नीतीश के करीबी पूर्व मंत्री ने क्यों कहा नीतीश का कोई नामलेवा नहीं रहेगा?

By: | Last Updated: Wednesday, 12 August 2015 4:44 AM
Nitish Kumar_

नई दिल्ली: नीतीश सरकार में लघु सिंचाई मंत्री रह चुके दिनेश प्रसाद बागी हो चुके हैं. दिनेश प्रसाद उस मीनापुर से विधायक हैं जहां से लालू ने अपने चुनाव प्रचार की शुरुआत की है. लगातार तीन बार चुनाव जीत चुके दिनेश प्रसाद का अगला ठिकाना कहां होगा ?  चुनाव लड़ेंगे या नहीं, क्या कहता है उनका गणित? उनसे एबीपी न्यूज़ के सीनियर प्रोड्यूसर मनोज कुमार ने बात की और पूछे 5 सवाल. आइए जानते हैं उन्होनें सवालों का क्या जवाब दिया.

 

सवाल- अभी आपका स्टेटस क्या है ?

 

जवाब- अभी तो जनता दल यू के साथ नहीं हूं. कई महीनों से बीजेपी के कार्यक्रमों से जुड़ा हूं. लेकिन शामिल नहीं हुआ हूं. दो-चार दिन में विधिवित तरीके से बीजेपी में शामिल हो जाऊंगा.

 

सवाल- बीजेपी के टिकट पर ही मीनापुर से लड़ेंगे ?

 

जवाब- मेरे लड़ने पर अभी सस्पेंस है. पार्टी जो कहेगी वो करूंगा. अजय (बेटा) भी टिकट का दावेदार है. मैं नहीं लड़ा तो अजय लड़ेगा.

 

सवाल- आप अकेले बीजेपी में जाएंगे या बाकी बागी भी साथ जाएंगे ?

 

जवाब- जिले से हमलोग चार विधायक हैं जो जेडीयू से अलग हो चुके हैं. मेरा और सकरा के विधायक सुरेश चंचल का बीजेपी में जाना फाइनल हैं. कांटी के विधायक अजीत कुमार और साहेबगंज के राजू सिंह हम के साथ जाएंगे .

 

सवाल- आप तो करीबी थे फिर नीतीश से क्या नाराजगी हो गई ?

 

जवाब- हमलोगों ने नीतीश जी से कहा था कि लालू यादव के साथ जाना ठीक नहीं रहेगा. नीतीश जी अपने पर अड़े रहे, नहीं माने. हमलोगों की बात नहीं सुनी गई. हमारा अपना क्षेत्र है. 20 साल से लालू यादव का विरोध कर रहे हैं. लालू से साथ मिलकर क्षेत्र में जाएंगे तो किस मुंह से वोट मांगेंगे. चुनाव बाद नीतीश जी का कोई नाम लेने वाला नहीं रहेगा.

 

सवाल- पाला बदलना कही महंगा तो नहीं पड़ेगा ?

 

जवाब- पाला हमलोग थोड़े बदल रहे हैं. हम तो लालू के विरोध में जीतते रहे. इस बार भी लालू के खिलाफ में है. बिहार में हमलोग फिर जीतेंगे. लालू की वापसी कोई नहीं चाहता. जहां तक सीट बंटवारे का सवाल है तो दावा तो गठबंधन में हर कोई करता है. लेकिन सीट और उम्मीदवारी जीतने वाले नेता और पार्टी को ही दी जाती है. हमारी सीट पर भी सहयोगी पार्टी से दावेदार हैं. दावा करने में दिक्कत नहीं है.

 

सवालों का जवाब देने के बाद दिनेश प्रसाद ने कहा कि जल्द ही मिलन समारोह का आयोजन किया जाएगा. दिनेश प्रसाद 2000 में पहली बार जीते थे. तब मुजफ्फरपुर जिले से एनडीए के इकलौते विधायक थे. नीतीश से व्यक्तिगत संबंध का अंदाजा इसी से लगाया जा सकता है कि इनकी बेटी की शादी में रेल मंत्री रहते हुए नीतीश इनके गांव जाकर शादी में शरीक हुए थे.

2005 में नीतीश जब मुख्यमंत्री बने तो इन्हें कैबिनेट मंत्री बनाया. कुशवाहा जाति के दिनेश प्रसाद ने लेफ्ट से राजनीति की शुरुआत की थी. 90 के दशक में मुजफ्फरपुर में नीतीश को स्थापित करने में दिनेश प्रसाद के अलावा, डॉ. हरेंद्र कुमार, महंथ राजीव रंजन दास जैसे नेता अहम थे. लेकिन एक एक कर तमाम पुराने सहयोगी नीतीश से दूर होते जा रहे हैं.

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: Nitish Kumar_
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Related Stories

लखनऊ: उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और समाजवादी पार्टी के नेता अखिलेश यादव ने मुख्यमंत्री...

ABP न्यूज़ का खुलासा: सृजन NGO में बाहर से सामान मंगाकर सिर्फ पैकिंग होती थी
ABP न्यूज़ का खुलासा: सृजन NGO में बाहर से सामान मंगाकर सिर्फ पैकिंग होती थी

भागलपुर:  बिहार में जिस सृजन घोटाले को लेकर राजनीति गरम है उसको लेकर बड़ा खुलासा किया है. एबीपी...

CCTV में कैद दिल्ली का 'दुशासन': 5 स्टार के सिक्योरिटी मैनेजर ने की महिला से छेड़खानी
CCTV में कैद दिल्ली का 'दुशासन': 5 स्टार के सिक्योरिटी मैनेजर ने की महिला से...

नई दिलली: राजधानी दिल्ली के एक फाइव स्टार होटल में महिला से छेड़खानी का एक सनसनीखेज मामला सामने...

आज हर कीमत पर चुनाव जीतना चाहती हैं राजनीतिक पार्टियां: चुनाव आयुक्त
आज हर कीमत पर चुनाव जीतना चाहती हैं राजनीतिक पार्टियां: चुनाव आयुक्त

गुरुवार को एडीआर के एक कार्यक्रम में चुनाव आयुक्त ने कहा, जब चुनाव निष्पक्ष और साफ सुथरे तरीके...

भारत को मिला जापान का साथ, डोकलाम में सेना की तैनाती को सही ठहराया
भारत को मिला जापान का साथ, डोकलाम में सेना की तैनाती को सही ठहराया

नई दिल्ली: डोकलाम को लेकर चीन से तनातनी के बीच भारत को जापान का समर्थन मिला है. जापान ने डोकलाम...

2015 से पहले के तेजाब हमला पीड़ितों को मिल सकता है मुआवजा
2015 से पहले के तेजाब हमला पीड़ितों को मिल सकता है मुआवजा

नई दिल्ली: दिल्ली की आप सरकार तेजाब हमलों के उन मामलों पर विचार करेगी, जो सरकार की 2015 में...

बलात्कार पीड़ित 10 साल की लड़की ने  बच्चे को जन्म दिया
बलात्कार पीड़ित 10 साल की लड़की ने बच्चे को जन्म दिया

चंडीगढ़: बलात्कार पीड़ित एक 10 साल की लड़की ने कल अस्पताल में एक बच्चे को जन्म दिया. लड़की के...

‘साझी विरासत’ को बचाने के लिए एकजुट होकर लड़ेंगी विपक्षी पार्टियां
‘साझी विरासत’ को बचाने के लिए एकजुट होकर लड़ेंगी विपक्षी पार्टियां

नई दिल्ली:  लगभग एक दर्जन से ज्यादा विपक्षी पार्टियों ने कल एक मंच पर आकर आरएसएस पर तीखा हमला...

गोरखपुर ट्रेजडी: बच्चों की मौत के मामले पर इलाहाबाद HC में आज सुनवाई
गोरखपुर ट्रेजडी: बच्चों की मौत के मामले पर इलाहाबाद HC में आज सुनवाई

इलाहाबाद: गोरखपुर के बीआरडी मेडिकल कॉलेज में बच्चों की मौत के मामले की न्यायिक जांच की मांग को...

गुजरात में स्वाइन फ्लू से अबतक 230 की मौत, राज्य ने केंद्र से मांगी मदद
गुजरात में स्वाइन फ्लू से अबतक 230 की मौत, राज्य ने केंद्र से मांगी मदद

अहमदाबाद: गुजरात के मुख्यमंत्री विजय रूपाणी ने राज्य में स्वाइन फ्लू की स्थिति के बारे में...

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017