टोल टैक्स कभी खत्म नहीं होगा: नितिन गडकरी

By: | Last Updated: Saturday, 26 September 2015 6:37 AM
Nitin Gadakari In Shikhar Samagam

लखनऊ: शिखर समागम में केंद्रीय सड़क और परिवहन मंत्री नितिन गडकरी ने कहा है कि टोल टैक्स कभी खत्म नहीं होगा. गडकरी ने कहा कि टोल को कम या ज्यादा किया जा सकता है लेकिन उसे खत्म नहीं किया जा सकता.

 

शिखर समागम में नितिन गडकरी ने ये 10 अहम बातें कहीं-

  1. टोल टैक्स कभी खत्म नहीं होगा, सरकार के पास सड़क बनाने के लिए पैसे नहीं हैं. टोल कम या ज्याद हो सकता है पर खत्म नहीं. बेहतर रोड का इस्तेमाल करना है तो टैक्स देना होगा. विदेश से कर्ज लेंगे तो ब्याज लगेगा.

  2. नीतीश कुमार ने 50 हजार करोड़ का पैकेज मांगा था, हमने सवा लाख करोड़ का दे दिया. कांग्रेस सरकार में 50 हजार करोड़ का पैकेज़ मांगा था, जब 1 लाख 25 हजार करोड़ मिला है तो कहते हैं इसमें नया क्या है. बिहार में बीजेपी जीतेगी.

  3. दो साल के अंदर प्रदूषण मुक्त बैटरी से चलने वाले वाहन बनाएंगे

  4. बिहार में  अगले तीन साल में 63 हजार करोड़ के रोड बनाएंगे. कई रोड बनाने के काम शरू हैं, कई के टेंडर निकालेंगे.

  5. जब हम सत्ता में आए थे हर रोज 2 किलोमीटर सड़क बनती थी, लेकिन हम ने 12 किलोमीटर प्रति दिन सड़क बनाए और आने वाले दिनों में 25-30 किलोमीटर स़ड़क हर रोज़ बनाएंगे

  6. दिल्ली से कटरा एक्सप्रेस हाइवे भी बनेगा. अब पैसा और जमीन अधिग्रहण की कोई समस्या नहीं है.

  7. देश का पहला हाइवे बनाने का सौभाग्य मुझे प्राप्त हुआ. एनएच-24 को 14 लेन बनाएंगे.

  8. अभी तक हमने 4 हजार करोड़ की जमीन एक्वायर की है.

  9. मुंबई-नागपुर, बड़ौदा-मुंबई एक्सप्रेस हाइवे भी बनाएंगे. सड़क बनाने के लिए बहुत लोग निवेश करना चाहते हैं, सरकार के पास भी बहुत पैसा है.

  10. ‘हाइवे की गति से हाइवे: कब और कैसे’ विषय पर बोलते नितिन गडकरी ने बताया कि देश का 40 प्रतिशत ट्रैफिक नेशनल हाईवे पर है और पांच लाख एक्सीड़ेंट हर साल होते हैं.

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: Nitin Gadakari In Shikhar Samagam
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017