मोदी जी अपने नेताओं को डिजीटल दुनिया से अवगत तो कराएं: नीतीश

By: | Last Updated: Saturday, 31 October 2015 4:02 PM
nitish kumar on dawn ad

पटना/नई दिल्ली: बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को निशाने पर लेने के साथ ही दावा किया कि बिहार चुनाव में ‘पराजय’ भांपने से एनडीए में ‘बेचैनी’ है. उधर केंद्रीय मंत्री राजीव प्रताप रूड़ी ने पाकिस्तान के समाचारपत्र डॉन की वेबसाइट का स्क्रीनशॉट और वोट की अपील करते नीतीश कुमार का विज्ञापन ट्विटर पर पोस्ट किया जिससे एक नया विवाद पैदा हो गया.

 

जेडी यू की रूड़ी को तत्काल बर्खास्त करने की मांग के बीच नीतीश कुमार ने ट्विटर पर कहा, ‘‘बिहार में पराजय देख रही सरकार के डिजीटल इंडिया की बात करने वाले नेता और मंत्री बेचैन हैं और गूगलएड को पाकिस्तानी दैनिक डॉन का विज्ञापन बता रहे हैं. मोदी जी कम से कम अपने नेताओं को डिजीटल दुनिया के आधारभूत तथ्यों से तो अवगत कराएं.’’ मुख्यमंत्री ने कटाक्ष करते हुए कहा कि गूगल इंक के मुख्य कार्यकारी अधिकारी सुंदर पिचाई इस मामले में उनकी मदद कर सकते हैं. मोदी ने पिछले महीने पिचाई को गूगल के शीर्ष पद पर नियुक्ति के लिए बधाई दी थी.

 

रूड़ी केन्द्र में कौशल विकास मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) है. वह उस समय विवाद में घिर गये जब उन्होंने अपने ट्विटर हैंडल पर डॉन की वेबसाइट का स्क्रीनशाट शेयर किया, जिसमें नीतीश कुमार का एक चुनावी विज्ञापन दिखाया गया है .

 

रूड़ी ने ट्विटर पर लिखा, ‘‘बिहार में मतदाताओं को लुभाने के लिए पाकिस्तान के दैनिक डॉन के ई संस्करण में नीतीश का विज्ञापन . पाक क्यों? वह किनसे बात करना चाहते हैं ? ’’ हालांकि सोशल मीडिया पर इस टिप्पणी को लेकर विवाद खड़ा हो गया, जिसके बाद रूड़ी ने अपने पोस्ट को हटा दिया.

 

बड़ी संख्या में ट्वीट करने वालों ने गूगल विज्ञापन के बारे में अनभिज्ञता को लेकर रूड़ी पर जम कर कटाक्ष किया और साइबर वर्ल्ड के बारे में उनकी जानकारी को लेकर सवाल उठाया. उन लोगों का कहना था कि डॉन अखबार में यह विज्ञापन नहीं है बल्कि गूगल पाठकों की सर्च करने की आदत के आधार पर किसी भी साइट पर विज्ञापन उपलब्ध कराता है. लोगों ने जोर देकर कहा कि यह ‘डॉन’ में दिया गया विज्ञापन नहीं था. एक अन्य ट्वीट में नीतीश कुमार ने गूगल का एक स्क्रीनशॉट पोस्ट किया जिसमें वर्ष 2014 के लोकसभा चुनाव से पहले डॉन दैनिक के पेज के उपर नरेन्द्र मोदी और तत्कालीन भाजपा अध्यक्ष राजनाथ सिंह की तस्वीर दिखाते हुए कहा गया है, ‘‘ इस प्रकार का हास्यास्पद बयान देने से पहले 2014 के लोकसभा चुनाव के मोदीजी के गूगलएड पर एक नजर डालें.’’

WATCH: क्या सच में नीतीश ने पाकिस्तानी अख़बार को एड दिया है! 

उधर, जदयू महासचिव के सी त्यागी ने आश्चर्य जताया कि यह मंत्री देश में कौशल विकास को कैसे बढ़ावा दे सकते हैं जब वह खुद इतने अकुशल हैं. त्यागी ने कहा, ‘‘बीजेपी प्रमुख अमित शाह के इस बयान के बाद कि बिहार चुनाव में अगर बीजेपी हारती है तो पाकिस्तान में आतिशबाजी होगी, रूड़ी ने नीतीश कुमार पर पाकिस्तान के अखबार डॉन में विज्ञापन देने का आरोप लगाया है जो कि हास्यास्पद है और उनकी अज्ञानता को दर्शाता है. रूड़ी ने 30 अक्तूबर की शाम को ट्विटर एकांउट पर इस तरह का पोस्ट लगाया था. सोशल मीडिया पर मखौल उड़ने के बाद इसे हटा दिया गया.

 

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017