No proposal to withdraw cheque book facility in banks: Finance Ministry आपसे जुड़ी बड़ी खबर: मोदी सरकार ने किया साफ, ‘चेकबुक बैन’ करने का नहीं है कोई विचार

आपसे जुड़ी बड़ी खबर: मोदी सरकार ने किया साफ, ‘चेकबुक बैन’ करने का नहीं है कोई विचार

CAIT के महासचिव प्रवीण खंडेलवाल ने कहा था कि सरकार डिजिटल ट्रांजैक्शन को बढ़ावा देने के लिए चेकबुक बैन कर सकती है.

By: | Updated: 23 Nov 2017 10:35 PM
No proposal to withdraw cheque book facility in banks, Finance Ministry
नई दिल्ली: चेकबुक बैन की खबरों का खंडन करते हुए आज मोदी सरकार ने साफ किया है कि सरकार का चेकबुक बैन करने का कोई विचार नहीं है. वित्त मंत्रालय ने आज ट्वीट कर यह जानकारी दी है. बता दें कि फेडरेशन ऑफ ऑल इंडिया ट्रेडर्स (CAIT) के महासचिव प्रवीण खंडेलवाल ने कहा था कि सरकार डिजिटल ट्रांजैक्शन को बढ़ावा देने के लिए चेकबुक बैन कर  सकती है.

वित्त मंत्रालय ने ट्वीट में लिखा है, ‘’मीडिया में ऐसी खबरें आ रही हैं कि सरकार डिजिटल ट्रांजैक्शन को बढ़ावा देने के लिए आने वाले समय में चेक बुक बैन कर सकती है. सरकार चेक बुक बैन करने पर कोई विचार नहीं कर रही है और न ही सरकार के पास चेक बुक बैन करने का कोई प्रपोजल है.’’


आपको बता दें कि पिछले दिनों मीडिया में ऐसी खबरें थी कि सरकार नोटबंदी के बाद डिजिटल ट्रांजैक्शन को बढ़ावा देने के लिए चेक बुक बैन कर सकती है. लेकिन आज वित्त मंत्रालय ने इन सभी अटकलों को खारिज कर दिया है.

cheque book

क्या है चेक बुक?

दरअसल चेक बुक बैंक की तरफ से अपने खातेधारक को दी जाने वाली एक किताब है. जिसपर खातेधारक का नाम लिखा होता है. इसके जरिए खातेधारक किसी अगले व्यक्ति को अपने खाते से कैश न देकर चेकबुक पर रकम और हस्ताक्षर करके भुगतान कर सकता है.

यह भी पढ़ें-

GST के बाद अब इस बड़े बदलाव की तैयारी में मोदी सरकार, जानें क्या है पूरा प्लान?

दिवालिया कानून में बदलाव के लिए अध्यादेश, जानबूझकर कर्ज नहीं चुकाने वालों पर लगेगी लगाम

रिपोर्ट में खुलासा, SBI सबसे बड़ा बैंक ही नहीं है, बल्कि इस काम में भी है सबसे आगे

फटाफट ख़बरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर और डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App
Web Title: No proposal to withdraw cheque book facility in banks, Finance Ministry
Read all latest India News headlines in Hindi. Also don’t miss today’s Hindi News.

First Published:
Next Story मोदी-शाह की जोड़ी ने जीता गुजरात, छठी बार बीजेपी बनाएगी सरकार