इतिहासकार शेखर पाठक भी लौटाएंगे पद्मश्री सम्मान

By: | Last Updated: Tuesday, 3 November 2015 2:02 AM
Now, historian Shekhar Pathak to return his Padma Shri

नई दिल्ली/नैनीताल: उत्तराखंड में एनसाइक्लोपीडिया के नाम से पहचाने जाने वाले पद्मश्री से सम्मानित इतिहासकार प्रोफेसर शेखर पाठक ने अपना पुरस्कार लौटाने का एलान कर दिया है. बीते दिन नैनीताल के ”नैनीताल फिल्म समारोह” में उन्होनें ये बड़ा एलान किया.

 

शेखर पाठक ने कहा कि वो देश के माहौल की वजह से सम्मान वापस कर रहे हैं, देश में असहिष्णुता का माहौल है जिससे वो बेहद निराश है.

 

इसके साथ ही पाठक ने कहा कि वो हिमालय के बेटे हैं इसलिए वो इसे हिमालय और संसाधनों की लूट और इनकी अनदेशी के रूप में भी अपना विरोध दर्ज कर रहे हैं.

 

कन्नड़ साहित्यकार एम एम कलबुर्गी की हत्या के बाद साहित्य अकादेमी के शोक ना जताने से खफा देश के कई साहित्यकार अब तक अपने सम्मान वापस सरकार को लौटा चुके हैं. जिसमें अब एक नया नाम शेखर पाठक का जुड़ गया है.

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: Now, historian Shekhar Pathak to return his Padma Shri
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
और जाने: Padma Shri Shekhar Pathak
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017