...तो क्या 'कड़वी' होगी चाय की चुस्की !

By: | Last Updated: Saturday, 26 March 2016 9:17 AM
NORTH BENGAL TEA INDUSTRY FACES DROUGHT LIKE SITUATION

नई दिल्ली/कोलकाता : चाय बागान मालिकों की संस्था TIPA ने चाय की फसल को हुए नुकसान के लिए राहत पैकेज मांगा है. कम बारिश के कारण उत्पादन घटने से परेशान हैं उत्पादक. इसके साथ ही पश्चिम बंगाल के चाय कारोबारियों का दावा है कि वे सूखे जैसी स्थिति से गुजर रहे हैं.

चाय उत्पादकों के संगठन ने भारतीय चाय बोर्ड को चिट्ठी लिखकर अपनी समस्याएं बताई हैं. संगठन के मुताबिक इस साल 70 फीसदी से भी कम उत्पादन हुआ है. आशंका जताई जा रही है कि इससे चाय की कीमतों पर भी असर पड़ सकता है. संगठन की ओर से कहा गया है कि पिछले पांच माह से बारिश नहीं हुई है.

इससे चाय के पौधों के रोपड़ में समस्या आ रही है. केंद्र सरकार को भी इस बाबत संगठन की ओर से पत्र लिखा गया है. इसमें फसल की बीमा सहित अन्य पहलुओं पर मांग रखी गई है. गौरतलब है कि उत्तर बंगाल में भारत की कुल चाय उत्पादन क्षमता का 30 फीसदी हिस्सा तैयार किया जाता है.

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: NORTH BENGAL TEA INDUSTRY FACES DROUGHT LIKE SITUATION
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
और जाने: drought North Bengal rain Tea Tea Industry TIPA
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017