जानें: क्या है नीतीश द्वारा पाकिस्तानी अख़बार को एड देने का सच

By: | Last Updated: Saturday, 31 October 2015 2:32 AM
nitish kumar advertiesment in pak newwspaper

नई दिल्ली: पाकिस्तान में नीतीश कुमार के लिए वोट मांगे जा रहे हैं, ऐसा हम नहीं कह रहे बल्कि ये मानना है बीजेपी के नेता सुशील कुमार मोदी का. सुमो के नाम से भी जाने-जाने वाले मोदी ने सोशल साइट् फेसबुक पर पाकिस्तान के मशहूर अंग्रेज़ी अखबार डॉन के ई-पेपर की तस्वीर जारी की है.

 

सुमो का दावा है कि पाकिस्तानी अखबार में नीतीश कुमार के नाम से विज्ञापन दिये गये हैं. सुशील मोदी की ओर से जो तस्वीरें जारी की गई हैं उसमें डॉन अखबार में नीतीश की तस्वीर के साथ स्टूडेंट क्रेडिट कार्ड और 4 लाख के लोन वाला विज्ञापन दिखाया गया है.

 

जह हमने पड़ताल की तब हमें ये एड द डॉन की वेबसाइट पर तो नज़र आया लेकिन उनके ई-पेपर में इसका कहीं कोई अता-पता नहीं था. बताते चलें की ई-पेपर किसी अख़बार का ऑनलाइन वर्जन होता है. इसे आप ऐसे समझ सकते हैं कि आज जो अख़बार छपा है अगर उसे जस का तस ऑनलाइन मुहैया कराया जाय तब उसे ई-पेपर कहेंगे. वहीं बेवसाइट पर पूरे दिन नई ख़बरें लगती रहती हैं.

 

क्या है सच-

दरअसल किसी भी न्यूज़ वेबसाइट पर जो एड्स आपको दिखाई देते हैं उनमें से ज्यादातर एड्स गूगल ही वेब साइट पर लगाता है. इसका मतलब यह है कि गूगल और वेबसाइट के बीच करार हुआ रहता है जिसके बाद गूगल अपने हिसाब से वेबसाइट पर एड्स डाल सकता है. इसके लिए गूगल सधी हुई ऑडियंस को चुनता है.

 

आप इसे ऐसे समझ सकते हैं कि अगर कोई यूज़र बिहार के किसी शहर में बैठकर पाकिस्तानी अख़बार की वेबसाइट पर जाएगा तब उसे नीतिश का यह एड दिखाई देगा, वहीं पूरे पाकिस्तान में किसी को यह एड शायद ही नज़र आएगा या बिल्कुल नज़र नहीं आएगा.

 

लोगों के बीच टेक्नॉलजी की कम समझ की वजह से ये कंफ्यूजन बना हुआ है. लेकिन इस मामले का सच यही है कि नीतीश ने किसी पाकिस्तानी अख़बार को एड ना देकर ऑनलाइन प्रचार में पैसे खर्च किए हैं, ऐसे में बिहार चुनाव में रुचि रखने वाला कोई व्यक्ति अगर चीन, रूस, अमेरिका या होनोलुलु का अख़बार भी खोलेगा तब भी उसे नीतीश कुमार का एड दिखाई दे सकता है.

 

बीजेपी ने पहली बार नहीं लिया पाकिस्तान का नाम

एक दिन पहले ही नरकटियागंज की चुनावी सभा में बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने कहा था कि बिहार में किसी कारण से बीजेपी हारती है तो पाकिस्तान में पटाखे फूटेंगे. इस बयान को लालू और उनकी पार्टी ने बिहार के लोगों के खिलाफ बताया था. बिहार में इन दिनों ध्रुवीकरण की राजनीति हावी होती जा रही है.

 

दोनों गठबंधन अपने हिसाब से इसको भुनाने में लगा है. पाकिस्तानी अखबार के विज्ञापन को लेकर अभी जेडीयू का पक्ष सामने नहीं आया है. हालांकि अभी अखबार के पेज पर विज्ञापन दिख नहीं रहा है.

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: nitish kumar advertiesment in pak newwspaper
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017