निर्भया के माता-पिता हिरासत में लिए गए

By: | Last Updated: Monday, 21 December 2015 12:28 PM
Nirbhaya’s parents among those detained near India Gate

नई दिल्ली: नाबालिग बलात्कारी की रिहाई के खिलाफ इंडिया गेट पर रविवार को जोरदार प्रदर्शन किया गया. इस प्रदर्शन में निर्भया के माता-पिता भी पहुंचे. इस दौरान दिल्ली पुलिस ने निर्भया के माता-पिता और प्रदर्शनकारियों को जबरन हटाया और हिरासत में ले लिया. इस प्रदर्शन में ABVP भी शामिल रहा.


Members of Indian students organization ABVP shout slogans as they protest the release of a juvenile convicted in the fatal 2012 gang rape that shook the country in New Delhi, India, Sunday, Dec.20, 2015. The man, who was short of his 18th birthday at the time of the crime, was to finish his three-year term in a reform home on Sunday.Several activists and politicians have demanded that he not be released until it can be proven that he has been reformed. (AP Photo /Tsering Topgyal)

प्रदर्शन कर रही निर्भया की मां को हल्की चोट भी लग गई. इससे पहले भी जंतर-मंतर पर निर्भया के माता-पिता और उनके साथ जुटे लोगों को पुलिस ने इंडिया गेट की ओर जाने से भी रोक दिया था. लेकिन कुछ देर बाद छोड़ दिए जाने पर वो इंडिया गेट पहुंच गए थे.

Indian youth shout slogans as they are detained by police during a protest against the release of a juvenile convicted in the fatal 2012 gang rape that shook the country in New Delhi, India, Sunday, Dec.20, 2015. The convict, who was short of his 18th birthday at the time of the crime, was to finish his three-year term in a reform home on Sunday. Several activists and politicians have demanded that he not be released until it can be proven that he has been reformed. (AP Photo /Tsering Topgyal)निर्भया के पिता बद्रीनाथ ने कहा कि उन्हें इंडिया गेट पर हिरासत में लेकर एक बस में बिठाया गया और संभवत: उन्हें दिल्ली के बाहर ले जाया जा रहा है.

बद्रीनाथ ने फोन पर कहा, “हमें इंडिया गेट पर हिरासत में ले लिया गया और एक बस में ले जाया गया. बस में 30-35 लोग हैं और हम मजनूं का टीला (उत्तर दिल्ली) पार कर चुके हैं.” उन्होंने कहा, “मुझे लगता है कि वे हमें दिल्ली के बाहर ले जाएंगे.”

उन्होंने दोषी की रिहाई के बारे में कहा, “हमें कोई आशा नहीं है.. जो मर गया वह जिंदा नहीं होगा. लेकिन यह एक बहुत ही गलत निर्णय है.”

इस बारे में पूछने पर कि दोषी का आपराधिक रिकार्ड खत्म कर दिया गया है, बद्रीनाथ ने कहा, “कागजों पर से रिकार्ड मिटाया जा सकता है, लेकिन लोगों के मन-मस्तिष्क से इसे भला कैसे मिटाया जा सकता है?”

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: Nirbhaya’s parents among those detained near India Gate
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017