रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण ने चीन सीमा पर सड़क मार्ग से नाथुला का दौरा किया

रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण ने चीन सीमा पर सड़क मार्ग से नाथुला का दौरा किया

रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण ने चीन-भारत सीमा पर नाथुला इलाके का दौरा किया और सेना और भारत-तिब्बत सीमा पुलिस के अधिकारियों से बातचीत की.

By: | Updated: 08 Oct 2017 09:04 AM
गंगटोक : रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण ने चीन-भारत सीमा पर नाथुला इलाके का  दौरा किया और सेना और भारत-तिब्बत सीमा पुलिस के अधिकारियों से बातचीत की. सिक्किम सरकार के सूचना एवं जनसंपर्क विभाग से जारी बयान के मुताबिक, सिक्किम के सीमावर्ती इलाके में डोकलाम और अग्रिम चौकियों के हवाई सर्वेक्षण का उनका कार्यक्रम खराब मौसम के कारण रद्द कर दिया गया.

इससे पहले राज्य सरकार के अधिकारियों ने कहा था कि रक्षा मंत्री ने डोकलाम-नाथुला इलाके का हवाई सर्वेक्षण किया. सिक्किम के एक दिवसीय दौरे पर आयी सीतारमण गंगटोक से 52 किलोमीटर दूर नाथुला सड़क मार्ग से पहुंचीं और उन्होंने वहां तैनात सेना तथा आईटीबीपी अधिकारियों से बातचीत की.

बयान में कहा गया है, ‘‘केंद्रीय मंत्री का सिक्किम में भारत-चीन सीमा पर डोकलाम और अग्रिम चौकियों का हवाई सर्वेक्षण करने का कार्यक्रम खराब मौसम के कारण रद्द कर दिया गया. हालांकि उन्होंने दोपहर में नाथुला सीमा से लौटने के बाद पूर्वी सिक्किम में नए ग्रीनफील्ड पाक्योंग हवाईअड्डे से गंगटोक और आसपास के इलाकों का हवाई सर्वेक्षण किया. ’’
सीतारमण को नाथुला पहुंचने पर सलामी भी दी गई.

उन्हें पूर्वी कमान के चीफ लेफ्टिनेंट जनरल अभय कृष्णा ने सिक्किम सेक्टर में चीन-भारत सीमा पर सुरक्षा तैयारियों के बारे में बताया। उप सेना प्रमुख लेफ्टिनेंट जनरल सारथ चंद्रा भी वहां मौजूद थे. रक्षा मंत्री का सीमावर्ती इलाके का दौरा डोकलाम में करीब 70 दिनों के गतिरोध के बाद भारत और चीनी सेना को वहां से हटे हुए एक महीने से ज्यादा का समय बीतने के बाद हुआ है.

सीतारमण ने अपने टि्वटर हैंडल पर कहा कि सीमा पर जब वह नाथुला पहुंचीं तो चीनी सैनिकों ने उनकी तस्वीरें ली। उन्होंने ट्वीट कर कहा, ‘‘मैंने बाड़ के दूसरी ओर कई चीनी सैनिकों को देखा जो नाथुला पहुंचने पर मेरी तस्वीरें ले रहे थे।’’

 




उन्होंने बाद में सिक्किम के मुख्यमंत्री पवन चामलिंग से उनके आधिकारिक आवास पर मुलाकात की और सेना तथा राज्य के वन विभाग के बीच भूमि मुद्दे समेत विभिन्न मुद्दों पर राज्य सरकार से हस्तक्षेप करने के लिए कहा.

विज्ञप्ति में कहा गया है कि चामलिंग ने सरकार की ओर से पूरा हस्तक्षेप करने का आश्वासन दिया.

मुख्यमंत्री ने पश्चिम बंगाल के पड़ोसी दार्जीलिंग पर्वतीय क्षेत्र में चल रहे आंदोलन के कारण सिक्किम के लोगों को हो रही परेशानियों के बारे में बताया.उन्होंने बताया कि सिक्किम को देश के शेष हिस्से से जोड़ने वाला एकमात्र राष्ट्रीय राजमार्ग एनएच-10 अवरुद्ध होने के कारण उसे काफी आर्थिक नुकसान हो रहा है.

उन्होंने केंद्र से सिक्किम के लिए नया राजमार्ग बनाने के काम में तेजी लाने का आग्रह भी किया.

फटाफट ख़बरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर और डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App
Web Title:
Read all latest India News headlines in Hindi. Also don’t miss today’s Hindi News.

First Published:
Next Story ‘ब्लू व्हेल चैलेंज’ के खेल में फंस गयी है कांग्रेस, 18 दिसंबर को देखेगी आखिरी एपिसोड: पीएम मोदी