाद पैदा कर दिया और अपने साथ ‘‘नाइंसाफी’’ के आरोप लगाए .

 

सूचना एवं प्रसारण राज्यमंत्री राज्यवर्धन सिंह राठौर ने नई दिल्ली में कहा, ‘‘इसके पीछे हर तरह के लोगों को लाने का विचार है.’’ बहरहाल मंत्री इस बात से सहमत थे कि सीबीएफसी में शामिल किए गए कई लोग बीजेपी के सदस्य रहे थे. हालांकि उन्होंने इस बात से इंकार किया कि राजग सरकार निकाय में अपने विश्वस्त लोगों को सदस्य बनाकर पूर्ववर्ती सरकार के पद चिह्नों पर चल रही है.

 

राठौर ने दावा किया कि दूसरे दलों से जुड़े लोगों को भी चुना गया है.

 

निहलानी को सीबीएफसी का नया अध्यक्ष चुने जाने पर राठौर ने कहा कि वह प्रख्यात फिल्म निर्देशक हैं और पद के लिए अच्छी पसंद हैं.

 

सीबीएफसी के सदस्य के रूप में चुने जाने वाले अन्य बीजेपी नेता हैं वाणी त्रिपाठी टिक्कू, गुजरात केंद्रीय विश्वविद्यालय के उपकुलपति प्रोफेसर सैयद अब्दुल बारी, फिल्म निर्माता चंद्रप्रकाश द्विवेदी और अशोक पंडित और फिल्म लेखक मिहिर भूटा .

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: nihalni
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017