नमामि गंगे पर जोशी की राय का ख्याल रखा जाना चाहिए: नीतीश

By: | Last Updated: Monday, 8 June 2015 2:41 PM

पटना: भाजपा के वरिष्ठ नेता मुरली मनोहर जोशी द्वारा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की ‘स्वच्छ गंगा परियोजना’ की व्यावहार्यता पर सार्वजनिक तौर प्रश्नचिन्ह लगाए जाने के बारे में बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने आज कहा कि भाजपा को अपने एक वरिष्ठ नेता की ‘नमामि गंगे’ को लेकर आशंकाओं को दूर किया जाना चाहिए.

 

नमामि गंगे पर जोशी के बयान के बारे में पूछे जाने पर नीतीश ने कहा कि मुरली मनोहर जोशी जी अनुभवी नेता हैं. गौरतलब है कि विश्व पर्यावरण दिवस के अवसर पर गत पांच जून को वाराणसी में ‘नमामि गंगे’ परियोजना की व्यवहार्यता पर प्रश्न खडा करते हुए यह दावा किया था कि यह नदी अगले 50 सालों में साफ नहीं हो सकती.

 

उन्होंने जोशी की आशंकाओं को सही ठहराते हुए कहा कि गंगा नदी की निर्मलता के लिये अविरलता जरुरी है. हम लोग भी कहते आये हैं कि गंगा का भरपूर प्रवाह रहेगा तो निर्मलता बनी रहेगी.

 

उन्होंने कहा कि बिहार एकमात्र राज्य है जो गंगा नदी के प्रवाह में योगदान देता है. उत्तर प्रदेश में जहाज चलाने के लिये जगह जगह बांध बनाने की बात की जा रही है, इससे गंगा नदी को बडे-बडे तालाबों में बदलने की योजना होगी, इससे गंगा की निर्मलता कहां से बरकरार रहेगी.

 

नीतीश ने कहा कि जोशी जी ठीक ही कहते हैं कि लोगों को न तो भूगोल का ज्ञान है न तो उन्हें भूगर्भ की जानकारी है. जोशी जी भाजपा के मार्गदर्शक मंडल के सदस्य हैं इसलिए उनकी चिंता और राय को जरूर सुना जाना चाहिए और केंद्र द्वारा ख्याल रखा जाना चहिए.

 

प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी के कार्यकाल में रेल मंत्री रहे नीतीश ने कहा कि अटल जी के नेतृत्व में उनके रेल मंत्रित्व काल में पाटलिपुत्र स्टेशन के नामकरण का कार्य आरंभ हुआ.

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: NITISH KUMAR
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
और जाने: Nitish Kumar
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017