कोई भी माई का लाल मुस्लिमों से वोटिंग का अधिकार नहीं छीन सकता: ओवैसी

By: | Last Updated: Monday, 13 April 2015 9:06 AM
No one in India scraps our voting rights: Owaisi

मुंबई/हैदराबाद/नई दिल्ली: शिवसेना ने रविवार को मुसलमानों से वोटिंग का अधिकार छीन लेने की बात कही थी और अब एक दिन बाद इस मुद्दे पर मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुसलमीन के अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी का जवाब आया है.

 

ओवैसी ने कहा है कि भारत में कोई भी माई का लाल मुस्लिमों से वोटिंग का अधिकार नहीं छीन सकता.

 

ओवैसी ने कहा, “दुनिया की कोई ताकत किसी भी हिंदोस्तनी का चाहे उसका मज़हब कुछ भी हो.. उसके वोटिंग राइट को छीन नहीं सकता. किसी  माई के लाल में दम नहीं है कि मतदान के अख्तियार को छीन ले.”

 

एमआईएम नेता ने आगे कहा, “ये वादों पर आए थे कि नौजवानों को नौकरियां देंगे, शिक्षा देंगे. अब सब वादे एक के बाद एक गिर रहे हैं. पीएम मोदी एक एक बात कर रहे हैं तो ये दूसरी बात कह रहे हैं. अच्छा है अवाम के सामने इनका असली चेहरा सामने आ गया है.”

 

इससे पहले, कल शिवसेना ने ओवैसी भाईयों के खिलाफ सामना में बाल ठाकरे के पुराने बयान का हवाला देते हुए मुसलमानों से वोटिंग का हक छीनने की मांग दोहराई थी. संजय राउत ने ‘सामना’ में लिखे अपने लेख में ओवैसी भाइयों को संपोला बताया गया था.

 

‘सामना’ में संजय राउत ने अपने लेख में लिखा कि मुस्लिम वोट बैंक की राजनीति करके ओवैसी भाई हर राज्य में पाकिस्तान बनाने का सपना देख रहे हैं.

 

शिवसेना नेता ने मुस्लिमों पर निशाना साधते हुए लिखा है, ”ओवैसी बंधु मुंबई में उछल-कूद करके लौट गए. ये सब सौदेबाजी मुस्लिम वोटों के लिए हो रही है, मुस्लिमों के वोट सिर्फ सौदेबाजी के लिए होंगे.”

 

शिवसेना ने की मुस्लिमों से वोटिंग का अधिकार छीनने की मांग

 

‘सामना’ में संजय राउत ने अपने लेख में लिखा, ”तो समाज गर्त में रहेगा और उनके नेता अमीर बनेंगे. इसी वजह से शिवसेना प्रमुख ने कहा था कि मुस्लिमों वोटिंग का अधिकार छीनो.”

 

राउत आगे लिखते हैं, “मुसलमानों की बस्तियों में जाकर भड़काऊ भाषण देने और धर्मांधता की आग लगाकर अपनी रोटियां सेंकने वाले ओवैसी पहले भी पैदा हुए हैं और आगे भी होते रहेंगे. लेकिन मुसलमानों को ऐसे ओवैसियों की जरूरत क्यों पड़ती है? उन्हें कोई संयम रखने वाला अच्छा नेता क्यों नहीं पचता? शायद हिंदू नेताओं की भी ऐसी ही इच्छा होती होगी कि मुसलमानों में कोई जाहिल और सिरफिरा तैयार हो. क्योंकि जब तक देश के मुसलमानों के वोट बंटते नहीं है, तब तक ‘राष्ट्रवादी’ कहलाने वाले नेताओं की रोटी नहीं सिंकती. सभी मुसलमानों को अलग-थलग रखना चाहते हैं.”

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: No one in India scraps our voting rights: Owaisi
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017